Home » Industry » IT-TelecomWhatsApp Training program

चुनाव आते ही व्हाट्सऐप हुआ अलर्ट, बदनामी से बचने के लिए देने लगा ट्रेनिंग

कोर्ट की फटकार के बाद हुई थी ग्रीवेंस अधिकारी की नियुक्ति

1 of

नई दिल्ली. जल्द ही देश के तीन प्रमुख राज्य राजस्थान, मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ में चुनाव होने जा रहे हैं, जिसे देखते हुए व्हाट्सऐप अलर्ट हो गया है। व्हाट्सऐप को इस बात की चिंता सता रही है कि कहीं उनके जरिए चुनाव के दौरान अफवाहों की दुकान न खुल जाए। कई बार व्हाट्सऐप के जरिए तेजी से अफवाह फैलाई जाती है। व्हाट्सऐप के बेजा इस्तेमाल को रोकने के लिए व्हाट्सऐप ने राजस्थान में एक प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया है।

 

अन्य राज्यों में भी शुरू होंगे प्रशिक्षण शिविर 

व्हाट्सऐप ने डिजिटल एंपावरमेंट फाउंडेशन (डीईएफ) के साथ मिलकर देश के 10 राज्यों में एजूकेशनल वर्कशॉप सीरीज शुरू की है। इमसें बताया गया कि कैसे संदेशों को जिम्मेदारी से भेजा जाएं, जिससे अफवाह फैलाने से रोका जा सके। व्हाट्सऐप की टीम अगले साल मार्च तक पश्चिम बंगाल, असम, कर्नाटक, महाराष्ट्र, त्रिपुरा और झारखंड में इस तरह के प्रशिक्षण शिविर शुरू करेगी।

 

लोगों को जागरुक बनाना उद्देश्य 

व्हाट्सऐप के पब्लिक पॉलिसी मैनेजर Ben Supple ने कहा कि इस तरह के ट्रेनिंग प्रोग्राम का उद्देश्य लोगों को सुरक्षित रखना और हानिकारक अफवाहों के प्रति लोगों को आगाह करना है। इसके लिए लोकल सरकारी प्रशासन, लॉ इन्फोर्समेंट अथॉरिटी, कालेज स्टूडेंट, एनजीओ और अन्य कम्यूनिटी नेताओं की मदद ली जाती है। 

 

आगे पढ़ें

अफवाह फैलने के मामले में राजस्थान रहा सबसे आगे 

 

व्हाट्सऐप  से अफवाह फैलने के मामले में राजस्थान काफी आगे रहा है, जहां व्हाट्सऐप से फैली अफवाह से राजसमंद में एक मुस्लिम मजदूर की हत्या कर दी गई थी। साथ ही राजस्थान में ही पहलू खान की पिछले वर्ष गायों की तस्करी के संदेह में पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। 

 

आगे पढ़ें

 

SC ने लगाई थी फटकार

सुप्रीम कोर्ट की ओर से भी सोशल मीडिया व्हाट्सऐप और फेसबुक को अफवाह फैलने से रोकने का निर्देश दिया था। साथ ही वॉट्सऐप की ओर से शिकायतों के निपटारे के लिए भारत में एक ग्रीवेंस ऑफिसर यानी शिकायत अधिकारी को नियुक्त नहीं करने पर फटकार भी लगाई थी। कोर्ट की फटकार के बाद व्हाट्सऐप की ओर से ग्रीवेंस अधिकारी के तौर पर कोमल लाहिली की नियुक्ति की है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट