Home » Industry » IT-Telecomगूगल रि‍पोर्ट: लोकल भाषा में इंटरनेट सर्च की ग्रोथ 10 गुना, Google Report, Local Language, Internet Search Growth

गूगल रि‍पोर्ट: लोकल भाषा में इंटरनेट सर्च ग्रोथ 10 गुना, 3 में से 2 यूजर छोटे शहरों से

भारत में सस्‍ते स्‍मार्टफोन और मोबाइल डाटा की वजह से इंटरनेट यूजर्स की संख्‍या में तेजी से इजाफा हो रहा है।

गूगल रि‍पोर्ट: लोकल भाषा में इंटरनेट सर्च की ग्रोथ 10 गुना, Google Report, Local Language, Internet Search Growth

नई दि‍ल्‍ली। भारत में सस्‍ते स्‍मार्टफोन और मोबाइल डाटा की वजह से इंटरनेट यूजर्स की संख्‍या में तेजी से इजाफा हो रहा है। अब कई कंज्‍यूमर्स जानकारी लेने और सवालों के जवाब ढूंढने के लि‍ए इंटरनेट का सहारा ले रहे हैं। चाहे रि‍सर्च हो या एजुकेशन या फि‍र बिजनेस हर चीज में डिजि‍टल चैनल का असर दि‍खने लगा है। गूगल की तीसरी सर्च रि‍पोर्ट 2017 में इस बात का खुलासा भी हुआ है कि‍ लोग अपनी क्षेत्रीय भाषाओं में सर्च करना ज्‍यादा पसंद कर रहे हैं। खास बात यह है कि‍ 3 में से 2 सर्च टॉप 6 मेट्रो शहरों में नहीं बल्‍कि‍ छोटे शहरों में हो रही है। 

 

10 गुना बढ़ा क्षेत्रीय भाषाओं में सर्च

 

इंटरनेट के इस्‍तेमाल में छोटे शहर तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। सर्च रि‍पोर्ट में कहा गया है कि‍ लोग अब पहले के मुकाबले अब अपनी भाषा में सर्च करना ज्‍यादा पसंद कर रहे हैं। रि‍पोर्ट में कहा गया कि‍ हर सेगमेंट और सर्च में नॉन मेट्रो की ग्रोथ रेट सबसे ज्‍यादा देखने को मि‍ली है। लोकल भाषाओं में सर्च करने की ग्रोथ 10 गुना तक बढ़ी है। इसमें हिंदी अब भी सबसे ज्‍यादा यूज हो रही है लेकि‍न दूसरी भाषाएं जैसे तमि‍ल, मराठी और बंगाली भी ऑनलाइन सर्च में बढ़ रही हैं। 

 

2020 तक 65 करोड़ लोग होंगे ऑनलाइन

 

रि‍पोर्ट में कहा गया कि‍ साल 2017 में 40 करोड़ से ज्‍यादा लोग इंटरनेट का इस्‍तेमाल कर रहे हैं। वहीं, स्‍मार्टफोन यूज करने वालों की संख्‍या 33 करोड़ है। 2020 तक इंटरनेट यूज करने वालों की संख्‍या 65 करोड़ हो जाएगी जबकि‍ स्‍मार्टफोन यूजर्स की संख्‍या 50 करोड़ होगी। 
  
एफएमसीजी में डि‍टि‍जल नेटवर्क का यूज

 

साल 2017 में 'डि‍जि‍टल' के लि‍हाज से बड़ा बदलाव देखा गया है। ऑटो और बैंकिंग, फाइनेंशि‍यल सर्वि‍सेज और इंश्‍योरेंस जैसे कैटेगारल में ऑनलाइन रि‍सर्च और ऑफलाइन खरीद का सीधा संबंध हैं। 2020 तक 40 फीसदी एफएमसीजी सेल्‍स प्रभावि‍त होगी। कहा गया है कि‍ 6 से 7 अरब डॉलर के एफएमसीजी प्रोडक्‍ट्स ऑनलाइन बि‍केंगे।

 

ऑटो इंडस्‍ट्री में 20 फीसदी सेल्‍स डि‍जि‍टल से

 

रि‍पोर्ट के मुताबि‍क, बड़ी ऑटो कंपनि‍यों की 20 फीसदी सेल्‍स डि‍जि‍टल तरीके से हो रही है। वहीं, 79 फीसदी कार बायर्स ऑनलाइन वीडि‍यो देखने के बाद खरीददारी का फैसला ले रहे हैं। जो साफ बताता है कि‍ ऑनलाइन और ऑफलाइन का सीधा संबंध है। रि‍पोर्ट में यह भी कहा गया है कि‍ 3 में से 2 यूजर्स ऑटो डीलरशि‍प के लोकेश सर्च करते हैं। इसके अलावा, 44 फीसदी टू-व्‍हीलर बायर्स ऑनलाइन रि‍सर्च करने के बाद खरीददारी करते हैं।  

 

2.5 गुना बढ़ेगा ई-कॉमर्स, ट्रैवल, फाइनेंशि‍यल सर्वि‍सेज पर खर्च 

 

रि‍पोर्ट में कहा गया है कि‍ 2020 तक ई-कॉमर्स, ट्रैवल, फाइनेंशि‍यल सर्वि‍सेज और डि‍जि‍टल मीडि‍या में ऑनलाइन कंज्‍यूमर खर्च 2.5 गुना बढ़कर 1000 अरब डॉलर का हो गया है। इसके अलावा, 2030 तक ऑनलाइन खर्च करने वाले कंज्‍यूमर्स की संख्‍या भी 2 से 3 गुना बढ़कर 18 से 20 करोड़ हो जाएगी। इसके अलावा, टेलि‍कॉम बेस्‍ड मोबाइल वॉलेट सर्वि‍सेज के सर्च में 70 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई है। 

 

पहले ऑनलाइन सर्च फि‍र स्‍टोर से शॉपिंग

 

लोग ऑनलाइन सर्च के बाद स्‍टोर से शॉपिंग कर रहे हैं और इस ट्रेड में लगातार तेजी देखी जा रही है। 'stores near me' के लि‍ए 50 फीसदी का इजाफा हुआ है जो कि‍ साफ बताता है कि‍ स्‍टोर्स के लि‍ए ऑनलाइन सर्च शॉपिंग का अहम हि‍स्‍सा बन गया है। इसी तरह, कंज्‍यूमर इलेक्‍ट्रॉनि‍क्‍स में 'stores near me' की पूछताछ में 80 फीसदी की ग्रोथ आई है, जबकि‍ टेलीकॉम स्‍टोर के लि‍ए यह इजाफा 92 फीसदी का है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट