Home » Industry » IT-TelecomCambridge Analytica Facebook data harvest firm to shut

कैंब्रिज एनालिटिका होगी बंद, फेसबुक डाटा लीक विवाद के बाद नहींं मि‍ल रहा काम

फेसबुक से डाटा चोरी करने का आरोप झेल रही कैंब्रिज एनालिटिका कंपनी ने बुधवार को कंपनी बंद करने का फैसला किया है।

1 of
नई दि‍ल्‍ली. फेसबुक से डाटा चोरी कर उसका चुनाव अभियान के दौरान गलत इस्तेमाल करने का आरोप झेल रही कैंब्रिज एनालिटिका कंपनी ने बुधवार को कंपनी बंद करने का फैसला किया है। कंपनी ने अपने एक बयान में कहा कि‍ उस पर लगे आराेप हालांकि‍ आधारहीन हैं और अभी तक साबि‍त नहीं हुए हैं, लेकि‍न अब उसके पास ग्राहक और सप्‍लायर दोनों ही नहीं हैं। ऐसे में उन्‍हें अपना व्‍यवसाय बंद करना पड़ रहा है। क्‍‍‍‍‍‍‍‍योंकि‍ बि‍ना काम कि‍ए बि‍जनेस को चलाना फायदे का सौदा नहीं है। 

 
क्‍या है मामला 
 
पॉलि‍टि‍कल एनलि‍स्‍ट फर्म कैम्ब्रिज एनालिटिका पर आरोप है कि‍ उसने फेसबुक के 8 करोड़ यूजर्स का डाटा चोरी कि‍या है। इस डाटा का प्रयोग कंपनी ने अमेरि‍का के राष्‍ट्रपति‍ चुनाव को प्रभावि‍त करने में कि‍या। बता दें कि‍, यह कंपनी डोनाल्ड ट्रम्प के राष्ट्रपति अभियान के दौरान उनके लि‍ए काम कर रही थी। 
 
फेसबुक के CEO ने स्‍वीकार की थी गलती 
 
कैम्ब्रिज एनालिटिका स्कैंडल सामने आने के बाद फ़ेसबुक के संस्थापक मार्क ज़करबर्ग ने स्वीकार किया था कि उनकी कंपनी से ग़लतियां हुई हैं। इसके बाद उन्‍होंने फेसबुक यूजर्स के डाटा को पहले से ज्‍यादा सुरक्षि‍त करने के लि‍ए नए सि‍रे से प्राइवेसी पॉलि‍सी पर काम शुरू कर दि‍या है। इसके अलावा उन्‍होंने ऐसे इंतज़ाम करने का आश्वासन दिया था जिनसे थर्ड-पार्टी ऐप्स के लिए लोगों की जानकारियां हासिल करना मुश्किल हो जाए।  
 
 
कैम्ब्रिज एनलिटिका ने दी सफाई 
 
कंपनी की वेबसाइट पर मौजूद बयान में कहा गया है, "बीते कई महीनों से कैम्ब्रिज एनलिटिका पर कई आधारहीन आरोप लगे हैं और कंपनी की कोशिशों के बावजूद उसे उन गतिविधियों के लिए बदनाम किया गया जो कानूनी रूप से सही हैं। यह गतिविधियां सियासी और कॉमर्शियल क्षेत्र में ऑनलाइन विज्ञापनों का स्‍वीकार्य हिस्सा रही हैं। 
 
कमाई नहीं होने के चलते लि‍या बंद करने का फैसला 
 
हमें अपने कर्मचारियों पर पूरा भरोसा है कि वो हमेशा नैतिक और कानूनी रूप से सही क़दम उठाते रहे हैं। मीडिया कवरेज की वजह से कंपनी के लगभग सभी ग्राहक और सप्लायर ग़ायब हो गए हैं। इसकी वजह से ये फ़ैसला लिया गया है कि अब इस व्यवसाय में ऑपरेट करना आर्थिक रूप से फ़ायदे का सौदा नहीं रह गया है।  
 
भारत से भी जुड़ी है कंपनी 
 
भारत में क्रैम्ब्रिज एनालिटिका एससीएल इंडिया से जुड़ा है। इसकी वेबसाइट के मुताबिक़ यह लंदन के एससीएल ग्रुप और ओवलेनो बिज़नेस इंटेलिजेंस (ओबीआई) प्राइवेट लिमिटेड का साझा उपक्रम है। भारत से जुड़े होने की खबर के बाद यह बात भी सामने आई थी कि‍ भारत में भी कंपनी से चुनाव के दौरान सहायत ली गई है। इसके बाद भारत सरकार ने फेसबुक को डाटा लीक मामले पर चेतावनी देते हुए नोटि‍स जारी कि‍या था। 
 
जुकरबर्ग को मांगनी पड़ी थी माफी 
 
डाटा लीक मामले के बाद से फेसबुक के संस्थापक और सीईओ मार्क जुकरबर्ग दुनियाभर के निशाने पर हैं। इसके चलते उन्‍हें अमेरिकी संसद के सामने भी पेश भी होना पड़ा था। उन्होंने डाटा लीक की जिम्मेदारी लेते हुए सीनेट से माफी मांगी। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट