Home » Industry » IT-TelecomFiled in 5 seconds, the whole movie, Ambanis claim Jio is ready for a new challenge

5 सेकंड में डाउनलोड हाे जाएगी पूरी फि‍ल्‍म, अंबानी का दावा नए चैलेंज के लि‍ए तैयार है जि‍यो

5जी के बारे में कहा जा रहा है कि‍ इससे सि‍र्फ 5 से 10 सैकंड में पूरी फि‍ल्‍म डाउनलोड की जा सकती है।

1 of

 
नई दि‍ल्‍ली. कागज़ पर लिखकर उसे पोस्ट करने से लेेेेकर बटन दबाकर मैसेज सेंड करने का सफर बहुत शानदार है। इतना ही नहीं अब तो एक साथ कई लोगों को एक साथ सूचना पहुंचाने में बस पलक झपकने जि‍तना समय लगता है। आज हम इंटरनेट के 4जी स्‍पीड का यूज कर रहे हैं और 5जी भी दस्‍तक देने के लि‍ए तैयार है। 5जी के बारे में कहा जा रहा है कि‍ इससे सि‍र्फ 5 से 10 सेकंड में पूरी फि‍ल्‍म डाउनलोड की जा सकती है। 


यह भी पढ़ें - आम बजट 2018 से जुड़ी खबरें - Aam Budget 2018 News in Hindi

 
क्‍या 5जी के लि‍ए तैयार है भारत 
 
कहा जाता है कि भारत तकनीक में दूसरे देशों से काफी पीछे है। यही कारण रहा कि‍ यहां लगभग 15 साल की देरी से मोबाइल सर्विस आई। देरी का अंदाजा आप इस बात से भी लगा सकते हैं कि‍ पाकि‍स्‍तान में भारत से पहले मोबाइल सर्वि‍स शुरू हो गई थी। वहीं, 3जी सर्विस में भी हम लगभग 10 साल पीछे थे। यूरोपीय देशों ने 2001 में ही 3जी सर्विस लॉन्च करना शुरू कर दिया था, जबकि‍ भारत में 2011 के बाद यह सर्विस आई। हालांकि 4जी ने देरी के खाई को बहुत हद तक कम कर दिया है जल्द ही देश में आ गई। इसके बावजूद हम लगभग 3 से 4 साल पीछे रह गए। लेकि‍न अब माना जा रहा है कि‍ 5जी के मामले में शायद ऐसा भी न हो। 
 
आगे पढ़ें : मुकेश अंबानी का क्‍या है दावा 
मुकेश अंबानी का दावा 5जी के लि‍ए तैयार है जि‍यो  
 
भारत के लि‍ए इस बार सबसे अच्‍छी बात यह कही जा सकती है कि भारत इस बार 5जी के लिए पहले से तैयार है। रिलायंस इं​डस्ट्रीज के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी ने घोषणा की थी रिलायंस जियो नेटवर्क 5जी के लि‍ए भी तैयार है। वहीं, इसके विकास के लिए कंपनी ने सैमसंग से समझौता भी कर लिया है। दूसरी ओर एयरटेल भी पीछे नहीं है। उसने भी 5जी सर्विस के विस्तार के लिए नोकिया से साझेदारी की है। 
4जी से बहुत ज्‍यादा तेज होगा 5जी 
 
जहां 4जी की अधिकतम स्पीड 600 एमबीपीएस तक ही है। वहीं, 5जी की स्पीड 1​जीबीपीएस से शुरू होगी। ऐसे में आप खुद ही सोच सकते हैं कि यह अहसास कैसा होगा। बस चंद सेकेंड में मूवी डाउनलोड होंगी और बिना बफर के चलेगा लाइव वीडियो। मल्टीप्लेयर गेमिंग और हेल्थ सेवाओं में भी गजब का बदलाव देखने को मिलेगा।
मोबाइल भी ऐसी तकनीक वाले होंगे
 
5जी तकनीक में बहुत बड़ी स्पैक्ट्रम बैण्डविड्थ का इस्तेमाल होगा। फिलहाल अधिकांश मोबाइल एंटीना 10-20 मेगाहर्ट्ज बैंडविड्थ पर ही काम करते हैं, जबकि 5जी में 2 गीगाहर्ट्ज बैण्डविड्थ पर काम करने वाले मोबाइल विकसित करने पड़ेंगे। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट