Home » Industry » IT-TelecomOnePlus 6T smartphone review

प्रीमियम सेग्मेंट का गेम चेंजर साबित हो सकता है वनप्लस 6टी

स्क्रीन में ही इनबिल्ट है फिंगरप्रिंट स्कैनर

OnePlus 6T smartphone review

नई दिल्ली. वनप्लस ने तकरीबन अब हर साल 2 फोन लॉन्च करने का पैटर्न बना लिया है। इसमें से एक सिंपल और दूसरा टी सेग्मेंट का होता है। हाल ही में वनप्लस ने वनप्लस 6टी लॉन्च किया। हमने इसे परखा। आइए जानते हैं कि क्या यह वाकई है सब पर भारी

लुक्स और डिजाइन
जहां तक बात लुक्स और डिजाइन की है तो पहली नजर में यह वनप्लस 6 जैसा ही नजर आता है। लेकिन जब हम इसे इस्तेमाल करना शुरु करते हैं तो बड़े बदलाव सामने आते हैं। सबसे पहला बदलाव यह है कि पिछले हिस्से का फिंगरप्रिंट सेंसर नदारद है। अब फिंगरप्रिंट स्कैनर स्क्रीन पर है। इसके अलावा नॉच का साइज बहुत कम हो गया है। पूरी नॉच की जगह अब वॉटर ड्रॉप नाच है जो देखने में डिस्प्ले को काफी खूबसूरत लुक देता है। बैक फिनिश पहले की ही तरह ग्लास की है और बेहतरीन प्रीमियम लुक देती है।

परफॉर्मेंस
परफॉर्मेंस के मामले में इसे यह हर लिहाज से वनप्लस 6 से दो कदम आगे है। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं कि वनप्लस एक तरह से खुद के साथ ही रेस में है क्योंकि फीचर्स और प्राइसिंग के लिहाज से इसके आसपास कोई फोन नजर नहीं आता। वनप्लस 6टी में पहला बदलाव इसके डिस्प्ले में दिखता है। सुपर एमॉल्ड डिस्प्ले का साइज अब 6.41 इंच हो गया है और इसका क्रेडिट जाता है वॉटर ड्रॉप डिस्प्ले को। इसकी वजह से यह फोन उन लोगों को जरूर भाएगा जो मोबाइल पर मूवीज और गेमिंग ज्यादा करते हैं।
 

सिक्योरिटी फीचर

इसके बाद बारी आती है स्क्रीन में ही इनबिल्ट फिंगरप्रिंट स्कैनर की। वैसे तो पहले भी कुछ कंपनियां इस तरह का फिंगरप्रिंट डिस्प्ले ला चुकी हैं लेकिन वनप्लस 6टी ने इसे दूसरे लेवल पर पहुंचाया है। यह बहुत ही तेजी से फिंगरप्रिंट को स्कैन करता है। अब तक हमें इनबिल्ट फिंगरप्रिंट स्कैनर में ऐसा परफॉर्मेंस पहले कभी देखने को नहीं मिला। इसके अलावा फेस अनलॉक टेक्नॉलजी में वनप्लस पहले ही एक्सपर्ट हो चुका है। वनप्लस 6 की तरह इसमें भी फेस अनलॉक परफेक्ट है।
 

प्रोसेसर

इसका क्वॉलकॉम स्नैपड्रैगन 845 प्रोसेसर इसे न सिर्फ तेजी देता है बल्कि बैटरी परफॉर्मेंस को भी ऑप्टिमाइज करता है। इस बार बेस मॉडल में ही 6 जीबी रैम के साथ 128 जीबी की मेमरी है। वनप्लस 6 में यह बेस मॉडल में मेमरी की शुरुआत 64 जीबी से होती थी। फोन में न तो फोटो खींचते वक्त और न गेमिंग के वक्त किसी तरह का लैग नजर नहीं आया।

 

आगे पढ़ें-

कैमरा और बैटरी
इस फोन में कंपनी ने कैमरे को वनप्लस 6 से आगे ले जाने की कोशिश की है। जिसमें वह सफल भी हुई है। डुअल कैमरे से तस्वीरें अब बेहतर ली जा सकती है। सबसे बड़ा बदलाव पोट्रेट और नाइट शॉट्स में नजर आया। पोट्रेट में जहां डेप्थ ज्यादा नजर आती है और बुके इफेक्ट काफी अच्छा दिखता है वहीं नाइट शॉट में काफी लाइट कैप्चर होती है। कैमरे के सेंसर को बेहतर किया गया है जो हर शॉट में नजर आता है।
वैसे तो वनप्लस6 में बैटरी बेहतर परफॉर्म करती थी लेकिन लगता है कंपनी को बैटरी को लेकर लोगों की चिंता ज्यादा समझ में आई है इसलिए उसने वनप्लस6टी में 3700 एमएएच की बैटरी दी है। इसकी वजह से एक बार चार्जिंग से फोन 36 घंटे तो हर हाल में टिका रहता है। रही-सही कमी फोन का फास्ट चार्जिंग ऑप्शन कर देता है। आधे घंटे के चार्ज में ही यह पूरे दिन चलने लायक चार्ज दे देता है।

 

आगे पढ़ें-

क्यों खरीदें
अगर आपको एक प्रीमियम स्मार्टफोन चाहिए और इसके लिए आप सैमसंग, गूगल या एपल का फोन नहीं खरीद सकते तो यह आपकी पहली पसंद बन सकता है। इसमें तकरीबन वह सभी खूबियां हैं जो सैमसंग एस 9 और एपल एक्स या गूगल पिक्सल 3 जैसे फोंस में 70 हजार से 1 लाख रुपये में मिल रही हैं। 

 

क्यों न खरीदें
अगर आपके पास पहले ही वनप्लस 6 है तो इसे खरीदने का कोई मतलब नहीं बनता क्योंकि इसमें कोई बड़ा बदलाव नहीं है। कंपनी चूंकि हर साल अपने पुराने मॉडल को अपग्रेड कर देती है ऐसे में अपने लॉयल कस्टमर्स के लिए उन्हें बायबैक की स्कीम जरूर लानी चाहिए जिससे नए डिवाइस पर स्विच करना आसान हो जाए।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट