बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-Telecomभारत बना दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल प्रोड्यूसर, चीन अभी भी नंबर वन

भारत बना दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल प्रोड्यूसर, चीन अभी भी नंबर वन

भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल प्रोड्यूसर देश बन गया है।

1 of

नई दिल्‍ली. भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल प्रोड्यूसर देश बन गया है। चीन अभी भी पहले नंबर पर है। इंडियन सेल्युलर एसोसिएशन (ICA) की ओर से टेलिकॉम मिनिस्‍टर मनोज सिन्हा और आईटी मिनिस्‍टर रवि शंकर प्रसाद के साथ साझा की गई जानकारी के अनुसार, भारत ने हैंडसेट प्रोडक्‍शन में वियतनाम को पीछे छोड़ दिया है। 

 

 

आईसीए के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज महेंद्रू ने दोनों केंद्रीय मंत्रियों को 28 मार्च को लेटर खिला। इसमें महेंद्रू ने कहा, ''हमें यह जानकारी साझा करते हुए खुशी है कि भारत सरकार, आईसीए और एफटीटीएफ के प्रयासों से भारत संख्या के लिहाज से दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल प्रोड्यूसर देश बन गया है।'' आईसीए ने मार्केट रिसर्च फर्म IHS, चीन के नेशनल ब्‍यूरो ऑफ स्‍टेस्टिटिक्‍स और वियतनाम के जनरल स्‍टेटिस्टिक्‍स ऑफिस से उपलब्ध आंकड़ों का हवाला दिया है। 

 

भारत में 1.1  करोड़ हुआ मोबाइल प्रोडक्‍शन 
आईसीए के आंकड़ों के अनुसार, देश में मोबाइल फोन का सालाना प्रोडक्‍शन 2014 में 30 लाख यूनिट था। यह 2017 में बढ़कर 1.1 करोड़ यूनिट हो गया है। भारत, वियतमान को पछाड़कर 2017 में दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल फोन उत्पादक देश बन गया है। देश में मोबाइल फोन प्रोडक्‍शन बढ़ने के साथ इनका इम्‍पोर्ट भी घटकर 2017-18 में आधे से कम रह गया है। महेंद्रू ने बताया कि घरेलू मार्केट में सीबीयू (कम्प्लिटली बिल्‍ड यूनिट) की हिस्‍सेदारी 2014-15 के 78 फीसदी से गिरकर 2017-18 में 18 फीसदी रह गई है। 
 
2019 तक 50 करोड़ प्रोडक्‍टशन का लक्ष्‍य 
इलेक्ट्रॉनिक्स एवं आईटी मिनिस्‍ट्री के तहत फास्ट ट्रैक टास्क फोर्स (FTTF) ने 2019 तक मोबाइल फोन प्रोडक्‍शन 50 करोड़ यूनिट तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा है, जिसका अनुमानित वैल्‍यू करीब 46 अरब डॉलर होगी। एफटीटीएफ में इंडस्‍ट्री और सरकार के सदस्‍य हैं। एफटीटीएफ ने मोबाइल फोन प्रोडक्‍शन में ग्रोथ के चलते 8 अरब डॉलर का कम्‍पोनेंट मैन्‍युफैक्‍चरिंग का टारगेट रखा है। साथ ही इससे 2019 तक 15 लाख डायरेक्‍ट और इनडायरेक्‍ट नौकरियां पैदा होंगी। 

 

 

आगे पढ़ें... मोबाइल फोन एक्‍सपोर्ट का क्‍या है टारगेट

 

12 करोड़ फोन एक्‍सपोर्ट का है लक्ष्‍य 
महेंद्रू ने बताया कि एफटीटीएफ ने अगले साल के आखिर तक 12 करोड़ मोबाइल फोन के एक्‍सपोर्ट का टारगेट रखा है। इनकी अनुमानित वैल्‍यू 15 लाख डॉलर होगी। उनका कहना है कि जैसे-जैसे हम एक्‍सपोर्ट पर सही दिशा में फोकस बढ़ाएंगे, हम इन नंबर्स को हासिल करने में सक्षम होंगे। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट