Home » Industry » ManufacturingUP excise department launches mobile app to spot fake liquor

मोबाइल एप से जानें शराब असली है नकली, आबकारी वि‍भाग ने कि‍या जारी

उत्तर प्रदेश के आबकारी विभाग ने नकली शराब की पहचान के लि‍ए एक एप लांच किया है।

1 of

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के आबकारी विभाग ने नकली शराब की पहचान के लि‍ए एक एप लांच किया है। इस एप को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कि‍या जा सकता है। आधिकारिक सूत्रों ने यहां बताया कि आबकारी नीति वर्ष 2018-19 के तहत ट्रैक एण्ड ट्रेस प्रणाली में शराब की पेटियों पर बार-कोड चस्पा किया है। बोतलों पर भी क्‍यूआर कोड चस्पा करना शुरू कर दिया गया है। 

 

इस बार-कोड / क्‍यूआर कोड की स्कैनिंग करके शराब निर्माता की जानकारी, बॉटलिंग की तारीख व एमआरपी का वि‍वरण जाना जा सकता है। इसकी बदौलत कोई भी शख्‍स नकली शराब की पहचान आसानी से कर सकता है। 


वेबसाइट से भी कर सकते हैं डाउनलोड 


बार-कोड या क्‍यूआर कोड की स्कैनिंग करने में कोई दिक्कत न हो इसके लिए आबकारी विभाग ने upexcisescanner नामक मोबाइल ऐप लांच किया है। इस ऐप के जरिए शराब की बोतल पर अंकित क्यूआर कोड का स्कैन कर जाना जा सकता है कि वह कहां और बनी है। उसका दाम कितना है। साथ ही कहां के लिए भेजी गई है। इसे गूगल प्‍ले स्‍टोर के अलावा आबकारी विभाग की वेबसाइट WWW.upexcise.in से भी डाउन लोड किया जा सकता है। 

गौरतलब है कि‍ यूपी में नकली शराब एक बड़ी समस्‍या बना हुआ है। इसके लि‍ए आबकारी वि‍भाग लगातर अभि‍यान चला रहा है। अभी तक नकली शराब को पहचानने का कोई तरीका लोगों के पास नहीं था। इसे देखते हुए वि‍भाग ने शराब की बि‍क्री के सारे सि‍स्‍टम को मकैनाइज्‍ड करने के बाद एप लॉन्‍च कर दि‍या है। अब कोई भी शख्‍स अपने स्‍मार्टफोन की बदौलत शराब की जांच कर सकता है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट