बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-Telecomभारती एयरटेल और एयरटेल पेमेंट बैंक का eKYC लाइसेंस सस्पेंड, UIDAI का एक्शन

भारती एयरटेल और एयरटेल पेमेंट बैंक का eKYC लाइसेंस सस्पेंड, UIDAI का एक्शन

यूआईडीएआई ने भारती एयरटेल और एयरटेल पेमेंट बैंक पर कड़ा एक्शन लिया है।

1 of

 

नई दिल्ली. यूआईडीएआई ने भारती एयरटेल और एयरटेल पेमेंट बैंक पर कड़ा एक्शन लेते हुए उनकी ई-केवाईसी लाइसेंस अस्थायी तौर पर सस्पेंड कर दिया है। इसके साथ ही फिलहाल दोनों कंपनियां ई-केवाईसी प्रोसेस के इस्तेमाल से मोबाइल कस्टमर्स के आधार बेस्ड सिम वेरिफिकेशन और पेमेंट बैंक क्लाइंट्स का ई-केवाईसी नहीं कर सकेंगी।

 

 

इन आरोपों के बाद यूआईडीएआई की कार्रवाई

भारती एयरटेल पर आधार-ईकेवाईसी बेस्ड सिम वेरिफिकेशन प्रोसेस को अपने सब्सक्राइबर्स की मर्जी के बिना उनके पेमेंट बैंक अकाउंट खोलने में इस्तेमाल करने के आरोपों के बाद यह कार्रवाई की गई है। यूआईडीएआई ने उन आरोपों पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई, जिनमें एलपीजी सब्सिडी लेने के लिए भी ऐसे पेमेंट बैंक अकाउंट्स को लिंक करने की बात कही जा रही है।

 

यह भी पढ़ें-करोड़ों तो दूर लाखों भी नहीं चुका पा रहे अनिल अंबानी, पीछे पड़ गई यह कंपनी

 

 

फिलहाल ई-केवाईसी नहीं कर पाएगी भारती एयरटेल

घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले सूत्रों के मुताबिक यूआईडीएआई ने एक एंटरिम आदेश में कहा, 'भारती एयरटेल और एयरटेल पेमेंट बैंक के ई-केवाईसी लाइसेंस को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है।'

इसका मतलब है कि एयरटेल अस्थायी तौर पर यूआईडीएआई की कुशल और पेपरलेस ईकेवाईसी (या इलेक्ट्रॉनिक नो योर कस्टमर) के माध्यम से अपने कस्टमर्स का इलेक्ट्रॉनिक वेरिफिकेशन या मोबाइल सिम को 12 अंकों की बायोमीट्रिक राष्ट्रीय पहचान संख्या आधार के साथ लिंक नहीं कर सकेगी।

 

-केवाईसी से नहीं खुलेंगे एयरटेल  पेमेंट बैंक में अकाउंट

इसके साथ ही एयरटेल पेमेंट बैंक भी आधार ई-केवाईसी से नए अकाउंट नहीं खोल सकेगी। हालांकि उपलब्ध होने पर वैकल्पिक मेथड्स के माध्यम से अकाउंट खोले जा सकते हैं।

संपर्क करने पर एयरटेल के स्पोक्सपर्स ने कहा, 'हम आधार लिंक्ड ई-केवाईसी सर्विसेज के अस्थायी तौर पर सस्पेंशन के संबंध में यूआईडीएआई का एंटरिम आदेश मिलने की पुष्टि करते हैं।'

 

 

यह भी पढ़ें-कानपुर का शख्स दे रहा दिग्गज कंपनियों को टक्कर, खड़ा किया अरबों का एम्पायर

 

 

समस्या का जल्द हल निकलने की उम्मीद

उन्होंने कहा, 'हम अथॉरिटी के साथ मिलकर काम कर रहे हैं और इसका जल्दी समाधान होने की उम्मीद है। हम कथित एक्शन पर प्राथमिकता के आधार पर कार्यवाही कर रहे हैं और अपने प्रोसेस की जांच शुरू कर दी है।'

स्पोक्सपर्सन ने कहा, 'हम सभी गाइडलाइन्स का पालन कर रहे हैं। अंतरिम तौर पर कस्टमर्स को होने वाली किसी असुविधा के लिए हमें अफसोस है।'

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट