बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-Telecomशाओमी ने सैमसंग को छोड़ा पीछे, बनी भारत की नंबर-1 स्‍मार्टफोन कंपनी

शाओमी ने सैमसंग को छोड़ा पीछे, बनी भारत की नंबर-1 स्‍मार्टफोन कंपनी

चाइनीज स्मार्टफोन कंपनी शाओमी ने अक्टूबर-दिसंबर 2017 तिमाही के दौरान इंडियन मार्केट में सैमसंग को पीछे छोड़ दिया है।

1 of
 
नई दि‍ल्‍ली. चाइनीज स्मार्टफोन कंपनी शाओमी ने अक्टूबर-दिसंबर 2017 तिमाही के दौरान इंडियन मार्केट में सैमसंग को पीछे छोड़ दिया है। यह बात Canalys ने अपनी हालिया रिपोर्ट में कही है। Canalys का अनुमान है कि अक्टूबर-दिसंबर 2017 तिमाही के दौरान शाओमी का शिपमेंट 82 लाख मोबाइल फोन का रहा है। जबकि इसी क्‍वॉर्टर में सैमसंग ने 73 लाख मोबाइल फोन्स का शिपमेंट किया। ऐसे में Canalys का कहना है कि 17 फीसदी की ग्रोथ के बावजूद सैमसंग दूसरे नंबर पर रही है। हालांकि‍ सैमसंंग ने Canalys की रिपोर्ट को गलत बताते हुए कहा है कि‍ वह अभी भी भारतीय मार्केट में नंबर-1 है।  

 
सैमसंग ने रि‍पोर्ट पर उठाए सवाल 
 
वहीं, Canalys की इस रि‍पोर्ट पर सैमसंग से moneybhaskar.com ने बात की तो कंपनी की ओर से कहा गया है कि‍ ‘सैमसंग भारत की नम्बर 1 स्मार्टफोन कंपनी है। अंतिम उपयोगकर्ता के लिए बिक्री को ट्रैक करने वाली जीएफके के अनुसार पिछली तिमाही (नवम्बर) में वैल्यू की दृष्टि से सैमसंग का मार्केट शेयर 45 फीसदी और वॉल्यूम की दृष्टि से मार्केट शेयर 40 फीसदी था। 2017 में सैमसंग भारतीय बाज़ार के हर सेगमेन्ट में स्मार्टफोन कारोबार में सबसे आगे रही है। वहीं, सबसे खास बात यह है कि‍ सैमसंग आज भारत का ‘सबसे भरोसेमंद’ ब्रांड बन चुका है। हमें उम्मीद है कि आने वाले समय में भी हम लाखों उपभोक्ताओं के दिल में अपनी जगह और अपने प्रति उनका भरोसा बनाए रखेंगे।’
 
 
27% हिस्सेदारी के साथ टॉप पर शाओमी
 
Canalys के मुताबिक, इंडियन स्मार्टफोन मार्केट में शाओमी की हिस्सेदारी 27 फीसदी है, जबकि सैमसंग का मार्केट शेयर करीब 25 फीसदी है। मोबाइल बिक्री के आंकड़ों पर नजर रखने वाली एक दूसरे फर्म IDC के मुताबिक, जुलाई-सितंबर 2017 तिमाही के दौरान इंडियन स्मार्टफोन मार्केट में सैमसंग और शाओमी दोनों के बीच टाई रहा था। IDC के आंकड़ों के अनुसार जुलाई-सितंबर 2017 तिमाही में इन दोनों कंपनियों की हिस्सेदारी 23.5 फीसदी थी। हालांकि, IDC ने अभी तक अक्टूबर-दिसंबर 2017 तिमाही में सेल्स के आंकड़े जारी नहीं किए हैं। 
 
सस्‍ते स्‍मार्टफोन बाजार में पि‍छड़ने से हुआ नुकसान 
 
Canalys के रिसर्चर का कहना है कि इंडियन स्मार्टफोन मार्केट की ओवरऑल ग्रोथ 6 फीसदी रही है। Canalys के एनालिस्ट रौसभ दोषी ने बताया कि‍ सैमसंग अपने लो-कॉस्ट प्रॉडक्ट पोर्टफोलियो का ट्रांसफॉर्म करने में नाकाम रही है और इसी का खामियाजा कंपनी को उठाना पड़ा है। 
 
Get Latest Update on Budget 2018 in Hindi
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट