Advertisement
Home » Industry » ManufacturingDharam Pal Gulati gets padma bhushan award for excellence work in trade and industry sector

2000 करोड़ की कंपनी के मालिक हैं देश के सबसे बुजुर्ग CEO, 95 वर्ष की उम्र में मिला पद्म भूषण

केंद्र सरकार ने 14 लोगों को दिया है पद्म भूषण अवार्ड

1 of

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने इस साल के पद्म पुरस्कार सम्मान दे दिया है। इस साल कुल 112 लोगों को पद्म पुरस्कार दिया गया है। इसमें 4 को पद्म विभूषण, 14 को पद्म भूषण और 94 को पद्मश्री पुरस्कार दिया गया है। यह पुरस्कार अपने क्षेत्र में विशेष कार्य करने वालों को दिए जाते हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही व्यक्ति के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने अपनी मेहनत के दम पर 2000 करोड़ रुपए का कारोबार खड़ा किया है। केंद्र सरकार ने इनको 95 साल की उम्र में पद्म भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया है।

 

FMCG सेक्टर में लेते हैं सबसे अधिक सैलरी

केंद्र सरकार की ओर से इस साल दिए गए 14 पद्म भूषण में एक नाम महाशया दी हट्टी (एमडीएच) मसालों के सीईओ धरम पाल गुलाटी का नाम भी शामिल है। गुलाटी को ट्रे़ड एंड इंडस्ट्री के लिए पद्म भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। धरमपाल गुलाटी इस समय देश के सबसे बुजुर्ग (95 वर्ष)  और एफएमसीजी सेक्टर में सबसे ज्यादा सैलरी लेने वाले CEO हैं। 2000 करोड़ की मसाला कंपनी के मालिक धरम पाल गुलाटी ने साल 2018 में 25 करोड़ रुपए सैलरी के रूप में कमाए थे। धरम पाल गुलाटी ने कक्षा 5 में ही स्कूल छोड़ दिया था। 

1500 रुपए में शुरू किया था कारोबार


धरम पाल गुलाटी का जन्म 27 मार्च 1923 को सियालकोट (वर्तमान में पाकिस्तान) में हुआ था। विभाजन के बाद गुलाटी पूरे परिवार के साथ भारत आ गए थे। तब उन्होंने मात्र 1500 रुपए की लागत से दिल्ली के करोल बाग में अजमल खान रोड पर मसालों की एक दुकान खोली। धीरे-धीरे इनका कारोबार बढ़ गया और आज वह करीब 2000 करोड़ की मसाला कंपनी के मालिक हैं। आज धरम पाल गुलाटी की कंपनी एमडीएच देश के साथ विदेश में भी मसालों का कारोबार करती है।

ऐसे बने अपनी कंपनी के ब्रांड एंबेसडर


धरम पाल गुलाटी अपनी कंपनी एमडीएच के खुद ही ब्रांड एंबेसडर हैं। एक बार उन्होंने इंटरव्यू में इसके पीछे की कहानी बताई थी। गुलाटी के अनुसार, उनकी कंपनी के टीवी विज्ञापन की शूटिंग चल रही थी। एक दिन विज्ञापन में दुल्हन के पिता का रोल करने वाला कलाकार नहीं आया था। तब निर्देशक ने गुलाटी से यह रोल करने को कहा। उन्होंने पैसे बचने की बात सोचकर यह रोल कर लिया। तभी से वे अपनी कंपनी के लिए विज्ञापन कर रहे हैं। आज वह अपनी कंपनी के ब्रांड एंबेसडर के रूप में भी जाने जाते हैं। 
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement