बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-Telecom10वीं पास को मिलेगा ड्रोन पायलट बनने का मौका, ऐप के जरिए करना होगा अप्लाई

10वीं पास को मिलेगा ड्रोन पायलट बनने का मौका, ऐप के जरिए करना होगा अप्लाई

ई-कॉमर्स कंपनियां सामान पहुंचाने के लिए अभी नहीं कर पाएंगी ड्रोन का इस्तेमाल।

10th pass will get chance to become a drone pilot apply from app
नई दिल्ली. एक दिसंबर, 2018 से ड्रोन का कमर्शियल इस्तेमाल शुरू हो जाएगा। सरकार ने सोमवार को ड्रोन नीति जारी कर दी। अब ड्रोन के जरिए बड़े शहरों की ऊंची बिल्डिंग में होने वाली समस्याओं का समाधान आसान हो जाएगा। काफी बड़े इलाके में होने वाली खेती को भी इससे मदद मिलेगी। ड्रोन की मदद से फसल में लगने वाले कीड़े का आसानी से पता लगाया जा सकेगा। लेकिन ड्रोन का पायलट बनने के लिए 18 साल का होना जरूरी है। पायलट कम से कम 10वीं पास हो और उसे अंग्रेजी का भी ज्ञान हो। तभी उसे ड्रोन चलाने का लाइसेंस जारी किया जाएगा।

 
कैसे मिलेगा ड्रोन चलाने की इजाजत 
 
इसके लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय ऐप लाने जा रहा है। इस ऐप के जरिए अप्लाई करना होगा। ऐप से ही पता चल जाएगा कि इजाजत मिली है या नहीं। अगर इजाजत नहीं मिली है तो आप ड्रोन नहीं चला सकेंगे।
 
अधिकतम 400 फीट तक उड़ा सकेंगे ड्रोन 
 
सरकार के नियम के मुताबिक ड्रोन को अधिकतम 400 फीट तक उड़ाया जा सकेगा। लेकिन ड्रोन आपको दिखते रहना चाहिए। मतलब ड्रोन को ऐसी जगह पर फिलहाल भेजने की इजाजत नहीं होगी जो पायलट की आंखों के रेंज से बाहर हो। 250 ग्राम से कम भार वाले ड्रोन को नैनो ड्रोन की श्रेणी में रखा गया है।  इस ड्रोन को उड़ाने के लिए सरकार की इजाजत की जरूरत नहीं होगी। लेकिन स्मॉल, मीडियम एवं लार्ज ड्रोन के पायलट को सरकारी ऐप पर अपना पंजीयन कराना होगा। 250 ग्राम से अधिक भार वाले सभी ड्रोन को पंजीयन कराना होगा और उड़ाने के लिए लाइसेंस लेना होगा।
 
फिलहाल ई-कॉमर्स कंपनियां सामान पहुंचाने के लिए नहीं कर पाएंगी ड्रोन का इस्तेमाल 
 
कई ई-कामर्स कंपनियां ड्रोन से सामान की डिलिवरी का प्लान बना रही है। लेकिन फिलहाल वे ऐसा नहीं कर पाएंगी। क्योंकि ड्रोन को पायलट की आंखों से ओझल होने की इजाजत नहीं दी गई है।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट