विज्ञापन
Home » Industry » IT-TelecomUnique library for social media control

​जम्मू-कश्मीर में पथरबाजी और अफवाहों पर लगेगी लगाम, बन रही एक विशेष प्रयोगशाला

सोशल मीडिया के सहारे अफवाह फैलाने वाले आएंगे रडार में

1 of

नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर पुलिस सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों की निगरानी के लिए विशेष प्रयोशाला खोलेगी। इस प्रयोगशाला के जरिए पुलिस को सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही विवादित सामग्री की जांच करने एवं उसे रोकने में मदद मिलेगी।  पुलिस सूत्रों के मुताबिक इन दिनों लोग सोशल मीडिया का काफी इस्तेमाल करने लगे हैं, ऐसे में कई शरारती तत्व सोशल मीडिया के सहारे अफवाहें फैलाने तथा शांति भंग करने की कोशिशों में लगे रहते हैं। 

 

सोशल मीडिया से अफवाह फैलाने वाले आएंग रडार में 

इस प्रयोगशाला के जरिए पुलिस सोशल मीडिया पर डाली जाने वाले आपत्तिजनक सामग्री या किसी भी तरह के विवादित चित्र को पोस्ट करने वाले व्यक्ति को आसानी से पकड़ सकती है। इतना ही नहीं कोई भी व्यक्ति ऐसी किसी भी सामग्री या विवादित चित्र को सोशल मीडिया पर आगे बढ़ाता है तो विशेष प्रयोगशाला की निगरानी रखने वाले अधिकारी तुरंत उस व्यक्ति की पहचान कर उसे पकड़ लेंगे।

साइबर सेल संचालित करेगी प्रयोगशाला

जम्मू कश्मीर की विशेष प्रयोगशाला जम्मू-कश्मीर पुलिस के साइबर सेल द्वारा संचलित होगी और इस प्रयोगशाला में तकनीकी रूप से ध्वनि और उच्च तकनीक वाले उपकरणों को संभालने में विशेष अधिकारी ही शामिल होंगे। इसके अलावा पुलिस विभाग सोशल मीडिया पर अफवाहों को रोकने के लिए वॉट्सअप नंबर जारी करने पर विचार कर रही है, जिसके द्वारा किसी भी व्यक्ति के पास विवादित पोस्ट आने पर वह उस नंबर पर वॉट्सअप करके शिकायत दर्ज करा सकता है। 

 

 

हिंसा पर लग सकेगी रोक 

जम्मू कश्मीर में सोशल मीडिसा से अफवाह पुलिस विभाग के लिए सरदर्द बना हुआ है। अफवाह की वजह से प्रदेश में हिंसा और पथरबाजी की घटनाएं हुई हैं। इनमें जानमाल का नुकसान हुआ है।  ऐसे में जम्मू कश्मीर पुलिस ने इसकी काट के लिए एक विशेष प्रयोगशाला बनाने का निर्णय लिया है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss