बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-Telecomफ्लाइट में इंटरनेट सुविधा के लिए सरकार तैयार, एयरलाइंस व टेलीकॉम कंपनियां करा सकती है इंतजार

फ्लाइट में इंटरनेट सुविधा के लिए सरकार तैयार, एयरलाइंस व टेलीकॉम कंपनियां करा सकती है इंतजार

टेलीकॉम कमीशन ने दो महीने पहले ही फ्लाइट में इंटरनेट कनेक्टिविटी के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

The government is ready for the internet facility in the flight Airlines and telecom companies can wait
 
नई दिल्ली. फ्लाइट में यात्रियों को इंटरनेट सुविधा देने के लिए सरकार पूरी तरह से तैयार है। लेकिन टेलीकॉम व एयरलाइंस कंपनियां यात्रियों को लंबा इंतजार करा सकती है। इंटरनेट की सुविधा देने के लिए कंपनियों को अतिरिक्त निवेश करना होगा। टेलीकॉम नीति से जुड़ी सर्वोच्च बॉडी टेलीकॉम कमीशन ने दो महीने पहले ही फ्लाइट में इंटरनेट कनेक्टिविटी के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। 
 
दो माह में लाइसेंस देने का काम हो सकता है पूरा 
 
टेलीकॉम मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि फ्लाइट में इंटरनेट की सुविधा के लिए लाइसेंस दिए जाएंगे। लाइसेंस की प्रक्रिया जल्द ही पूरी हो जाएगी। उन्होंने बताया कि अगले दो माह में टेलीकॉम व एयरलाइंस कंपनियों को लाइसेंस देने का काम पूरा हो जाएगा।
 
एयरलाइंस कंपनियों को करना होगा करोड़ों रुपये का निवेश 
 
30000 फीट ऊंची फ्लाइट में इंटरनेट क्नेक्टिविटी के लिए एयरलाइंस कंपनियों को अपने हवाई जहाज में तकनीकी मोडिफिकेशन करवाना होगा। इस काम की लागत 5  करोड़ रुपये से अधिक हो सकती है। मोडिफिकेशन के लिए एयरप्लेन को पांच-सात दिनों के लिए ग्राउंड पर रखना होगा। ऐसे में उन्हें अलग से नुकसान उठाना पडे़गा।
 
टेलीकॉम कंपनियों को भी करनी होगी कई कवायद 
 
टेलीकॉम कंपनियों ने बताया कि उन्हें भी यह देखना होगा कि घने जंगल जैसी जगहों वाले इलाके में कनेक्टिविटी कैसे कायम रहे। एक नामी टेलीकॉम कंपनी के अधिकारी ने बताया कि फ्लाइट में इंटरनेट की सुविधा मिलने में साल भर तक का समय लग सकता है। उन्होंने बताया कि शुल्क को लेकर भी समस्या खड़ी हो सकती है। क्योंकि फ्लाइट में इंटरनेट बहाल करने पर उनकी लागत बढ़ेगी।
 
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट