बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-Telecomटेलि‍कॉम में 100 अरब डॉलर के नि‍वेश का टारगेट, 40 लाख को मि‍लेगी नौकरी

टेलि‍कॉम में 100 अरब डॉलर के नि‍वेश का टारगेट, 40 लाख को मि‍लेगी नौकरी

नई दूरसंचार नीति के लि‍ए टेलि‍कॉम सेक्‍टर में वर्ष-2022 तक 100 अरब डॉलर का निवेश को आकर्षित करने का लक्ष्य रखा है।

1 of
नई दि‍ल्‍ली. केंद्र सरकार की ओर से राष्ट्रीय डिजिटल संचार नीति-2018 के नाम से जारी की गई नई दूरसंचार नीति के लि‍ए बनाए गए मसौदे में टेलि‍कॉम सेक्‍टर में 2022 तक 100 अरब डॉलर का निवेश को आकर्षित करने का लक्ष्य रखा है। सीओएआई के डायरेक्‍टर जनरल राजन एस मैथ्यूज ने कहा कि‍ इस पॉलि‍सी के तहत सरकार का टारगेट है कि‍ टेलि‍‍‍‍‍‍कॉम सेक्‍टर में 40 लाख नौकरि‍यां पैदा की जाएं। वहीं, नीति के तहत देश के हर नागरिक को 50 एमबीपीएस ब्रॉडबैंड सेवा मुहैया कराने का भी टारगेट रखा गया है। 

 
मैथ्यूज ने आगे कहा कि भारत के सिर्फ 2 टेलि‍कॉम ऑपरेटर भारती एयरटेल और रिलायंस जियो ने अकेले इस साल 74,000 करोड़ रुपये निवेश करने करने की बात कही है। जो कि‍ कुल सरकारी अनुमान का 10 फीसदी ज्‍यादा है। 
 
होगी लाइसेंस, स्पेक्ट्रम फीस की समीक्षा 
 
मंत्रालय की ओर से जारी की गई नीति में कर्ज के बोझ से दबे टेलि‍कॉम सेक्‍टर को उबारने की भी प्रतिबद्धता जताई गई है। इसके लिए टेलि‍कॉम कंपनियों की लाइसेंस फीस, स्पेक्ट्रम फीस, यूनि‍वर्सल सर्वि‍स ओब्‍लि‍गेशन फंड की भी समीक्षा की जाएगी। क्योंकि इन सभी शुल्कों के चलते टेलि‍कॉम सर्वि‍स की लागत बढ़ती है। इसके अलावा नई नीति के मसौदे में कारोबार की सुगमता पर भी जोर दिया गया है।  
 
वि‍देशी नि‍वेश को करेगा आकर्षित 
 
नीति में प्रस्तावित सुधारों की सराहना करते हुए, मैथ्यूज ने कहा कि स्पेक्ट्रम मूल्य और संबंधित फीस के तर्कसंगत होने पर सेक्‍टर में निवेश को और बढ़ावा मि‍लेगा। उन्‍होंने आगे बताया कि‍ अगर मसौदे में प्रस्तावित पॉलिसी लागू की जाती है, तो टेलि‍कॉम सेक्‍टर फॉरेन डायरेक्‍ट इनवेस्‍टमेंट आकर्षित करने में भी सक्षम होगा। ऐसे में इस नीति‍ के तहत स्‍पैक्‍ट्रम के लि‍ए ऐसी कीमत तय की जाएं जि‍ससे यूजर्स और कंपनी दोनों को फायदा मि‍ले। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट