Home » Industry » IT-TelecomChina maintains reign over world supercomputer rankings:survey

चीन ने अमेरिका को दूसरी बार दी मात, फिर बना नंबर वन

चीन में अब पहले से ज्‍यादा हाई परफॉर्मेंस वाले सुपर कम्‍प्‍यूटर हैं और इसने एक बार फिर अमेरिका को पीछे छोड़ दिया है।

1 of
बीजिंग. चीन में अब पहले से ज्‍यादा हाई परफॉर्मेंस वाले सुपर कम्‍प्‍यूटर हैं और इसने एक बार फिर इस मामले में अमेरिका को पीछे छोड़ दिया है। यह बात सुपरकम्‍प्‍यूटर के डेवलपमेंट पर नजर रखने वाली एक ऑर्गेनाइजेशन टॉप 500 ने कही है। ऑर्गेनाइजेशन साल में दो बार सुपरकम्‍प्‍यूटर्स के परफॉर्मेंस पर लिस्‍ट जारी करती है। इसमें जर्मनी और अमेरिका के एक्‍सपर्ट सुपरकम्‍प्‍यूटर्स की स्‍पीड के आधार पर उनके परफॉर्मेंस को देखते हुए उनकी रेटिंग करते हैं। 
 
 
202 फास्‍टेस्‍ट सुपर कम्‍प्‍यूटर चीन में 
ऑर्गेनाइजेशन के मुताबिक, दुनिया के फास्‍टेस्‍ट सुपर कम्‍प्‍यूटर्स में से लगभग 202 सुपर कम्‍प्‍यूटर्स चीन में हैं, जबकि अमेरिका में यह संख्‍या 143 है। यह टॉप 500 रैंकिंग में चीन का अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। वहीं अमेरिका का आंकड़ा अब तक के सबसे निचले स्‍तर पर है। 
 
 
आगे पढ़ें- पहले दो पायदान पर चीन का कब्‍जा 

पहले दो पायदान पर चीन के सुपर कम्‍प्‍यूटर


दुनिया के सबसे तेज सुपरकम्‍प्‍यूटर्स में से पहले दो पायदान पर चीन के सनवे ताईहूलाइट और तियानहे-2 (मिल्‍कीवे-2) हैं। सनवे ताईहूलाइट चीन के वुक्‍सी शहर में नेशनल सुपर कम्‍प्‍यूटर सेंटर में स्थित है। इसका इस्‍तेमाल क्‍लाइमेट मॉडलिंग और लाइफ साइंस रिसर्च के लिए किया जाता है। परफॉर्मेंस के मामले में तीसरे और चौथे पायदान पर स्विट्जरलैंड और जापान के सुपर कम्‍प्‍यूटर्स हैं, जबकि अमेरिका का टाइटन पांचवें स्‍थान पर है।  
 
आगे पढ़ें- अमेरिका में अभी भी सबसे ज्‍यादा सुपर कम्‍प्‍यूटर 

संख्‍या के मामले में अमेरिका है आगे 


6 महीने पहले ही 169 सिस्‍टम्‍स के साथ अमेरिका ने चीन को सुपर कम्‍प्‍यूटर्स की संख्‍या के मामले में पछाड़ा था लेकिन इनकी परफॉर्मेंस के मामले में चीन आगे निकल गया। चीने ने टॉप 500 लिस्‍ट में पहली बार अमेरिका को 2016 में पीछे छोड़ा था। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट