बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-Telecomअपने फोन से सिर्फ आप ही कर पाएंगे पैसे का लेनदेन, जल्द आ रहा है एआई वाला चिपसेट

अपने फोन से सिर्फ आप ही कर पाएंगे पैसे का लेनदेन, जल्द आ रहा है एआई वाला चिपसेट

स्मार्टफोन में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का आना आने वाले कुछ सालों में सबसे बड़ा ट्रेंड होगा।

1 of
नई दिल्ली. स्मार्टफोन में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का आना आने वाले कुछ सालों में सबसे बड़ा ट्रेंड होगा। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के कई प्रयोग होंगे। हालांकि अभी शुरुआती फेज में इसकी कुछ लिमिट हैं, लेकिन आने वाले समय में यह कई और तरह के काम भी करेगा। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) ने इंसान के काम को बहुत आसान बना दिया है। ऐसे में आज हम बता रहे हैं एआई के बारे में कुछ ऐसी बातें जिन्होंने स्मार्टफोन के अनुभव को और भी शानदार बना दिया है। इसके साथ ही एआई से ऐसा सिस्टम भी तैयार किया जा रहा है जो आपके फोन की डिटेल को सुरक्षित रख सके। 
 
 
डिजिटल लेन देन होगा ज्यादा सुरक्षित  
 
चिपसेट बनाने वाली चाइनीज कंपनी स्प्रैडट्रम ने UNISOC नाम से वापसी की है। कंपनी की ओर से कहा गया है कि वह जल्द ही सस्ते फोन में भी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से लैस चिपसेट लगाने की तैयारी कर रही है। इससे ये चिपसेट चेहरे की पहचान के अलावा और भी जरूरी कामों को सच कर दिखाएगा। जैसे मोबाइल फोन और ऑनलाइन लेनदेन को फेसियल रिकग्निशन से सुरक्षित करना। 
आगे पढ़ें : कैमरा और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस

कैमरा में क्या होगा फायदा 
 
कैमरा एक ऐसा हिस्सा है फोन का जिस पर अब भी कई कंपनियां आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के साथ काम कर रही हैं। यही कारण है कि कैमरे में फोटो खींचने के दौरान आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस होने के चलते वह सभी सेटिंग्स में खुद ही बदलाव कर लेता है, जिससे की अच्छी फोटो खींच सके। इसके अलावा चेहरे को देखकर उम्र का पता लगाना और कई विशेषताएं भी आजकल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से लैस कैमरे में देखने को मिल रही है। 
आगे पढ़ें : भाषा की दूरी भी मिटेगी 
रियल टाइम ट्रांसलेशन 
 
भाषाई बाध्यता को दूर करे के लिए फोन कंपनियां एआई की मदद ले रही हैं। जैसे अमेजन नया ट्रांसलेशन फीचर लेकर आई है। वहीं, माइक्रोसॉफ्ट इसके लिए स्काइप मैसेजिंग सेवा में अनुवाद की सुविधा देती है। गूगल ने भी पिछले साल पिक्सल इयर बड्स उतारे थे, जिनमें रियल टाइम अनुवाद की सेवा दी गई थी। यह कई भाषाओं के अनुवाद करने में सक्षम है। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह तुरंत ट्रांसलेट करती है और इसके लिए आपको इंटरनेट की जरूरत भी नहीं है। 
आगे पढ़ें : नहीं करना पड़ेगा टाप बाेलकर ही हो जाएगा सब काम 
वॉयस असिस्टेंट 
 
वॉयस असिस्टेंट पिछले कुछ समय में काफी फेमस हो गए हैं। सिरी Google का वॉयस असिस्टेंट है, एलेक्सा अमजेन का वॉयस असिस्टेंट हैं। यह सभी एआई तकनीक का प्कारयोग करते हैं और जो भी आप कहते हैं उनका जवाब देते हैं। अब, वॉयस असिस्टेंट्स ने एआई एकीकरण को बढ़ाने की दिशा में कदम बढ़ा दिया है। वे सिर्फ प्रश्नों का उत्तर नहीं देते हैं बल्कि ऑनलाइन ऑर्डर देने, अगर आप गाना सुनना चाहते हैं तो प्ले लिस्ट से गाना ढूंढने और मैसेज लिखने जैसे काम भी करने लगा है। उम्मीद की जा रही है कि आने वाले समय में यह और भी ज्यादा काम कर सकेंगे। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट