बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-TelecomWhatsapp ने ठुकराई भारत की मांग, कहा-खतरे में पड़ जाएगी लोगों की प्राइवेसी

Whatsapp ने ठुकराई भारत की मांग, कहा-खतरे में पड़ जाएगी लोगों की प्राइवेसी

वॉट्सऐप ने भारत की शर्त मानने से किया इनकार।

Building traceability would undermine end-to-end encryption WhatsApp
नई दिल्ली. वॉट्सऐप ने भारत की उस शर्त को मानने से इनकार कर दिया है, जिसमें भारत की ओर से कहा गया था कि कंपनी मैसेजेस को ट्रैक करने और मैसेज की शुरुआत कहां से हुई इसका पता लगाने के लिए नई तकनीक विकसित करे। फेसबुक के स्वामित्व वाली वॉट्सऐप ने इस बारे में कहा है कि ऐसा करने से लोगों की प्राइवेसी खतरे में पड़ सकती है। क्योंकि भारत सहित दुनियाभर में मैसेजिंग के लिए फेमस वॉट्सऐप पर लोगों पर्सनल बातें भी शेयर करते हैं। ऐसे में कंपनी की ओर से कहा गया है कि वह लोगों को फेक न्यूज के प्रति जागरूक करने का काम करेगी। 

भारत में व्हाट्सएप के 20 करोड़ से ज्यादा सक्रिय यूजर्स हैं। ऐसे में व्हाट्सएप के लिए दुनिया का सबसे बड़ा बाजार है, क्योंकि पूरी दुनिया में व्हाट्सएप के 150 करोड़ यूजर्स हैं। व्हाट्सएप जल्द ही भारत में यूपीआई आधारित पेमेंट सर्विस लांच करने वाला है। इसकी टेस्टिंग भी चल रही है, लेकिन इससे ठीक पहले व्हाट्सएप फेक न्यूज को लेकर विवाद में आ गया है।
 
फेक न्यूज को रोकने के लिए सरकार ने व्हाट्एप को चेतावनी भी दी है कि अगर वह अपने प्लेटफॉर्म पर फर्जी खबरों को रोकने में नाकाम होता है तो उसे भारत में बैन भी किया जा सकता है। बता दें कि साल 2014 में फेसबुक ने व्हाट्सएप को 19 बिलियन डॉलर में खरीदा था।
 
बता दें कि, वॉट्स ऐप के हेड क्रिस डेनियल ने इस हफ्ते की शुरुआत में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद से मुलाकात की थी। इसके बाद उन्होंने कहा था कि सरकार ने वॉट्सऐप से मैसेजेस को ट्रैक करने और मैसेज की शुरुआत कहां से हुई इसका पता लगाने के लिए एक नई तकनीक विकसित करने के लिए कहा था। ताकि फेक न्यूज फैलाने वालों के खिलाफ तुरंत एक्शन लिया जा सके। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट