Home » Industry » IT-Telecomट्राई : गांवों के मोबाइल यूजर को दि‍या जाए 100 MB मुफ्त डाटा - Trai backs its suggestions on offering 100 MB free data

गांवों के मोबाइल यूजर को दि‍या जाए 100 MB मुफ्त डाटा: TRAI का सुझाव

ट्राई का मानना है कि Jio के चलते डाटा मार्केट में कॉम्‍पि‍टीशन टफ हो गया है, इसके चलते डाटा की कीमतें नीचे आ गई हैं।

1 of

नई दिल्‍ली.    ग्रामीण इलाकों में इंटरनेट यूज बढ़ाने के लिए टेलिकॉम नियामक ट्राई ने फ्री डाटा देने की एक बार फिर वकालत की है। ट्राई ने  डिपॉर्टमेंट ऑफ टेलिकॉम को दिए जवाब में कहा है कि ग्रामीण इलाकों में यूजर को हर महीने 100 एमबी डाटा फ्री में मिलना चाहिए। ऐसा करने से ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से इंटरनेट की पहुंच बढ़ेगी। अगर ट्राई की बात को सरकार मान लेती है, तो मोदी सरकार के डिजिटल इंडिया अभियान को काफी बूस्ट मिलेगा। ट्राई का यह सुझाव इसलिए भी अहम हो जाता है, क्योंकि उसने मंगलवार को ही नेट न्यूट्रिलिटी के पक्ष में सुझाव देते हुए कहा था कि डाटा यूज में कुछ स्पेशलाइज्ड सर्विसेस देने में अंतर किया जा सकता है।

 

ये भी पढ़े नेट न्‍यूट्रैलिटी पर ट्राई की बड़ी सिफारिश

 

यूएसओ फंड का इस्तेमाल किया जाए

 

टेलिकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (ट्राई) ने डीओटी को कहा है कि 100 एमबी डाटा फ्री देना ग्रामीण इलाकों के लिए बेहद अहम है। इसके लिए यूनिवर्सल सोशल ऑब्लिगेशन फंड (यूएसओएफ) का इस्तेमाल किया जाए। यूएसओएफ टेलिकॉम कंपनियों के जरिए बनाया गया फंड है। इसमें सरकार के निर्देश पर सभी कंपनियां अपनी कमाई का 5 फीसदी हिस्सा देती है, जिसका इस्तेमाल ग्रामीण और सुदूर क्षेत्रों में टेलिकॉम इन्फ्रास्ट्रक्चर को डेवलप करने के लिए किया जाता है। ट्राई का कहना है कि ग्रामीण इलाकों में इंटरनेट यूज बढ़ाने के लिए फ्री डाटा देना भी इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए प्लैटफॉर्म तैयार करने जैसा ही है। ऐसे में, यूएसओ फंड का इस्तेमाल हर महीने 100 एमबी मुफ्त डाटा देने में किया जा सकता है।

 

 

इंटरनेट पहुंच के मामले में भारत चीन, इंडोनेशिया से भी पीछे

 

ट्राई के अनुसार कुल आबादी के आधार पर इंटरनेट यूज करने के मामले में भारत अभी चीन, इंडोनेशिया जैसे देशों से पीछे है। भारत में अभी करीब 49 फीसदी आबादी (प्रति व्यक्ति पहुंच के आधार पर) तक इंटरनेट की पहुंच नहीं है। जबकि अमेरिका में यह 19 फीसदी, चीन में 23.6 फीसदी, इंडोनेशिया में 24.7 फीसदी के स्तर पर है।

 

देश इंटरनेट से दूर आबादी (प्रति व्यक्ति पहुंच के आधार पर)
भारत 49.5
अमेरिका 19.0
चीन 23.6
इंडोनेशिया 24.7
ब्राजील 40.6
पाकिस्तान 51.9

 

 

लोकल कंटेट पर फोकस

 

डाटा को अफोर्डेबल बनाने को लेकर ट्राई का अब मानना है कि जियो के आने के बाद डाटा की कीमतों में काफी कमी आ चुकी है। ऐसे में अब डि‍जि‍टल लि‍टरेसी, कनेक्‍टि‍वि‍टी और स्‍थानीय भाषा में कंटेंट मुहैया कराने पर ज्‍यादा फोकस करने की जरूरत है, ताकि ग्रामीण इलाकों में तेजी से इंटरनेट का यूज बढ़ सके।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट