बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-TelecomSamsung S9 को अलग लेवल का स्मार्टफोन बनाता है उसका कैमरा

Samsung S9 को अलग लेवल का स्मार्टफोन बनाता है उसका कैमरा

सैमसंग ने पिछले दिनों अपने फ्लैगशि‍प स्‍मार्टफोन गैलेक्सी एस9 और एस9 प्लस को लॉन्‍च कि‍या।

1 of
 
 
नई दि‍ल्‍ली. सैमसंग ने पिछले दिनों अपने फ्लैगशि‍प स्‍मार्टफोन गैलेक्सी एस9 और एस9 प्लस को लॉन्‍च कि‍या। इस फोन के कैमरे पर कंपनी की ओर से खास ध्‍यान दि‍या गया है। यही कारण है कि‍ जब मैंने इस फोन को रि‍व्‍यू कि‍या तो पाया कि‍ अभी के समय में यह फोन बेस्‍ट कैमरा क्‍वॉलि‍टी देता है। आप इस फोन से फोटो चाहें दि‍न में लें या रात के अंधेरे में इससे ली हुई फोटो में आपको अच्‍छी डि‍टेल मि‍लती है। ऐसे में सैमसंग एस8 से बहुत अगल न होकर भी यह फोन छोटी-छोटी चीजों के साथ यूजर एक्‍सपीरि‍यंस को और बेहतर करने का काम करता है। 

 
अंधेरे में भी अच्‍छी डि‍टेल देता है F1.5 अपर्चर 
 
इस बार सैमसंग ने फोन में सबसे ज्यादा फोकस फोटोग्राफी पर कि‍या है। गैलेक्सी एस-9 में F1.5 अपर्चर दि‍या गया है जो कि‍ आज तक दि‍ए गए कि‍सी भी मोबाइल कैमरे में नहीं दि‍या गया है। ऐसे में यूजर को इसका फायदा मि‍लेगा और अंधेरे में भी शानदार फोटो और वि‍डि‍यो बना पाएंगे। F1.5 अपर्चर के चलते फोन कम रोशनी और अंधेरे में भी बेहतर तस्वीर लेता है। रि‍व्‍यू के दौरान मैने जो तस्‍वीर अंधेरे में खीचीं थी उनमें भी काफी डि‍टेल थी। इसके बाद कहा जा सकता है कि लो लाइट में इस वक्त सबसे बढ़िया कैमरा एस9 में मि‍लेगा। ऐसे में फोटोग्राफी के शौकीन लोगों को यह फोन बढ़ि‍या एक्‍सपीरि‍यंस देगा और वे इससे काफी कुछ नयााकर सकते हैं। 
 
हालांकि‍ मैंने सि‍र्फ एस9 का रि‍व्‍यू कि‍या था। लेकि‍न एक दोस्‍त के पास एस9 प्‍लस भी देखा और उसे यूज कि‍या था। इस फोन के 12 मेगापिक्सल वाले मेन कैमरा में ड्यूल अपर्चर दि‍या गया है। ऐसे में रोशनी कम होने पर  F1.5 अपर्चर खुद से एक्‍टि‍व होकर लाइट मैनेज करता है। जबकि‍ अच्छी रोशनी के लिए F2.4 अपर्चर दि‍या गया है। 
 
 
टाइमपास के लि‍ए मजेदार है AR Emoji का फीचर 
 
सैमसंग ने इस बार एक नया फीचर जोड़ा है, जि‍सका नाम है एआर इमोजी। यह फीचर भी कैमरे से ही जुड़ा है। क्‍योंकि‍ इससे फोटो लेने के बाद यह आपके फेस से मि‍लता जुलता 3डी इमोजी क्रि‍एट करता है। यह फीचर हम आईफोन एक्‍स में देख चुके हैं लेकि‍न उसमें इस फीचर को एनीमोजी के नाम से पेश कि‍या गया था। इमोजी क्रि‍एट करने में कैमरे का बड़ा रोल है क्‍योंकि‍ कैमरा इतनी अच्‍छी डि‍टले फोटो लेता है कि‍ इमोजी भी वैसा ही क्रि‍एट होता है। मैंने इस फोन से पोक करते हुए एक फोटो खींची और उसे इमोजी में कनवर्ट कि‍या। ऐसे में इमोजी बनने के बाद मैने देखा कि‍ पोक करते हुए जब मैंने जीभ बाहर नि‍काली थी तो इमेाजी में भी वहीं जीभ का नि‍शान दि‍खाई दे रहा था। हालांकि‍ इमाेजी में जीभ बाहर नहीं थी लेकि‍न कैमरा कि‍तनी डि‍टेल में फोटो लेता है यह समझ आता है और कि‍तने अच्‍छे से इमोजी फीचर उसे रीड करता है। हालांकि‍ कुछ मामलों में हमने पाया कि तस्वीर और इमोजी एक दूसरे से थोड़ा अलग दिखते हैं। इसके बावजूद यह नया फीचर कमाल का है। 
 
स्लो मोशन के बाद अब सुपर स्लो मोशन 
 
स्‍मार्टफोन में यह एक और कमाल का फीचर है। स्लो मोशन तो आपको कई फोन में मिलेगा, लेकि‍न सुपर स्लो मोशन उससे भी एडवांस्ड है, जिसमें 960 फ्रेम पर सेकंड तक की रिकॉर्डिंग की जा सकती है। इसमें कुछ चुनौती हैं, मसलन लाइटिंग अच्छी होनी चाहिए। वहीं, जब आप इस मोड में तस्वीर खींचते है तो स्क्रीन के बीच में एक बॉक्स आता है, उस एरिया में जब कोई ऑब्जेक्ट मोशन करता है तो सुपर स्लो मोशन मोड खुद एक्टिव होता है। ऐसे में आपको थोड़ा इंतजार करना पड़ता है। हम उम्‍मीद करते हैं कि‍ सैमसंग इस फीचर को और बेहतर बनाकर लाएगा। लेकि‍न यह यूजर एक्‍सपीरि‍एंस के हि‍साब से एक नई चीज है। जो कि‍ एस9 को बाकी सभी स्‍मार्टफोंस से अलग बनाती हैं।  
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट