Home » Industry » IT-TelecomApple can buy TCS and RIL like 10 companies, Apple market value, Apple has cash in hand

Apple के पास है इतनी दौलत, हाथों-हाथ खरीद ले RIL-TCS जैसी 10 कंपनियां

दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है Apple, मार्केट वैल्यू है 74 लाख करोड़ रु

1 of

 

नई दिल्ली. आईफोन (iPhone) ब्रांड के लिए चर्चित कंपनी एप्पल (Apple) मार्केट वैल्यू के लिहाज से दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी बनी हुई है। गुरुवार को कंपनी ने सितंबर, 2018 में समाप्त तिमाही के नतीजों का ऐलान किया। उसके मुताबिक कंपनी के पास 237 अरब डॉलर कैश (17.58 लाख करोड़ रुपए) और मार्केट वैल्यू 1.07 लाख करोड़ डॉलर (लगभग 74 लाख करोड़ रुपए) है। दिलचस्प है कि उसकी मार्केट वैल्यू इतनी ज्यादा है कि फिलहाल कोई कंपनी उसके आसपास भी नहीं टिकती।

 

एक बार में खरीद सकती है RIL-TCS जैसी 10 कंपनियां

भारत की बात करें तो टाटा ग्रुप की टाटा कंसल्टिंग सर्विसेस (TCS) 7.16 लाख करोड़ रुपए की मार्केट वैल्यू के साथ भारत की सबसे बड़ी कंपनी है। वहीं मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) 6.81 लाख करोड़ रुपए की दौलत के साथ भारत की दूसरी बड़ी कंपनी बनी हुई है।

वहीं ऐप्पल की मार्केट वैल्यू 74 लाख करोड़ रुपए है, जो इतनी ज्यादा है कि इससे एक बार में टीसीएस जैसी 10 और आरआईएल जैसी 11 कंपनियां खरीदी जा सकती हैं।

आगे भी पढ़ें-एप्पल के पास है 237 अरब डॉलर कैश

 

 

 

एप्पल के पास है 237 अरब डॉलर कैश

एप्पल के सितंबर तिमाही के नतीजों पर गौर करें तो कंपनी के पास फिलहाल 237.1 अरब डॉलर (17.58 लाख करोड़ रुपए) कैश मौजूद है। हालांकि पिछली यानी जून, 2018 में समाप्त तिमाही से तुलना करें तो उसके कैश में लगभग 6 अरब डॉलर की कमी दर्ज की गई है, उस समय कंपनी के पास 243.7 अरब डॉलर कैश था। कंपनी के पास मौजूद कैश के चलते ही अक्सर उसके द्वारा कंपनियों के अधिग्रहण की चर्चाएं होती रहती है। वहीं कंपनी ने हाल में कंटेंट क्रिएशन, विकासशील देशों में निवेश किया है।

आगे भी पढ़ें-वारेन बफे एप्पल में लगातार बढ़ा रहे हैं स्टेक

 

 

वारेन बफे एप्पल में लगातार बढ़ा रहे हैं स्टेक

इस साल मई में खबर आई थी कि दुनिया के सबसे बड़े इन्वेस्टर माने जाने वाले वारेन बफे ने मार्च क्वार्टर के दौरान एप्पल के 7.5 करोड़ नए शेयर खरीदे। इसके साथ ही बफे की कंपनी बर्कशायर हाथवे के पास एप्पल के कुल 24 करोड़ शेयर हो गए थे। माना जा रहा है बफे की कंपनी एप्पल की सबसे बड़ी होल्डिंग कंपनी बन गई। मार्केट एक्सपर्ट्स के मुताबिक, स्टॉक के आगे और बढ़ने की संभावनाओं को देखते हुए दुनिया का तीसरा सबसे अमीर शख्स लगातार एप्पल के स्टॉक्स खरीद रहा है।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट