विज्ञापन
Home » Industry » IT-TelecomYou also know how the fate of Palti village is the owners of shares of Rs 4750 crores from the generosity of a billionaire.

एक अरबपति की दरियादिली से इस कस्बे के लोगों के पास है 4750 करोड़ रुपए की है दौलत

अरबपति ने जहां पहली फैक्ट्री लगाई वहां गांव वालों को तोहफे में बांट दिए अपने शेयर

You also know how the fate of Palti village is the owners of shares of Rs 4750 crores from the generosity of a billionaire.

नई दिल्ली. कहते हैं ऊपर वाला जब भी देता है छप्पर फाड़ के देता है। कुछ ऐसा ही हुआ महाराष्ट्र के जलगांव जिले के अमलनेर कस्बे के साथ। यह कस्बा करोड़पतियों से भरा हुआ है। कैसे पलटी इसकी किस्मत? विप्रो के अजीम प्रेमजी की दरियादिली की वजह से। प्रेमजी व उनके पिता ने जब यहां अपनी फैक्ट्री लगाई तो हजारों शेयर गांव वालों को बतौर उपहार बांट दिए। आज मौजूदा बाजार के हिसाब से इन शेयरों की कीमत है 4750 करोड़ रुपए। 2.88 लाख आबादी वाले इस कस्बे में विप्रो कंपनी के करीब तीन प्रतिशत शेयर हैं।
 
सन 70 की है यह कहानी 

दैनिक भास्कर की खबर के मुताबिक अजीम प्रेमजी के पिता ने विप्रो की शुरुआत इसी गांव में फैक्ट्री लगाकर की थी। तब उन्होंने व अजीम ने ज्यादातर शेयर कम कीमत पर या उपहार में दिए थे। अमलनेर में रहने वाले सुनील माहेश्वरी बताते हैं कि उस जमाने में सेठजी ने 100 रुपए अंकित मूल्य वाले शेयर कर्मचारियों, व्यापारियों को बांटे थे। करीब 55 से 60 हजार शेयर बांटे गए थे। उस समय के ज्यादातर कर्मचारियों की अगली पीढ़ियां अब करोड़पति हैं। यहां के अरविंद मुथे को तो पता ही नहीं था कि उनके पिता उनके लिए करोड़ों रुपए के शेयर छोड़ गए हैं। उनके दोस्त ने जब उनका नाम विप्रो की एनुअल रिपोर्ट में शेयरहोल्डर्स की सूची में देखा तो उन्हें इसकी जानकारी दी। डागा परिवार में दो भाई और तीन बहनें हैं और उनके पिता विप्रो के कंज्यूमर प्रोडक्ट्स (बल्ब, साबुन) के एजेंट थे। 1970 के दशक में उनके पास 5 लाख रु. के शेयर थे, जिनकी मौजूदा कीमत 40 करोड़ रुपए के आसपास है। इसके अलावा जो शेयरहोल्डर्स हैं उनमें किसान, किराना दुकान मालिक और सेवानिवृत्त लोग हैं। उस समय कुछ लोगों के लिए 100 रु. जुटा पाना भी मुश्किल था। 2013 में प्रेमजी ने अमलनेर फैक्ट्री का दौरा किया था। उन्होंने हर कर्मचारी को खुद इंडक्शन कुकर दिए थे। 

दुनिया के तीसरे सबसे बड़े दानी हैं प्रेमजी 

दुनिया में 36वें सबसे अमीर व्यक्ति रहे अजीम प्रेमजी ने हाल ही में 34% शेयर दान किए। इससे उनका 80% पैसा कम हुआ, लेकिन वे दुनिया के तीसरे सबसे बड़े दानी बन गए।  ब्रिटेन की वेबसाइट कम्पेयर द मार्केट के अनुसार दान करने के मामले में वॉरेन बफेट (46.6 अरब डॉलर) और बिल गेट्स (41 अरब डॉलर) के बाद तीसरा नंबर माइकल ब्लूमबर्ग (6 अरब डॉलर) का था। अब 21 अरब डॉलर के साथ प्रेमजी तीसरे नंबर पर आ गए हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन