विज्ञापन
Home » Industry » IT-TelecomTRAI clarifies your cable tv will not blackout from 29 December

29 दिसंबर से ब्लैकआउट नहीं होगा आपका टीवी, आते रहेंगे सभी चैनल्स

नई स्कीम में शिफ्ट होने का मिलेगा पूरा मौका

TRAI clarifies your cable tv will not blackout from 29 December
भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने देश के सभी केबल टीवी उपभोक्ताओं को भरोसा दिलाया है कि 29 दिसंबर से आपका टेलीविजन ब्लैक आउट नहीं होगा और पहले की तरह ही सभी चैनल्स आते रहेंगे। केबल टीवी और डीटीएच सेवा की नई स्कीम में शिफ्ट होने के लिए उपभोक्ताओं को पर्याप्त समय दिया जाएगा। ट्राई ने सभी डीटीएच सेवा प्रदाता कंपनियों को आश्वस्त करने के लिए कहा है कि 29 दिसंबर के बाद भी सभी चैनल्स आते रहेंगे।

 

नई दिल्ली।

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने देश के सभी केबल टीवी उपभोक्ताओं को भरोसा दिलाया है कि 29 दिसंबर से आपका टेलीविजन ब्लैक आउट नहीं होगा और पहले की तरह ही सभी चैनल्स आते रहेंगे। केबल टीवी और डीटीएच सेवा की नई स्कीम में शिफ्ट होने के लिए उपभोक्ताओं को पर्याप्त समय दिया जाएगा। ट्राई ने सभी डीटीएच सेवा प्रदाता कंपनियों को आश्वस्त करने के लिए कहा है कि 29 दिसंबर के बाद भी सभी चैनल्स आते रहेंगे।

ट्राई की तरफ से कहा गया है कि टेलीविजन पर इन दिनों विभिन्न चैनल्स की तरफ  से यह विज्ञापन दिखाया जा रहा है कि इन चैनल्स को देखने के लिए 29 दिसंबर से पहले अपने आपरेटर्स से संपर्क करें, नहीं तो आप यह चैनल नहीं देख पाएंगे। ट्राई के मुताबिक ऐसी स्थिति में उपभोक्ताओं के बीच यह भ्रांति फैल गई है कि अगर वे अपने केबल आपरेटर्स या डीटीएच प्रदाता कंपनी से संपर्क नहीं कर पाते हैं तो उनका टीवी 29 दिसंबर से ब्लैक आउट हो जाएगा।

ट्राई ने बुधवार को इस मामले में अधिसूचना जारी कर सभी उपभोक्ताओं को निश्चिंत रहने का भरोसा दिया है। ट्राई ने कहा है कि नई स्कीम के तहत अपने चैनल्स का चुनाव करने के लिए उपभोक्ताओं को पर्याप्त समय दिया जाएगा और ट्राई इस काम के लिए अलग से समय सीमा निर्धारित करेगा।

नई स्कीम के तहत सभी उपभोक्ताओं को अपनी मर्जी के मुताबिक के चैनल्स चुनने का अधिकार होगा और आपरेटर्स उनसे उस चैनल्स के मुताबिक शुल्क लेंगे। अभी टीवी उपभोक्ताओं को कई ऐसे चैनल्स भी लेने पड़ते हैं जिसकी उनको जरूरत नहीं होती है, लेकिन बुके में शामिल होने की वजह से उन्हें ऐसा करना पड़ता है। नई स्कीम के लागू होने से उपभोक्ता पहले के मुकाबले आधे दाम में अपनी पसंद के चैनल्स देख पाएंगे। हालांकि डीटीएस सेवा देने वाली कंपनियां किसी भी तरीके से ट्राई के इस फैसले को टालना चाहती है। लेकिन अब उनके पास कोर्ट में भी जाने का चारा नहीं है। इस साल अक्टूबर के अंत में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के आधार पर ही उपभोक्ताओं को नई स्कीम में शिफ्ट किया जा रहा है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन