Home » Industry » IT-TelecomXiaomi capture 31 pct market Redmi Note 5 or pro

Redmi Note 5, Pro की दम से Xiaomi का 31% मार्केट पर कब्जा, सैमसंग पर बनाई बढ़त

चाइनीज मोबाइल कंपनी Xiaomi का दबदबा भारतीय स्मार्टफोन बाज़ार में लगातार बढ़ता जा रहा है।

1 of

 

नई दि‍ल्‍ली. चाइनीज मोबाइल कंपनी Xiaomi का दबदबा भारतीय स्मार्टफोन बाज़ार में लगातार बढ़ता जा रहा है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि‍ हाल ही में लॉन्‍च हुए 2 स्‍मार्टफोन के दम पर शाओमी ने सि‍र्फ 3 महीने में सैमसंग पर बड़ी बढ़त बना ली है। शाओमी ने 2017 की लास्‍ट ति‍माही से 2018 की पहली ति‍माही में करीब 4 फीसदी की ग्राेेथ दर्ज की है। वहीं, सैमसंग का भी मार्केट शेयर में जो हि‍स्‍सा बढ़ा है उसमें उसके नए लॉन्‍च हुए दो फोन का हाथ है। लेकि‍न शाओमी की ग्रोथ सैमसंग से बहुत ज्‍यादा तेज है।  
 
यही कारण है कि‍ जहां 2017 की तीसरी ति‍माही में दोनों कंपनि‍यां भारतीय स्‍मार्टफोन मार्केट में 23-23 फीसदी मार्केट शेयर कर रही थीं। वहीं, सि‍र्फ 6 महीने में शाओमी ने करीब-करीब एक ति‍हाई भारतीय मार्केट पर कब्‍जा  कर लि‍या है। एनॉलिस्ट फर्म काउंटर प्वाइंट की स्‍मार्टफोन मार्केट 2018 की रि‍पोर्ट के अनुसार शाओमी का भारतीय स्मार्टफोन मार्केट में 31 फीसदी मार्केट पर कब्जा हो गया है। जबकि सैमसंग का मार्केट शेयर 25% से बढ़कर 26.2 फीसदी हो गया है। इसके अलावा टाॅॅॅप-5 कंपनि‍यों में 4 कंपनि‍यां चाइनीज हैं और 57 फीसदी भारतीय बाजार पर चाइनीज कंपनि‍यों का कब्‍जा है। 
 
आगे पढ़ें : क्‍या है शाओमी की सफलता का राज 
 
ये दो स्‍मार्टफोन हैं सफलता का राज 
 
पहली ति‍माही में शाओमी के दो फोन लॉन्‍च हुए Redmi Note 5 और Note 5 Pro। दोनों फोन काे बाजार में अच्‍छा रेस्‍पॉन्‍स मि‍ला और इन्‍हीं के दम से कंपनी का मार्केट शेयर 2017 की लास्‍ट ति‍माही से लगभग 4 फीसदी बढ़कर 31.1 फीसदी हो गया। इन दोनों फोन की सेल अभी तक हर हफ्ते ई-कॉमर्स साइट पर लगाई जा रही है। 
 
ऑफलाइन मार्केट में भी पैठ बना रही है Xiaomi 
 
काउंटरप्वॉइंट एनालिस्ट अंशिका जैन का मानना है कि शाओमी ऑनलाइन बाज़ार के साथ-साथ ऑफलाइन बाज़ार में भी तेजी से पैठ बना रही है। यही कारण है कि‍ शाओमी के Redmi Note 5 और Redmi Note 5 Pro कंपनी के सबसे लोकप्रिय फोन रहे। क्‍योंकि‍ यह फोन ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों बाजार में आराम से उपलब्‍ध हो जा रहे हैं। 
 
सस्‍ते फोन भी हैंं एक कारण 
 
शाओमी के फोन भारत में ज्‍यादा बि‍कने का एक कारण यह भी है कि‍ शाओमी सस्‍ते फोन उपलब्‍ध करा रहा है। इसी के चलते 2017 में रेडमी नोट 4 भारत में सबसे ज्‍यादा बि‍कने वाला फोन बन गया था। वहीं, अब शाओमी के चेयरमैन और सीईओ ली जुन ने चीन में Mi 6X की लॉन्चिंग के दौरान एक और घोषणा करते हुए कहा कि‍ कंपनी स्‍मार्टफोन, इंटरनेट ऑफ थिंग्‍स (आईओटी) और लाइफस्‍टाइल प्रोडक्‍ट्स सभी की बिक्री पर टैक्‍स को निकालने के बाद हासिल नेट प्रोफिट मार्जिन की लिमिट तय करेगी। यह लिमिट मैक्सिमम 5 फीसदी होगी। अगर प्रोफिट इस लिमिट से ज्‍यादा हुआ तो कंपनी इसे अपने कस्‍टमर्स को लौटा देगी। इसके लिए उन्‍होंने शाओमी के सभी कर्मचारियों को ईमेल भी किया है।
 
आगे पढ़ें : सैमसंग के चाहने वाले भी कम नहीं 
 
सैमसंग का शेयर भी बढ़ा 
 
सैमसंग ने पि‍छले साल की पहली ति‍माही से सि‍र्फ 0.3 फीसदी उछाल मारा है। जबकि‍ 2017 की लास्‍ट ति‍माही से सैमसंग का शेयर करीब 1.2 फीसदी बढ़ा है। इसका कारण सैमसंग के नए लॉन्‍च फोन Galaxy J7 Nxt और J2 (2017) रहे। इन दोनों फोन के दम पर कंपनी दूसरा स्थान हासिल करने में कामयाब रही। 
 
प्रीमि‍यम सेगमेंट में अब भी सैमसंग टॉप पर 
 
वहीं, अगर बात प्रीमि‍यम सेगमेंट की करें तो अब भी यहां सैमसंग टॉप पर बनी हुई है। कंपनी ने 30,000 से ज्‍यादा कीमत वाले फोन सेगमेंट में 50 फीसदी से ज्‍यादा मार्केट पर कब्‍जा कि‍या हुआ है। इसमें कंपनी के नए लॉन्‍च फोन एस9, एस9 प्‍लास और ए8 की पूरी भागीदारी है। वहीं, इस सेगमेंट में दूसरी नंबर पर वन प्‍लस ने एक चौथाई मार्केट शेयर के साथ कब्‍जा जमाया है। 
आगे पढ़ें : Honor ने की सबसे तेज तरक्‍की 
 
Honor ने लेनेवो को कि‍या टॉप 5 से बाहर 
 
चाइनीज कंपनी ऑनर भारतीय स्मार्टफोन बाजार में सबसे तेज़ी से ग्रोथ कर रही है। एक रि‍पोर्ट के मुताबि‍क साल 2018 की पहली तिमाही में ऑनर ने 146 फीसदी ग्रोथ दर्ज की है। इसका सबसे ज्‍यादा नुकसान लेनोवो को हुआ और वह भारतीय स्‍मार्टफोन मार्केट में टॉप 5 में अपनी जगह नहीं बना पाई है। 
 
बाकी कंपनि‍यों का क्‍या है हाल 
 

 

शाओमी की बढ़त के बाद अगला नंबर है सैमसंग का जो साल की पहली तिमाही में 26.2 फीसदी बाज़ार पर कब्ज़ा जमाने में कामयाब रही। इसके बाद वीवो 5.8 फीसदी, ओप्पो 5.6 फीसदी और हुवावे के हॉनर ने 3.4 फीसदी हिस्सेदारी पर कब्ज़ा जमाया। ऐसे में इस ग्राफ से साफ समझ आता है कि‍ भारतीय स्मार्टफोन मार्केट में 57 फीसदी हिस्सेदारी सि‍र्फ चाइनीज कंपनि‍यों की है। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट