Advertisement
Home » Industry » ManufacturingPatanjali Ayurved is keen to acquire Ruchi Soya, Adani Wilmar withdrawing its offer

बाबा रामदेव की हो सकती है 'रूचि', अडानी ने खरीदने से किया इनकार

अडानी विल्मर ने खरीद प्रक्रिया में देरी को बताया कारण

1 of

नई दिल्ली। योग गुरु बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद फिर से रूचि सोया को खरीद सकती है। इसका कारण यह है कि गौतम अडानी की कंपनी अडानी विल्मर ने रूचि सोया को खरीदने से इनकार कर दिया है। बोली में सफल रहने वाली अडानी विल्मर ने खरीद प्रक्रिया में देरी बताते हुए रूचि सोया को खरीदने से इनकार किया है। आपको बता दें कि इस सौदे को अभी नेशलन कंपनी ला ट्रिब्यूनल की मंजूरी मिलना बाकी है। 

 

पतंजलि ने रूचि सोया के कर्जदाताओं को लिखा पत्र

 

इस मामले की जानकारी रखने वालों के हवाले से प्रकाशित ईटी की एक रिपोर्ट के अनुसार, पतंजलि आयुर्वेद ने रूचि सोया के कर्जदारों और बिक्री प्रक्रिया को देख रहे विशेषज्ञ अर्नेस्ट एंड यंग के शैलेंद्र अग्रवाल को पत्र लिखा है। इस पत्र में पतंजलि ने लिखा है कि वह अभी भी रूचि सोया को खरीदने की इच्छुक है। पतंजलि आयुर्वेद बिक्री प्रक्रिया में दूसरी सबसे बड़ी बोली लगाने वाली कंपनी रही थी। 

 

अडानी ने 5474 करोड़ रुपए में खरीदी थी रूचि सोया

 

अगस्त में एक खुली बोली प्रक्रिया के जरिए अडानी विल्मर ने रूचि सोया को 5474 करोड़ रुपए में खरीदा था। रूचि सोया की ओर से गठित कर्जदारों की समिति ने अडानी विल्मर को चुना था। रिपोर्ट के अनुसार, हाल ही अडानी विल्मर ने रूचि सोया की बिक्री प्रक्रिया देख रहे विशेषज्ञ और कर्जदाताओं को पत्र लिखकर कहा है कि वह बिक्री प्रक्रिया में देरी के कारण इस सौदे से पीछे हट रही है। आपको बता दें कि अडानी विल्मर भारतीय उद्योगपति गौतम अडानी और सिंगापुर की कंपनी विल्मर इंटरनेशनल का संयुक्त उद्यम है। 

 

आगे पढ़ें--- किस वजह से चूकी थी पतंजलि आयुर्वेद

इस वजह से चूकी थी पतंजलि आयुर्वेद


रूचि सोया के लिए अडानी विल्मर ने 5474 करोड़ रुपए की बोली लगाई थी, जिसमें से 4300 करोड़ रुपए कर्जदाताओं को दिए जाने थे। जबकि पतंजलि आयुर्वेद ने 5765 करोड़ रुपए की बोली लगाई थी। लेकिन उसने कर्जदाताओं को 4065 करोड़ रुपए देने का प्रस्ताव दिया था। इसी कारण वह रूचि सोया को खरीदने में सफल नहीं हो पाई थी। आपको बता दें कि रूचि सोया पर करीब 9405 करोड़ रुपए का कर्ज है। 

 

आगे पढ़ें-- यह उत्पाद बनाती है रूचि सोया

37 लाख टन खाद्य तेल उत्पादन की है क्षमता


रूचि सोया देश की सबसे बड़ी खाद्य तेल उत्पादक कंपनी है। कंपनी की क्षमता सालाना करीब 37 लाख टन खाद्य तेल उत्पादन की है। कंपनी के पूरे देश में 24 प्लांट हैं। रूचि सोया देश की सबसे बड़ी सोया तेल निर्यातक कंपनी भी है। न्यूट्रीला, महाकोश, सनरिच, रूचि गोल्ड और रूचि स्टार कंपनी ने प्रमुख उत्पाद हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement