बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-Telecomडाटा चोरों से सेफ रखना चाहते हैं अपना पैसा, फॉलो करें 5 स्टेप्स

डाटा चोरों से सेफ रखना चाहते हैं अपना पैसा, फॉलो करें 5 स्टेप्स

अगर ट्राई के चेयरमैन का अकाउंट हैक किया जा सकता है। तो आम आदमी कैसे इन चोरों से बच सकता है।

1 of
नई दिल्ली. अगर ट्विटर पर अपना अाधार नंबर शेयर करने से ट्राई के चेयरमैन का अकाउंट हैक किया जा सकता है, तो आम आदमी कैसे इन चोरों से बच सकता है। आरबीआई और बैंक सिस्टम को मजबूत बना सकते हैं और लोगों को इसके बारे में एजुकेट और जागरूक कर सकते हैं। हालांकि अगर हम खुद ही अपना पर्सनल डाटा शेयर कर देंगे, तो इन चोरों से हमें कोई नहीं बचा पाएगा। ऐसे में हम यहां ऐसे 5 स्टेप्स के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें फॉलो करके आप अपने डाटा और पैसे को ऑनलाइन चोरों से बचा सकते हैं। 

 
1. वाई-फाई पासवर्ड 
 
आपकी ज्यादातर डिवाइस वाई-फाई से कनेक्ट रहती हैं। ऐसे में यह जरूरी है कि आप अपने वाई-फाई को पासवर्ड प्रोटेक्टेड रखें। इसके अलावा कोशिश करें कि जब वाई-फाई का इस्तेमाल न हो तो उसे बंद कर दें और समय-समय पर उसका पासवर्ड चेंज भी करते रहें। इसके अलावा आप अपने वाई-फाई को इन्विजिबल भी कर सकते हैं। इसका ऑप्शन भी आपको मिलता है। 
आगे पढ़ें : फ्री के चक्कर में न पड़ें 
2. ‘फ्री’ पड़ सकता है ज्यादा महंगा 
 
एक्सपर्ट अकसर सलाह देते हैं कि जहां तक हो सके पब्लिक वाई-फाई का इस्तेमाल करने से बचें, क्योंकि जब आप पब्लिक वाई-फाई से नॉर्मल ब्राउजिंग कर रहे होंगे तो हैकर उसका इस्तेमाल आपके पैसे को चोरी करने और देश विरोधी गतिविधियों के लिए भी कर सकते हैं। इस बारे में आपको पता भी नहीं चलेगा और आपको बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। 
आगे पढ़ें : फ्री वायरस से भी बचें  
3. अपने फोन को भी लॉक रखें 
 
अपने डिवाइस में हमेशा एक अच्छा एंटी वायरस रखें। फ्री सॉफ्टवेयर के चक्कर में बिल्कुल भी न पड़ें। इसके अलावा अगर इस्तेमाल में नहीं है तो अपने फोन का ब्लूटूथ बंद रखें। वहीं, आजकल ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के सभी आेटीपी फोन पर आते हैं इसलिए फोन को लॉक रखें और कोशिश करें कि पासवर्ड किसी को न बताएं।  
आगे पढ़ें : ध्यान से दें ऐन्स को एक्सेस 
4. जरूरी ऐप ही करें डाउनलोड 
 
आपको अपने फोन में ऐप डाउनलोड करते समय ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि आजकल सभी ऐप डाउनलोड होने के साथ ही आपके कॉन्टैक्ट, गैलरी, लोकेशन और यहां तक की एसएमएस तक का एक्सेस मांगते हैं। बता दें कि, ऐप एक्सेस के चलते ही फेसबुक डाटा चोरी वाले मामले में फंसा है। इसके बाद फेसबुक की परेशानी लगातार बढ़ती ही जा रही है। ऐसे में यह बहुत जरूरी है कि आप ऐप डाउनलोड करते समय भी सावधानी बरतें। इसके अलावा सिर्फ गूगल प्ले से ही ऐप डाउनलोड करें, क्योंकि कई बार लोग लिंक से ऐप डाउनलोड करते हैं जिनमें वायरस भी होता है। 
आगे पढ़ें : मेल आईडी को ऐसे करें प्रोटेक्ट 
5. अपने मेल को करें प्रोटेक्ट 
 
यह बहुत जरूरी है कि आप अपनी मेल आईडी को एक स्ट्रॉन्ग पासवर्ड से प्रोटेक्ट करें। इसके अलावा सेटिंग करें कि जब भी आप किसी नए सिस्टम पर अपना मेल आईडी खोलें तो उसे ओटीपी से वेरिफाई किया जाए, जिसका नंबर आपके मोबाइल पर आए। इससे आपको हमेशा पता रहेगा कि आपका मेल कहीं और तो नहीं खोला जा रहा है। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट