बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-Telecomइन 6 बातों का रखेंगे ध्‍यान, तो बढ़ जाएगी स्‍मार्टफोन की लाइफ

इन 6 बातों का रखेंगे ध्‍यान, तो बढ़ जाएगी स्‍मार्टफोन की लाइफ

जब से स्मार्टफोन आए हैं कोई फोन इतने लंबे समय तक नहीं चलता और लोग छह महीने या साल भर में फोन बदल देते है।

1 of
नई दि‍ल्‍ली. जब मोबाइल फोन आने शुरू हुए तो बटन वाले फोन कई साल चलते थे। अभी भी कुछ पुराने नोकिया के फोन आपको देखने के लिए मिल जाएंगे। लेकि‍न जब से स्मार्टफोन आए हैं कोई फोन इतने लंबे समय तक नहीं चलता और लोग छह महीने या साल भर में फोन बदल देते है।
 
हालांकि कुछ लोग शौकिया ऐसा करते हैं। लेकि‍न स्मार्टफोन के थोड़ा पुराना होते ही उसमें परेशानी आने लगती है। किसी की स्क्रीन पहले जैसी नहीं रहती तो कि‍सी में हैंग या फि‍र बैटरी की समस्‍या आने लगती है। हालांकि‍ कई बार हम खुद इसके जि‍म्‍मेदार होते हैं। ऐसे में अगर स्‍मार्टफोन को थोड़ा  संभालकर उपयोग किया जाए तो आप लंबे समय तक अपने स्मार्टफोन का उपयोग कर सकते हैं। आगे हम आपको 6 ऐसे तरीके बता रहें हैं जि‍नसे बढ़ा जाएगी स्‍मार्टफोन की लाइफ। 
आगे पढ़ें : कैसे ज्‍यादा चलेगा स्‍मार्टफोन 

1. फोन बॉडी की करें सुरक्षा
 
टैंपर्ड ग्लास : 
अगर आप चाहते हैं कि लंबे समय तक फोन का उपयोग करें तो सबसे पहले उसकी स्क्रीन की सुरक्षा करें। आज फोन की स्क्रीन बड़ी हो गई है और फ्रंट पैनल पर ही स्क्रीन के बाद बहुत कम ही जगह बचती है। ऐसे में जैसे ही फोन हाथ से छूटता है पहले स्क्रीन टूटती है। इसलिए आप फोन में टैंपर्ड ग्लास का उपयोग करें तो बेहतर होगा। आज कल नए फाइबर वाले टैंपर्ड ग्लास आ गए हैं जो ज्यादा मजबूत हैं और स्क्रीन को ज्यादा सुरक्षित रखते हैं। 
 
फोन कवर : स्क्रीन के साथ बॉडी की सुरक्षा भी जरूरी है। इससे न सिर्फ आपका फोन नया जैसा दिखाई देगा बल्कि सुरक्षा ज्यादा मिलेगी। बॉडी की तरफ से गिरने पर भी अक्सर फोन की स्क्रीन टूट जाती है या फिर किसी तरह का दूसरा नुकसान हो जाता है। हालांकि यहां ध्यान दें कि कवर मैटल का न हो। यदि कंपनी द्वारा सेल किया जाने वाला लें तो ज्यादा बेहतर है। उससे एंटीना कवर नहीं होता और फोन की कॉल क्‍वॉलिटी बनी रहती है। 
2. बैटरी का रखें ध्यान
 
स्मार्टफोन के सबसे जरूरी चीज पावर है। क्योंकि अगर पावर बैकअप सही है तो ही फोन सही काम करेगा। इसलिए फोन की बैटरी का ध्यान रखना जरूरी है।
 
पूरी तरह डिस्चार्ज से बचें : लीथियम आॅयन बैटरी यदि पूरी तरह डिस्चार्ज होती है तो इसके परफाॅर्मेंस में कमी आती है। इसलिए कोशिश करें कि बैटरी पूरी तरह डिस्चार्ज न हो। वहीं हो सके तो बैटरी को 20 फीसदी से कम होने से पहले ही इसे चार्ज पर लगा दें। 
 
नकली चार्जर से बचें : वहीं, फोन की बैटरी लाइफ को बढ़ाने के लि‍ए फोन में नकली चार्जर को कनेक्ट करने से बचें। क्योंकि सेल्स पैक के साथ मौजूद चार्जर का एक पैमाना सेट होता है जबकि सस्ते नकली चार्जर का कोई पैमाना नहीं होता और यह आपके फोन की बैटरी को पूरी तरह से खराब कर सकता है। 
3. स्टोरेज का रखें ध्यान 
 
स्मार्टफोन में हैंग और धीमा होने की समस्या तब आती है जब फोन की मैमोरी भरने लगती है। इसलिए फोन उपयोग के दौरान जरूरी है कि आप मैमोरी का ख्याल रखें।
 
क्लाउड स्टोरज का लें सहारा : आपके फोन में कई ऐसी फाइल पड़ी होती हैं जिनका उपयोग आप जल्दी नहीं करते और उन्हें डिलीट भी नहीं करना चाहते। परंतु ध्यान रहे ये फाइल फोन मैमोरी भरने का कार्य करते हैं। ऐसे में उन फाइल्स को जिनका उपयोग आप कर करते हैं क्लाउड पर स्टोर कर लें। इसके लिए आप गूगल ड्राइव और ड्रॉप बॉक्स का सहारा भी ले सकते हैं। क्लाउड की फाइलों को आप कंप्यूटर या किसी दूसरे फोन से भी एक्सेस कर सकते हैं।
 
अनचाहे फाइल को करें डिलीट : फोन में ब्लर फोटो और बेकार के व्हाट्सऐप वीडियो मैमोरी भरने का ही काम करते हैं। इसलिए थोड़ा सा समय निकालकर अगर आप उन फाइल्स को डिलीट कर देते हैं तो ज्यादा बेहतर है। फोन की मैमोरी खाली रहेगी और आप लंबे समय तक इसका उपयोग कर पाएंगे।
4. बिना काम के ऐप्स को करें रिमूव 
 
जब आप फोन लेते हैं तो कई ऐप्स उसमें बिना काम के होते हैं। वहीं, कई बार आप ऐसे भी ऐप्लिकेशन को डाउनलोड कर लेते हैं जिनका एक बार के बाद कोई काम नहीं होता। इन अनचाहे ऐप्स को आप रिमूव कर दें तो ज्यादा बेहतर है। अगर अनइंस्टॉल नहीं हो रहा है तो उस डिसेबल कर दें। इससे यह मैमोरी का उपयोग नहीं कर पाएगा और न ही आपको अपडेट और नोटिफिकेशन के माध्यम से तंग करेगा। 
5. दो से ज्यादा ओएस अपडेट न करें 
 
इसमें कोई शक नहीं कि ओएस अपडेट के साथ फोन में कई फीचर्स जुड़ जाते हैं और पहले से ज्यादा सिक्योर हो जाता है लेकिन ध्यान रहे कि ज्यादा ओएस अपडेट से भी फोन धीमा हो जाता है। कोशिश करें कि नए ओएस संस्करण पर दो से ज्यादा अपडेट न करें। 
6. अनजान सोर्स न डानलोड करें ऐप 
 
स्मार्टफोन में अक्सर लोग ब्लूटूथ, शेयरइट से और पीसी से ऐप्स डाउनलोड करते हैं। लेकि‍न आपको मालूम नहीं है​ कि ऐसा कर आप अपने फोन की लाइफ खराब करते हैं। ब्लूटूथ या एपीके ट्रांसफर में फोन में वायरस आने का खतरा रहता है जो आपके फोन को पूरी तरह से बेकार कर सकता है। वहीं, डाटा चोरी होने का खतरा भी बहुत ज्यादा है। इसके साथ ही थर्ड पार्टी ऐप स्टोर से भी ऐप्लिकेशन डानलोड करने से बचना चाहिए। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट