विज्ञापन
Home » Industry » IT-TelecomHow to report a Banking Frauds

बैंकिंग फ्रॉड होने पर ऐसे करें शिकायत, वापस मिलेंगे पूरे पैसे, जानिए इसका पूरा प्रोसेस 

देश में डिजिटल लेनदेन बढ़ने से बैंकिंग फ्रॉड का खतरा काफी बढ़ गया है।

1 of

नई दिल्ली. देश में पिछले कुछ वर्षों में डिजिटल लेनदेन बढ़ा है। ऐसे में कुछ लोगों ने इसे अपराध का नया तरीका बना लिया है, जो एटीएम कार्ड की जानकारी चुराकर बैंकिंग फ्रॉड जैसी घटनाओं को अंजाम दिया जाता है। इसके लिए एटीएम की जानकारी को एटीएम मशीन में या उस रुम में लगे इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की मदद से जैसे कार्ड स्कैमर, कीपैड कैमरा हासिल कर लिया जाता है। हम बता रहे हैं कि आखिर इन तरह के फ्रॉड की कहां शिकायत करें और कैसे पैसा वापस लिया जा सकता है। 

 

कब, कैसे और कहां करें शिकायत

बैंकिंग धोखाधड़ी का शिकार व्यक्ति इस तरह के मामलों की शिकायत क्रिमिनल और सिविल में से कहीं भी कर सकता है। क्रिमिनल के प्रारूप में अपराधी को 'सूचना तकनीक अधिनियम 2002 की धारा 66 C और 66 D के अंतर्गत अपराधी माना जायेगा, जबकि सिविल में बैंक ग्राहक के पैसों को वापस करता है। 
 

कहां दर्ज़ करें शिकायत

  • आऱबीआई के नियम के अनुसार बैंक में अपनी शिकायत तीन कार्य दिवस के अंदर दर्ज़ करवानी होगी। अगर धोखाधड़ी य अवैध लेन-देन उपभोक्ता की लापरवाही से हुआ है, तो भी ग्राहक को बैंक की तरफ से दिया जाएगा। 
  • अगर उपभोक्ता का पैसा किसी व्यक्ति की ओर से एटीएम से निकाल लिया जाता है, और उपभोक्ता इसकी शिकायत तीन कार्य दिवस के बाद लेकिन सात कार्य दिवस के अंदर दर्ज़ करवाता है, तो 'एटीएम से निकाले गए पैसे' और RBI के नियम के आधार पर जो रक़म कम होगी, वो पैसा बैंक की ओर से ग्राहक को दिया जाता है। 
  • अगर उपभोक्ता अपनी शिकायत सात कार्य दिवस के बाद दर्ज करवाता है, तब उसे कितना पैसा बैंक देगा। यह 'बैंक के बोर्ड की मंजूरी नीति' तय करेगा।  ग्राहक अपनी शिकायत उसी बैंक में दर्ज़ कर सकते हैं, जिसमें उनका खाता खुला हुआ है, न कि उस बैंक में जिसके एटीएम से अवैध लेन-देन किया गया है। 

ऑनलाइन दर्ज करें शिकायत 

बैंक की वेबसाइट पर जा कर अपनी शिकायत ऑनलाइन दर्ज कर सकते हैं। जिसके बाद बैंक ग्राहक को SMS, Email से आगे की कार्रवाई की जानकारी देता है।। RBI के नियम के अनुसार ग्राहक को बैंक की ओर से भुगतान दस कार्य दिवस के अंदर कर दिया जाता है। 

 

अन्य माध्यमों का लिया जा सकता है सहारा 

अगर बैंक ग्राहक की शिकायत नहीं करके बैंक लोकपाल में अपनी शिकायत दर्ज़ करा सकता है। बैंक लोकपाल के आदेश की अपील तीस दिनों के अंदर आरबीआई के डिप्टी गवर्नर के समक्ष पेश की जा सकती है। इसके बाद ग्राहक उच्च न्यायालय जाने के लिए स्वतंत्र होता है। 

 

 

साइबर सेल में दर्ज करें शिकायत 

उपभोक्ता अपनी प्रथम सूचना रिपोर्ट पुलिस की साइबर सेल में दर्ज़ करवा सकता है। इस प्रकार की साइबर सेल लगभग सभी शहरों एवं महानगरों में बनायी जा चुकी हैं। उपभोक्ता अपनी शिकायत देश की किसी भी साइबर सेल में कर सकता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन