विज्ञापन
Home » Industry » ManufacturingAdult Toys business

लिपस्टिक बेचने के बहाने हो रहा प्रतिबंधित कारोबार, बड़ी कंपनियां भी हैं शामिल

भारत में एडल्ट ट्वॉएज का कारोबार 2010 करोड़ रुपए का हो चुका है।

Adult Toys business
  • एडल्ट ट्वाइज के 2024 तक 37 प्रतिशत की दर से बढ़ने का अनुमान है।
  • लिपस्टिक और चॉपस्टिक के शेप में तैयार किया जा रहा है। 
  • भारत में अश्लीलता को बढ़ावा देने वाली चीजों की बिक्री पर रोक है।

नई दिल्ली. भारत में सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बाद एडल्ट कंटेंट (चाइल्ड बेस्ड कंटेंट) पर रोक लगा दी गई। ऐसे में इस कारोबार से जुड़े लोग एडल्ट ट्वॉएज के कारोबार में शामिल हो गए हैं। इस वजह से भारत में यह कारोबार तेजी से अपने पैर पसार रहा है। मौजूदा वक्त में भारत में यह करोबार 2000 हजार करोड़ रुपए का हो चुका है। साथ ही इसके साल 2024 तक 37 प्रतिशत की दर से बढ़ने का अनुमान है। मार्केट जानाकरों के मुताबिक भारत में एडल्ट ट्वाइज का कारोबार लिपस्टिक और चॉपस्टिक की आड़ में हो रहा है। 


 
रोक के बावजूद बड़ा होता जा रहा बाजार 

एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक देश में प्रतिबंध के बावजूद टवॉएज इंडस्ट्री कारोबार तेजी से फैलता जा रहा है। हालांकि अगर रोक नहीं लगी होती है, तो शायद कारोबार आज की तुलना में कही ज्यादा बड़ा हो चुका होता। बता दें कि भारत में आईपीसी की धारा 292(1) के तहत अश्लीलता को बढ़ावा देने वाली चीजों की बिक्री पर रोक है। इसके बावजूद अगर कोई ऐसा करता पाया गया, तो उसे दोषी मानकर जुर्माना और कुछ परिस्थितियों में जेल की भी सजा हो सकती है। 

 

लिपस्टिक और चॉपस्टिक की आड़ में हो रही बिक्री 

ऑनलाइन बिक्री भारत में एडल्ट ट्वाइज की बिक्री पर लगी रोक को बेअसर कर रही है। अब लोग ऑफलाइन के तुलना में ऑनलाइन बिक्री को अहमियत देते है। इसमें कम जोखिम के साथ घर पर आसान डिलीवरी की सुविधा भी मिलती है। इस कारोबार में जॉनसन, Colvin और Orlandino जैसी कंपनियों पिछले 20 से 30 सालों से शामिल हैं। 

 

एडल्ट ट्वॉइज की बिक्री हुई आसान 

एडल्ड ट्वॉइज की मैन्युफैक्चरिंग में जुड़े लोगों का कहना है कि अब एडल्ट टवॉएज को लिपस्टिक और चॉपस्टिक के शेप में तैयार किया जा रहा है, जो एफएमसीजी प्रोडक्ट की तरह दिखते हैं। इनमें न्यूडिटी नहीं दिखती है, जिससे भारत में इसकी बिक्री आसान हुई है। इनका शेप ऐसा होता है कि किसी को भी इसे देखकर आशंका नहीं होती है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss