Advertisement

भारतीय बांस से आइकिया सजाएगी दुनियाभर के घरों के फर्नीचर

सबसे बड़ी फर्नीचर कंपनी आइकिया बना रही है योजना

1 of

नई दिल्ली. दुनिया की सबसे बड़ी फर्नीचर निर्माता कंपनी आइकिया भारत को बड़े बाजार के तौर पर देख रही है। कंपनी कच्चे माल के तौर पर भारतीय बांस का उपयोग करने की योजना बना रही है। ऐसे में भारतीय बांस से बनने वाले फर्नीचर की दुनियाभर में सप्लाई हो सकेगी। भारतीय बांस से फर्नीचर बनाने में लागत कम आएगी, क्योंकि भारत में बांस प्रचुर संख्या में उपलब्ध है। बांस के उत्पादन में भारत का दुनिया में दूसरा स्थान है। इससे कंपनी को मार्केट में सस्ते प्रोडक्ट उतारने में भी मदद मिलेगी। 

 

बांस को मिला घास का दर्जा 

भारतीय बांस का निर्यात दुनिया के बाकी देशों के मुकाबले कम है। हालांकि भारत सरकार बांस के निर्यात बढ़ाने की कोशिश कर रही है। इसके लिए केंद्र सरकार ने नवंबर 2017 में बांस को घास का दर्जा दिया। वहीं नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलॉजी, अगरतला (एनआईटीए) में रबर और बांस शोध केंद्र बनाने की योजना है। ये सारी कोशिशें बांस उत्पादन और उसका निर्यात बढ़ाने के लिए जरूरी हैं। 

Advertisement

 

आगे पढ़ें

भारत में आधार बढ़ाने की कोशिश
एक अंग्रेजी समाचार पत्र के मुताबिक आइकिया इंडिया के मुख्य कार्याधिकारी पीटर बेजेल ने कहा कि हम भारत में अपना आधार बढ़ाने के लिए विभिन्न राज्य सरकारों से बातचीत कर रहे हैं। यहां बांस जैसे काफी कच्चा माल उपलब्ध है जिसका इस्तेमाल हम जिम्मेदारीपूर्वक करेंगे क्योंकि हम पर्यावरण का ध्यान रखने वाला संगठन हैं।

 

आगे पढ़ें

 

हैदराबाद में खुला आइकिया का पहला स्टोर

पीटर ने कहा कि उनके पास सोफा, मैट्रेसेज आदि के लिए आपूर्तिकर्ता मौजूद हैं और अब हमारी नजर सोफा एवं फर्नीचर के लिए अन्य आपूर्तिकर्ताओं पर है। कंपनी साल 2019 में मुंबई में अपना स्टोर शुरू करने की योजना बना रही है। इससे पहले आइकिया ने हैदराबाद में अपना पहला स्टोर खोला है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement