बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-TelecomTech in gadgets: मोबाइल हैकिंग में यूज होते हैं ये तरीके, 5 बातें नहीं करें इग्‍नोर

Tech in gadgets: मोबाइल हैकिंग में यूज होते हैं ये तरीके, 5 बातें नहीं करें इग्‍नोर

भारत में जितनी तेजी के साथ मोबाइल बैंकिंग बढ़ी है, उसी तेजी के साथ लोगों के स्‍मार्टफोन पर है‍किंग का खतरा भी बढ़ा है

1 of

नई दिल्‍ली. डिजिटल ट्रांजेक्‍शन पहली बार 100 करोड़ को पार करने वाला है। भारत में बढ़ते डिजिटल ट्रांजेक्‍शन का सबसे बड़ा कारण मोबाइल बैंकिंग है। इसी के दम पर मोदी सरकार ने डिजिटल इंडिया का सपना देखा है। हालांकि जितनी तेजी के साथ मोबाइल पर इंटरनेट यूज बढ़ा है, उसी तेजी के साथ लोगों के स्‍मार्टफोन पर है‍किंग का खतरा भी बढ़ा है। ऐसे में अपने मोबाइल को हैकिंग प्रूफ रखना बेहद जरूरी हो गया है। नहीं तो थोड़ी सी लापरवाही आपको हजारों लाखों को चूना लगा सकती है। टेक इन गैजेट के इस अंक में आज हम कुछ ऐसी ही ट्रिक्‍स के बारे में बाते करेंगे, जिनके जरिए आप अपने स्‍मार्टफोन को हैकर्स से सेफ कर सकते हैं। 

 

अपडेशन को कभी इग्‍नोर नहीं करें-
टेक्‍स एक्‍सपर्ट्स मानते हैं कि मोबाइल में जब भी एप अपडेशन का नोटिफिकेशन आए तो उसे कभी भी इग्‍नोर नहीं करें। दरअसल हर अपडेशन में कंपनियां आपके ऐप को हैकिंग फ्रूफ रखने के फंक्शन को भी अपडेट करती हैं। इससे हैकिंग का खतरा कम हो जाता है। अक्‍सर देखा जाता है कि हैकर हमेशा ऐसे सिस्‍टम या डिवाइस पर ज्‍यादा अटैक करते हैं जिन्‍हें लंबे समय से अपडेट नहीं किया गया हो। 

 

कुछ भी नहीं करें इन्‍सटॉल 
हमेशा जब भी अपनी डिवाइस में कोई नया एप अपलोड करें तो सावधानी बरतें। खासकर उस एप से जुड़ा रिव्‍यू जरूर पढ़ें। कोई भी एप अगर आपकी फाइल पढ़ने, आपका कैमरा यूज करने या आपका माइक्रोफोन सुनने की परमीशन मांगे तो ऐसे एप को अप्रूवल देने से पहले 100 बार सोचें। दरअसल एंड्रॉयड थर्ड पार्टी सोर्से से भी एप इंस्‍टॉल करने की फैसेलिटी देता है। 


शौक नहीं सिक्‍यूरिटी के लिए फोन लॉक करें 
हमेशा अपने फोन में 6 डिजिट के पासवर्ड वाला लॉक रखें। फेस लॉक और फिंगर सेंसर भी बेहतर ऑप्‍शन हैं। किसी भी एंड्रॉयड फोन की फिजिकल एसेसेबिलिटी नहीं होने पर आपका फोन हैंक होने की गुंजाइन कम होती है। 

 

कभी भी ऑन लाइन सर्विस को अनलॉक नहीं करें 
समार्टफोन में अक्‍सर लोग यह गलती करते हैं। ऐसे गलती हमेशा हैकर्स को दावत देती है। कोशिश करें कि अपने फोन में ऑटो लॉगइन से बचें।  साथ ही कोशिश करे करें कि एक से ज्‍यादा एप के लिए हमेशा अलग अलग पासवर्ड यूज करें। 

 

ओपन वाई फाई से बचें 
फ्री इंटरनेट के लिए अक्‍सर लोग रेलवे स्‍टेशन पर या किसी सार्वजनिक जगह पर ओपन वाईफाई का यूज कर लेते हैं। एक्‍सपर्ट मानते हैं कि इससे हैकिंग का खतरा बढ़ जाता है। दरअसल बिना इंटरनेट के किसी सिस्‍टम को हैक नहीं किया जा सकता है और अनसिक्‍योर्ड इंटरनेट हमेशा हैकिंग को दावत देता है। 


 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट