विज्ञापन
Home » Industry » IT-TelecomWhat is the norms of mobile number portability

मोबाइल नंबर पोर्ट कराना होगा और आसान, TRAI ने जारी किए नए नियम

केवल दो दिन में पोर्ट होगा आपका मोबाइल नंबर

1 of


नई दिल्ली. अब मोबाइल नंबर पोर्ट कराना आसान हो गया है। टेलीकॉम नियामक TRAI ने लोगों की सुविधा के लिए पोर्टिंग के नियमों में कई बदलाव किए हैं।  TRAI  ने नए नियमों का एलान कर दिया है। अब एक ही सर्किल के अंदर नंबर पोर्ट कराने में सिर्फ दो दिन का समय लगेगा। एक से दूसरे सर्किल में मोबाइल नंबर पोर्ट कराने में चार दिन का समय लगेगा। पहले इसमें एक हफ्ते का समय लग जाता था। 

 

इसलिए कराएं नंबर पोर्ट 
TRAI  ने कहा कि यूजर्स कई वजहों से अपना मोबाइल नंबर पोर्ट कराने का फैसला ले सकता है। कई बार कंपनी की सेवा खराब होने पर यूजर्स दूसरी कंपनी की सेवा लेने के लिए अपना नंबर पोर्ट कराते हैं। कई बार नौकरी में ट्रांसफर या दूसरी वजहों से शहर बदल जाने पर यूजर अपना नंबर पोर्ट कराता है। 

 

अलग सर्किल में भी बदल सकते हैं नंबर 
यह पोर्टिंग एक सर्किल से दूसरे में हो सकता है। यूजर कई बार सिर्फ अपना सर्किल बदल लेता है. उसे सेवा देने वाली कंपनी में बदलाव नहीं होता है. पोर्टिंग का फायदा यह है कि इसमें सेवा देने वाली कंपनी या सर्किल बदलने पर भी आपका मोबाइल नंबर नहीं बदलता है। 

 

आगे पढ़ें .... 

10 हजार रुपए लग सकता है जुर्माना 
ट्राई के नए नियमों के मुताबिक, पोर्टिंग का आवेदन गलत कारणों से खारिज होने पर मोबाइल सेवा कंपनी पर 10,000 रुपये का जुर्माना लग सकता है. ट्राई ने कहा है, "एक ही सर्किल में पोर्टिंग के लिए दो दिन का समय तय किया गया है. एक से दूसरे सर्किल यानी इंटर-लाइसेंस्ड सर्विस एरिया में पोर्टिंग के लिए चार दिन का समय लगेगा." यूनिक पोर्टिंग कोड (यूपीसी) की वैधता की अवधि घटाकर 4 दिन कर दी गई है. पहले यह 15 दिन थी।  

 

आगे पढ़ें ... 

यहां नहीं लागू होगा नियम 

 

नया नियम जम्मू एवं कश्मीर, असम और उत्तर-पूर्व को छोड़ बाकी जगहों पर लागू होगा. ट्राई ने कहा है कि इन जगहों पर कोड की वैधता के नियम पहले जैसे बने रहेंगे। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss