विज्ञापन
Home » Industry » IT-TelecomSamsung CEO DJ KOH About His Roadmap In Indian Market

Samsung CEO ने भारत में फोल्डेबल फोन की लॉन्चिंग को लेकर किया बड़ा खुलासा

कहा- रिवेन्यु के मामले में भारत में Xiaomi से आगे हैं हम

Samsung CEO DJ KOH About His Roadmap In Indian Market

Samsung CEO DJ KOH About His Roadmap In Indian Market: चीनी कंपनियों से मिलने वाली चुनौती के बाद भी सैमसंग मजबूती से भारत के इलेक्ट्रॉनिक बाजार में अपने पैर जमाए हुए है। कंपनी के आगे क्या प्लान हैं और भारतीय ग्राहकों के लिए कंपनी कौन सी नई तकनीकों पर काम कर रही है, इसके बारे में कंपनी के आईटी और मोबाइल कम्युनिकेशंस के प्रसिडेंट और सीईओ Dj Koh ने मनी भास्कर से बातचीत की।

नई दिल्ली.

दुनिया की दिग्गज मोबाइल कंपनियों में शामिल कोरियाई कंपनी Samsung के लिए भारत एक प्रमुख बाजार है। चीनी कंपनियों से मिलने वाली चुनौती के बाद भी सैमसंग मजबूती से भारत के इलेक्ट्रॉनिक बाजार में अपने पैर जमाए हुए है। कंपनी के आगे क्या प्लान हैं और भारतीय ग्राहकों के लिए कंपनी कौन सी नई तकनीकों पर काम कर रही है, इसके बारे में कंपनी के आईटी और मोबाइल कम्युनिकेशंस के प्रसिडेंट और सीईओ Dj Koh ने मनी भास्कर से बातचीत की। पेश हैं इस इस इंटरव्यू के कुछ अंश-

 

सवाल: चीन में सैमसंग के मार्केट शेयर तेजी से गिरे थे, ठीक वैसे ही भारत में भी ऐसा ट्रेंड देखने को मिल रहा है। ऐसा होने की कोई खास वजह?

-आपको यह समझना चाहिए कि चीन और भारत दो अलग बाजार हैं। हमारे पार्टनर-स्ट्रक्चर और ऑर्गेनाइजेशन, सेल्स और रिटेल मार्केट सब कुछ अलग है। भारत में हमारे तकरीबन 1,78,000 आउटलेट हैं, जो सिर्फ Samsung के प्रोडक्ट हैंडल करते हैं और लंबे अरसे से भारत के साथ काम कर रहे हैं। इसमें लोकल रिटेलर भी शामिल हैं। इतना ही नहीं बेंगलुरु में कोरिया के बाद सैमसंग का दुनिया का सबसे बड़ा R&D फैसिलिटी सेंटर है। वहीं नोएडा में दुनिया की सबसे बड़ी मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी है। चीन में हमें जो चुनौती मिली, उसकी वजह से मैं खुद भारत आया जिससे समझ सकूं कि कस्टमर्स क्या चाहते हैं। मैंने फोन्स का लाइनअप चेंज कर दिया। भारतीय ग्राहकों की जरूरतों पर खरा उतरने के लिहाज से पिछला साल काफी मुश्किल था।

 

भारत में हमने जनवरी में M Series (M10 और M20) लॉन्च किया और चंद ही मिनटों में काफी बड़ी संख्या में मोबाइल फोन बेचे। भारतीय आबादी टेक-सैवी मिलेनियल्स की है। इसलिए हम न सिर्फ नई तकनीकें पेश कर रहे हैं, बल्कि उन्हें सबसे पहले भारतीयों के लिए लॉन्च कर रहे हैं। Galaxy M Series सबसे पहले भारत में लॉन्च होने वाली पहली डिवाइस थी। हम भारत में सफलता के नए आयाम गढ़ रहे हैं और हम इसे जारी रखेंगे। भारतीय कस्टमर्स काफी समझदार हैं और वे अच्छे प्रोडक्ट को जल्द अपना लेते हैं। वे हमारे प्रोडक्ट्स की वैल्यू को पहचान लेते हैं।

 

 

भारत के लिए आपका रोडमैप क्या है?

-अगर कंपोनेंट्स की बात की जाए तो हमारे पास 10 साल का रोडमैप है या कम से कम 5-7 साल का रोडमैप है। इसमें हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर और सर्विस शामिल हैं। हालांकि, प्रोडक्ट्स की बात करें तो, जब हम लॉन्ग टर्म प्लान बनाते हैं तो इसमें कई 6 महीने से एक साल तक का समय लगता है। लगभग हर महीने भारत में सैमसंग की टीम और कई बार कोरिया की टीम भी भारतीय कस्टमर्स और हमारे पार्टनर्स से मिलकर उनका फीडबैक लेती है। इन मिटिंग्स के बाद रोडमैप में बदलाव किए जाते हैं। लेकिन प्रोडक्ट के हिसाब से हमारे पास तकरीबन 18 महीने का रोडमैप होता है। कंपोनेंट के हिसाब से राेडमैप तीन से सात साल का होता है। यानी कि प्रोडक्ट की डिलिवरी कब तक होनी है इसके लिए हमारे पास पहले से तैयार रोडमैप होता है, लेकिन इस रोडमैप को परिस्थिति और कॉम्पटीशन के हिसाब से बदला जा सकता है।

 

भारत में फोल्डेबल डिवाइस कब आ रही है?

-फिलहाल मैं S10 पर फोकस करना चाहता हूं। लेकिन जैसा मैंने पहले ही कहा है कि भारतीय बाजार मेरे लिए बहुत जरूरी है। ऐसे में मैं अपना सबसे नया तकनीकी आविष्कार क्यों लॉन्च नहीं करूंगा।

 

क्या भारतीय बाजार 5G के लिए तैयार है?

हम फिलहाल यहां की सर्विस प्रोवाइडर कंपनियों और डाटा कैरियर्स के साथ काम कर रहे हैं। वे कितनी जल्दी इसमें आगे बढ़ते हैं। सैमसंग सभी 5G फ्रीक्वेंसी को सपोर्ट करने के लिए तैयार है।

 

भारतीय बाजार में क्या मौके और चुनौतियां देखते हैं आप?

-भारत में हमारे बिजनेस पार्टनर और भारतीय उपभोक्ता हमारे लिए मौकों की तरह हैं। भारतीय उपभोक्ताओं को नई तकनीकी का इंतजार रहता है। हमारे पार्टनर्स के साथ हमारा जो मजबूत और भरोसेमंद रिश्ता है, वही हमारे लिए सबसे बड़ा मौका है। अगर रिस्क की बात की जाए तो मार्केट में हमारे जो भी प्रतिद्वंदी हैं, वही हमारे लिए चुनौती हैं। लेकिन अगर कुछ ऐसा है जो हम उनसे सीख सकते हैं तो हम जरूर सीखते हैं। अगर प्रतिद्वंदी हमसे तेज हैं और अगर लोकल कस्टमर्स में उनकी अच्छी पकड़ है तो यह हमारे लिए बड़ा खतरा है। यही वजह है कि मैं मानता हूं, ‘अगर मैंने झपकी भी ली तो मैं मर जाऊंगा।’ इसलिए मैं दिन में कभी भी झपकी नहीं लेता हूं।

 

भारत में Xiaomi नंबर 1 है और Samsung नंबर 2 है। दोनों के बीच में 3-4 फीसदी का फर्क है। इस बारे में आपका क्या कहना है?

Xiaomi देश में नंबर 1 है शिपमेंट के मामले में, लेकिन अगर रेवेन्यु की बात की जाए तो Samsung ही भारत में नंबर 1 है। न सिर्फ पिछले साल की आखिरी तिमाही में, बल्कि 2018 से लगातार सैमसंग देश में नंबर 1 है। शिपमेंट के लिहाज से भी हम सैमसंग को नंबर 1 करना चाहते हैं।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन