Home » Industry » IT-TelecomIndia launches 2nd IT corridor in China to gain access to big Chinese market

भारत ने चीन में शुरू किया दूसरा IT कॉरिडोर, इंडियन सॉफ्टवेयर कंपनियों की बढ़ेगी पहुंच

भारत ने रविवार को चीन में अपना दूसरा आईटी कॉरिडोर लॉन्च किया है।

1 of

नई दिल्ली। भारत ने रविवार को चीन में अपना दूसरा आईटी कॉरिडोर लॉन्च किया है। माना जा रहा है कि इससे भारत को चीन के सॉफ्टवेयर बाजार का लाभ उठाने में मदद मिलेगी। नेशनल एसोसिएशन ऑफ सॉफ्टवेयर एंड सर्विसेज कंपनीज (नैसकॉम) ने इसकी जानकारी दी   है। नैसकॉम के अनुसार उसने चीन में एक और डिजिटल कोलाबोरेटिव अपॉर्च्युनिटी प्लाजा की स्थापना की गई है। यह चीन के विशाल बाजार में घरेलू आईटी कंपनियों की पहुंच सुनिश्चित कराने की कोशिश के तहत किया गया है। 

 

 

60 लाख डॉलर का एग्रीमेंट
चीन की गुइयांग म्युनिसिपल गवर्नमेंट ने इंडिया के सर्विस प्रोवाइडर्स और चीन के कस्टमर्स के बीच करीब 60 लाख डॉलर यानी करीब 4000 करोड़ रुपए के एग्रीमेंट की घोषणा की है। नैसकॉम का कहना है कि चीन-भारत डिजिटल कोलाबोरेटिव अपॉर्च्युनिटी प्लाजा के तहत शुरू की गई मुख्य परियोजनाओं को अगले साल तक पूरा कर लिया जाएगा। 
 

दिसंबर 2017 में शुरू हुआ था पहला प्लाजा
नैसकॉम ने चीन के बंदरगाह शहर दालियान में पहला डिजिटल प्लाजा पिछले साल दिसंबर में शुरू किया था, जो चीन में भारत का पहला आईटी हब है। बता दें कि भारत की टॉप आईटी कंपनियों की चीन में बड़ी मौजूदगी है, खासकर मल्टीनेशनल कंपनियों की। दालियान का आईटी कॉरिडोर भारत के छोटे और मध्यम आकार की आईटी फर्म्स के लिए अच्छा प्लेटफॉर्म देता है। 
 

आपसी सहयोग को मिलेगा बढ़ावा
NASSCOM के ग्लोबल ट्रेड डेवलपमेंट के सीनियर डायरेक्टर गगन सबरवाल के अनुसार दालियान कॉरिडोर का फोकस इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IOT) पर था और गुइयांग कॉरिडोर का फोकस बिग डाटा पर रहेगा। उन्होंने कहा कि गुइयांग का प्लेटफॉर्म बिग डाटा के क्षेत्र में भारत और चीन के बीच आपसी सहयोग को बढ़ावा देगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट