बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-Telecomफोन पर रुक-रुक कर बात होना भी माना जाएगा कॉल ड्रॉप, कंपनी पर लगेगा 5 लाख का जुर्माना

फोन पर रुक-रुक कर बात होना भी माना जाएगा कॉल ड्रॉप, कंपनी पर लगेगा 5 लाख का जुर्माना

2 फीसदी से ज्यादा कॉल ड्रॉप होने पर कंपनियों को 5 लाख का जुर्माना देना होगा।

trai gets strict on call drop changes definition
 
नई दिल्ली, ट्राई ने कॉल ड्रॉप की परेशानी को खत्म करने के लिए नया नियम बनाया है और कॉल ड्रॉप की परिभाषा भी बदल दी है। ऐसे में अगर फोन पर रुक-रुक कर बात होती है या फोन बार-बार कटता है तो उसे भी कॉल ड्राॅप माना जाएगा। ऐसे में अब मोबाइल कंपनियों को नए सिरे से सुविधाएं देनी हाेंगी। इसके लिए ट्राई ने 1 अक्टूबर की डेट दी है। वहीं, ऐसा नहीं करने पर मोबाइल कंपनियों कोभारी जुर्माना देना पड़ सकता है।

 
क्या है कॉल ड्रॉप की नई परिभाषा 
 
पिछले दिनों कॉल ड्रॉप को लेकर हुए विवाद के दौरान कंपनियों ने नेटवर्क का बहाना बनाकर कॉल ड्रॉप होने की बात से इनकार कर दिया था। ऐसे में अब ट्राई ने कॉल ड्रॉप की नई परिभाषा तय करते हुए कहा कि अब बात करते-करते फोन कटने को ही कॉल ड्रॉप नहीं माना जाएगा। बल्कि अगर बात करने के दौरान आवाज सुनाई नहीं देगी, अटक-अटककर आवाज आएगी या फिर बात करने के दौरान फोन का नेटवर्क कमजोर हो जाए तो इसे भी कॉल ड्रॉप ही माना जाएगा। 
 
पिछले हफ्ते बने थे नए नियम  
 
हर मोबाइल टावर से जुड़े नेटवर्क की हर दिन की सर्विस का मिलान होगा। 2 फीसदी से ज्यादा कॉल ड्रॉप होने पर कंपनियों को 5 लाख रुपए का जुर्माना देना होगा। हालांकि, अधिकतम जुर्माना 10 लाख रुपए तक रहेगा।
इसके अलावा ट्राई कॉल ड्रॉप पर नजर रखने के लिए अलग सिस्टम भी तैयार कर रहा है। ऐसे में यूजर इस बारे में रियल टाइम शिकायत कर सकेंगे। 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट