बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-Telecomदि‍संबर 2018 तक डि‍जि‍टल ऐड पर होगा 12,046 करोड़ का खर्च, ई-कॉमर्स और BFSI सबसे आगे

दि‍संबर 2018 तक डि‍जि‍टल ऐड पर होगा 12,046 करोड़ का खर्च, ई-कॉमर्स और BFSI सबसे आगे

डि‍जि‍टल इंडि‍या की ओर बढ़ने के साथ-साथ डि‍जि‍टल एडवर्टाइजिंग खर्च पर भी बढ़ रहा है।

1 of

 
नई दि‍ल्‍ली। डि‍जि‍टल इंडि‍या की ओर कदम बढ़ने के साथ-साथ देश में डि‍जि‍टल एडवर्टाइजिंग पर भी खर्च बढ़ रहा है। इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसि‍एशन ऑफ इंडि‍या (IAMAI) और Kantar IMRB की ओर से जारी ज्‍वाइंट रि‍पोर्ट में पाया गया कि‍ दि‍संबर 2018 तक डि‍जि‍टल एडवर्टाइजिंग 30 फीसदी की सालाना ग्रोथ के साथ 12,046 करोड़ रुपए का आंकड़ा छू लेगी। इसमें भी BFSI और ई-कॉमर्स की हि‍स्‍सेदारी सबसे ज्‍यादा है। 
 
2017 के अंत तक डि‍जि‍टल ऐड खर्च 27 फीसदी की ग्रोथ रेट के साथ करीब 9,266 करोड़ रुपए पर था। रि‍पोर्ट में कहा गया कि‍ मौजूदा समय में डि‍जि‍टल ऐड खर्च टोटल ऐड का 16 फीसदी है। एक अनुमान के मुताबि‍क, देश में टोटल ऐड खर्च करीब 59 हजार करोड़ रुपए का है। 
 
खर्च के मामले में BFSI-ई-कॉमर्स सबसे आगे
 
टोटल खर्च के मामले में डि‍जि‍टलऐड खर्च की अगुवाई BFSI इंडस्‍ट्री कर रही है। इस इंडस्‍ट्री ने साल 2017 में करीब 2022 करोड़ रुपए का खर्च कि‍या है। इसके बाद ई-कॉमर्स इंडस्‍ट्री का नाम है। अगर पारंपरि‍क और डि‍जि‍टल वर्टि‍कल्‍स पर होने वाल खर्च के शेयर की तुलना करें तो BFSI ब्रांड्स का शेयर 46 फीसदी के साथ सबसे ज्‍यादा है। इसके बाद ई-कॉमर्स, टेलि‍कॉम और ट्रैवल का शेयर है।   
 
इंडस्‍ट्री पारंपरि‍क ऐड खर्च डि‍जि‍टल ऐड खर्च हि‍स्‍सेदारी
एफएमसीजी + सीडी 18,477 करोड़ 1,255 करोड़ 6%
ई-कॉमर्स 4,260 करोड़ 1,711 करोड़ 29%
टेलि‍कॉम 2,567 करोड़ 1,015 करोड़ 28%
एजुकेशन 2,127 करोड़ 297 करोड़ 12%
ट्रैवल 2,389 करोड़ 1,280 करोड़ 28%
बीएफएसआई 2,389 करोड़ 2020 करोड़ 46%
ऑटो
4,200 करोड़ 851 करोड़ 17%

 

सर्च पर कि‍या जा रहा है खर्च

 
रि‍पोर्ट में यह भी कहा गया है कि‍ साल 2017 में टोटल ऐड खर्चे का 27 फीसदी शेयर के साथ करीब 2,502 करोड़ रुपए सर्च पर खर्च हुआ है। सर्च के अलावा वीडि‍यो और मोबाइल पर क्रमश: 1,779 करोड़ रुपए और 1,761 करोड़ रुपए खर्च हुआ है और इसका शेयर करीब 19 फीसदी रहा। सोशल मीडि‍या पर ऐड खर्च करीब 1,668 करोड़ रुपए हुआ है। वहीं, डि‍स्‍प्‍ले पर होने वाला ऐड खर्च 1,483 करोड़ रुपए रहा, इसका शेयर 16 फीसदी है।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट