Home » Industry » ManufacturingForeign companies to invest 6500 crore rupees in ac, fridge manufacturing units in India

फोन की तरह देश में ही बनेंगे फ्रिज और वॉशिंग मशीन, 6500 करोड़ का होगा निवेश

सस्ते होंगे ये उत्पाद और लोगों को मिलेंगे रोजगार के अवसर

1 of

नई दिल्लीअब जल्द ही सरकार के मेक इन इंडिया अभियान के तहत फ्रिज, एसी, वॉशिंग मशीन भी बनेंगे। इन उत्पादों के इंपोर्ट में एक्साइज ड्यूटी बढ़ने के बाद मैन्युफैक्चरर्स मेक इन इंडिया से जुड़ने को तैयार हैं। इस सेक्टर में दो साल में 6,500 करोड़ का निवेश किया जाएगा। इसके बाद और भी निवेश होगा। इससे न सिर्फ ये उत्पाद सस्ते होंगे बल्कि देश में रोजगार को भी बढ़ावा मिलेगा।

 

30 हजार करोड़ की अप्लायंस इंडस्ट्री में लोकल स्तर पर एंट्री-टू-मिड सेगमेंट प्रोडक्ट बनते हैं, जबकि प्रीमियम मॉडल और हीट एक्सचेंज कॉइल और कंप्रेसर जैसे क्रिटिकल कंपाेनेंट के लिए आयात पर निर्भर हाेना पड़ता है। एयर कंडीशनर के लिए तो 50 फीसदी से अधिक कंपोनेंट इंपोर्ट किए जाते हैं। यह इंडस्ट्री 7-8 फीसदी की दर से बढ़ रही है।

 

इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ने से बढ़े दाम

सितंबर में रुपए के कमजोर होने के बाद और करंट अकाउंट डेफिसिट को दुरुस्त रखने के सरकार ने इन व्हाइट गुड्स पर इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ा दी थी। गैर-जरूरी आयात को रोकने के लिए सरकार ने रेफ्रिजरेटर, वॉशिंग मशीन और एयर कंडीशनर पर कस्टम ड्यूटी दोगुनी करके 20 फीसदी कर दी थी। इसके साथ ही एयर कंडीशनर और रेफ्रिजरेटर के कंप्रेसर पर शुल्क 7.5 फीसदी से बढ़ाकर 10 फीसदी कर दिया था। इसके चलते इंपोर्टेड अप्लायंसेज के दामों में 10 फीसदी की वृद्धि हो गई थी।

 

पिछले साल बढ़ी थी स्मार्टफोन्स पर इंपोर्ट ड्यूटी

पिछले साल दिसंबर में सरकार ने टेलीविजन और स्मार्टफोन पर इंपोर्ट ड्यूटी 20 फीसदी बढ़ा दी थी। इस साल टीवी और स्मार्टफोन के कंपोनेंट्स पर इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाई गई। इसके चलते टीवी और स्मार्टफोन कंपनियों ने देश में मैन्युफैक्चरिंग करने में निवेश किया।

 

आगे भी पढ़ें-

 

 

देश में मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाने की तैयारी में ये ब्रांड

जर्मनी की Bosch and Siemens, तुर्की की Arcelik, चीन की Midea, Haier और TCL, जापान की Panasonic और Godrej, BPL जैसे घरेलू कंपनियां मैन्युफैक्चरिंग में निवेश की योजनाएं बना रही हैं। Hitachi जापान और Shanghai Highly Group of China की ज्वाइंट वेंचर Shanghai Hitachi Electrical Appliances Co. गुजरात में अपनी कंप्रेसर यूनिट बढ़ा रही है। Guangdong Meizhi Compressor Co. फ्रिज और अन्य कूलिंग यूनिट्स में पाई जाने वाली डिवाइस बनाने के लिए नया प्लांट लगाने जा रही है।

 

 

आगे भी पढ़ें-

 

 

 

करोड़ों का निवेश करेंगी कंपनियां

 

-बीएसएच होम अप्लायंसेज कंपनी चेन्नई के पास रेफ्रिजरेटर फैक्ट्री बनाने के लिए 800 करोड़ का निवेश करने जा रही है।

-इस महीने की शुरुआत में ही Midea Group ने मैन्युफैक्चरिंग यूनिट में 1,350 करोड़ रुपए इंवेस्ट करने की घोषणा की थी। इसमें से आधा निवेश कंप्रेसर के लिए किया जाएगा।

-चीन की शीर्ष अप्लायंस कंपनी Haier नोएडा में बनने वाले अपने नए प्लांट में 3,000 करोड़ का निवेश करने जा रही है। यह पुणे स्थित कंपनी के प्लांट में किए गए निवेश से तीन गुना ज्यादा है। नोएडा स्थित प्लांट में कंपोनेंट और प्रीमियम मॉडल बनाए जाएंगे।

-TCL Corp तिरुपति में बन रहे अपने 2000 करोड़ रुपए के नए प्लांट में अप्लायंसेज और कंपोनेंट्स का निर्माण करेगा। इसमें टेलीविजन भी बनाए जाएंगे।

-टाटा की कंपनी वोल्टास के साथ ज्वाइंट वेेंचर करने वाली Arcelik गुजरात में मैन्युफैक्चरिंग शुरू करने के लिए 250 करोड़ का निवेश कर रही है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट