Home » Industry » IT-TelecomGovt gives final nod to Vodafone-Idea merger; to be India's largest operator

सरकार ने दी Vodafone-Idea के मर्जर को मंजूरी, बनेगी भारत की सबसे बड़ी टेलिकॉम ऑपरेटर

सरकार ने Vodafone और Idea Cellular के मर्जर को आखिरकार मंजूरी दे दी है।

Govt gives final nod to Vodafone-Idea merger; to be India's largest operator

 

नई दिल्ली. सरकार ने Vodafone और Idea Cellular के मर्जर को आखिरकार मंजूरी दे दी है। इसके साथ ही देश की सबसे बड़ी मोबाइल ऑपरेटर कंपनी बनने का रास्ता साफ हो गया है। इस नई कंपनी के पास 35 फीसदी मार्केट शेयर और लगभग 43 करोड़ सब्सक्राइबर्स होंगे। अब दोनों कंपनियों को रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज से संपर्क करना होगा। 

 

 

7,268.78 करोड़ रुपए के भुगतान के बाद मिली हरी झंडी

आइडिया सेल्युलर और वोडाफोन इंडिया द्वारा मोबाइल बिजनेस के मर्जर के लिए डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकॉम (DOT) को संयुक्त रूप से 7,268.78 करोड़ रुपए का भुगतान किए जाने के कुछ दिनों के बाद यह घटनाक्रम सामने आया है। हालांकि दोनों कंपनियों ने ‘विरोध दर्ज कराते हुए’ यह भुगतान किया है।

 

 

रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज से संपर्क करेंगी कंपनियां

इस घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले DoT के एक अधिकारी ने कहा कि गुरुवार को मर्जर के लिए फाइनल मंजूरी दे दी गई और अब एंटिटीज मंजूरी से जुड़ी निर्धारित फाइलिंग के लिए रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (RoC) संपर्क करेंगी। इससे मर्जर से जुड़ी अंतिम औपचारिकता माना जा रहा है।

DoT ने मर्जर के लिए 9 जुलाई को सशर्त मंजूरी दी थी और दोनों कंपनियों को आधिकारिक तौर पर मर्जर के लिए पूर्व में की गईं डिमांड की भरपाई करने के लिए कहा था।

 

 

आइडिया सेल्युलर ने पूरी की थी शर्त

दो दिन पहले ही कुमार मंगलम बिड़ला की अगुआई वाली आइडिया सेल्युलर ने आधिकारिक तौर पर इस बात की पुष्टि करते हुए कहा, ‘आइडिया सेल्युलर और वोडाफोन ने विरोध जाहिर करते हुए DOT की डिमांड को पूरा कर दिया है। DOT को 3,926.34 करोड़ रुपए कैश और 3,322.44 करोड़ रुपए की बैंक गारंटी दी गई है।’

 

 

बनेगी 23 अरब डॉलर की कंपनी

आइडिया और वोडाफोन के ऑपरेशन के एकीकरण से 23 अरब डॉलर (1.5 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा) की देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम ऑपरेटर कंपनी सामने आएगी, जिसके पास 35 फीसदी मार्केट शेयर और लगभग 43 करोड़ का सब्सक्राइबर बेस होगा।

 

 

आइडिया और वोडाफोन को मिलेगी राहत

मर्जर से कर्ज के बोझ से दबी आइडिया और वोडाफोन को गलाकाट प्रतिस्पर्धा से गुजर रहे मार्केट में खासी राहत मिलेगी। इस मार्केट में कंपनियों को मार्जिन में कमी की समस्या से जूझना पड़ रहा है।

नई कंपनी के पास देश के सभी टेलिकॉम सर्किल्स में 4जी स्पेक्ट्रम होगा। आइडिया द्वारा दिए गए प्रिजेंटेशन के मुताबिक, दोनों कंपनियों के संयुक्त 4जी स्पेक्ट्रम से 12 भारतीय मार्केट्स में 450 मेगाबाइट प्रति सेकंड ब्रॉडबैंड स्पीड की पेशकश करने की क्षमता होगी।

 
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss