विज्ञापन
Home » Industry » IT-TelecomRCom and Jio end sale agreement by mutual consent

Reliance Jio को नहीं बेची जाएंगी RCom की संपत्तियां, अनिल अंबानी ने रद्द किया सौदा

अब NCLT के जरिए होगा RCom के ऋण का निपटान

RCom and Jio end sale agreement by mutual consent

RCom and Jio end sale agreement by mutual consent:  दूरसंचार क्षेत्र में चल रही गलाकट प्रतिस्पर्धा के कारण उद्योगपति अनिल अंबानी की भारी आर्थिक संकट में फंसी टेलीकॉम कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशंस ग्रुप (आर कॉम) ने अपनी कुछ टेलीकॉम संपत्तियों को अरबपति मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो को बेचने का समाप्त कर दिया है।

नई  दिल्ली। दूरसंचार क्षेत्र में चल रही गलाकट प्रतिस्पर्धा के कारण उद्योगपति अनिल अंबानी की भारी आर्थिक संकट में फंसी टेलीकॉम कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशंस ग्रुप (आर कॉम) ने अपनी कुछ टेलीकॉम संपत्तियों को अरबपति मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो को बेचने का समाप्त कर दिया है। अब आरकॉम के ऋण का निपटान राष्ट्रीय कंपनी कानून न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) के जरिए ही होगा। 

आपसी सहमति से रद्द किया गया सौदा

आरकॉम समूह ने सोमवार को बताया कि आपसी सहमति से इस सौदे को रद्द किया गया है। उसने कहा है कि सौदे की शर्तों के अनुरूप इसके पूरा नहीं होने के कारण इसे रद्द किया गया है। करीब 15 महीने में भी सौदे पूरे नहीं हो सके हैं।  उसने कहा कि आर कॉम को उसके 40 देशी-विदेशी ऋणदाताओं से अब तक अनापत्ति प्रमाण पत्र नहीं मिला है। इसके लिए 45 बैठकें हुई है। दूरसंचार विभाग ने भी अब तक अनुमति नहीं दी है। उसने कहा कि गत एक फरवरी को कंपनी के बोर्ड की हुई बैठक में सभी ऋण का निपटान एनसीएलटी से कराने का निर्णय लिया गया था। इसके लिए चार फरवरी 2019 को मुंबई में एनसीएलटी से अपील की जा चुकी है। एनसीएलटी ने कंपनी की सभी चल-अचल संपत्तियों की बिक्री या हस्तांतरण पर रोक लगा दी है। अब एनसीएलटी में अगली सुनवाई आठ अप्रैल को होगी।  

आरकॉम और रिलायंस जियो के बीच हुए थे दो करार

आपको बता दें कि अनिल अंबानी की आर कॉम समूह की कंपनियों- आरकॉम, आरटीएल और आरआईटीएल- ने मुकेश अंबानी की दूरसंचार कंपनी रिलायंस जियो को अपनी संपत्ति बेचने के लिए 28 दिसंबर 2017 और 11 अगस्त 2018 को दो करार किए थे। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन