Home » Industry » IT-TelecomRCom claims all 31 lenders oppose China bank insolvency plea

आरकॉम का दावा: सभी 31 कर्जदाताओं ने चाइना बैंक के फैसले का विरोध किया

RCOM का दावा है कि उसके ज्यादातर कर्जदाताओं ने CDB के उसके खिलाफ इंसॉल्‍वेंसी शिकायत शुरू करने के फैसले का विरोध किया है

RCom claims all 31 lenders oppose China bank insolvency plea

नई दिल्‍ली। मुश्किलों में घिरी टेलिकॉम कंपनी रिलायंस कम्‍युनिकेशन का दावा है कि उसके ज्यादातर कर्जदाताओं ने चाइना डेवलपमेंट बैंक,   (CDB) के उसके खिलाफ इंसॉल्‍वेंसी शिकायत शुरू करने के फैसले का विरोध किया है। कंपनी पर 45,000 करोड़ रुपए से अधिक का कर्ज है।

आरकॉम ने एक बयान में कहा है, कर्जदाताओं की समिति की बैठक 29 नवंबर को हुई और इनमें से ज्यादातर ने CDB की इंसॉल्‍वेंसी याचिका का विरोध करने का फैसला किया।

 

- कंपनी का दावा है कि इस तरह का फैसला करने वाले घरेलू और विदेशी कर्जदाताओं की कुल संख्या 31 है।

- इन कर्जदाताओें ने राष्ट्रीय कंपनी कानून न्यायाधिकरण, एनसीएलटी के समक्ष दायर CDB की  इन्‍सॉल्‍वेंसी याचिका का विरोध करने का फैसला किया है।

- बयान में यह भी दावा किया गया है कि कर्जदाताओं ने एनसीएलटी में शुरुआती प्रक्रिया में ही CDB की याचिका का विरोध करने का फैसला किया है और जे सागर एसोसिएट्स को अपना वकील नियुक्त किया है।

- आरकॉम को कर्ज देने वाले घरेलू बैंकों के समूह की अगुवाई भारतीय स्टेट बैंक करता है। हालांकि किसी भी बैंकर ने इस घटनाक्रम पर टिप्पणी नहीं की।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट