बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-TelecomTech in gadgets: Gmail में हो गए हैं 15 बदलाव, जानें और अपनाएं

Tech in gadgets: Gmail में हो गए हैं 15 बदलाव, जानें और अपनाएं

नए Gmail में आप ऑटो रिप्‍लाई कर सकते हैं। साथ ही किसी मैसेज को एक निश्चित समय बाद डिलीट कर सकते हैं....

1 of

नई दिल्‍ली। अपनी फेमस मेलिंग सर्विस Gmail में नए बदलाव के साथ गूगल एक बार फिर से उपभोक्‍ताओं के सामने हाजिर है। गूगल ने इस बार बुनियादी लेआउट की जगह नए फीचर्स जोड़ने पर जोर दिया है। गूगल ने इससे पहले 2013 में Gmail में  बदलाव किए थे। इस हिसाब से देखें तो करीब 5 साल बाद Gmail एक बार फिर से नए बदलाव के साथ हाजिर है। गूगल का दावा है कि इस बार उसका फोकस यूजर्स को ज्‍यादा सिक्‍युरिटी और फीचर देने पर रहा है। Tech in gadgtets के इस अंक में आज हम Gmail के फीचर्स में हुए इन्हीं बदलावों के बारे में जानने की कोशिश करेंगे। साथ ही यह भी जानेंगे कि आखिर ये नए फीचर्स आपको कैसे मिलेंगे।

 

Gmail में हुए 15 बदलाव 
गूगल का दावा है कि उसने Gmail के फीचर्स में करीब 15 बदलाव किए हैं। एक तरीके से इसे Gmail का तीसरा अवतार भी कहा जा सकता है। पहले अवतार में Gmail का बेसिक एचटीएमएल वर्जन है, जहां यूजर्स को जीमेल के बेसिक फीचर्स मिलते हैं। दूसरे अवतार में कंपनी ने Gmail में एडवांस फीचर जोड़े और डेस्‍टकॉप वर्जन के साथ हैंगआउट को मर्ज जैसे प्रयोग किए गए। अब तीसरे वर्जन में ऑटो रिप्‍लाई  समेत छोटे-बड़े करीब 15 बदलाव किए गए हैं। हालांकि यहां हम सभी की जगह बड़े बदलावों की चर्चा करेंगे। कंपनी ने तीसरे अवतार को new Gmail का नाम दिया है।   
 
 

कंपनी ने किए ये बड़े बदलाव 

 

नंबर-1: कॉन्फिडेंशियल मोड

क्‍या है खास: इसके तहत सेंडर एक संवेदनशील ईमेल भेज कर उसकी एक्सपायरी डेट सेट कर सकता है। यानी आप चाहें तो ईमेल को पूरी तरह से वापस भी ले सकते हैं। एक्‍सपायरी डेट खत्‍म होने के बाद ये मैसेज सामने वाले के इनबॉक्‍स से अपने आप खत्‍म हो जाएगा। टेक एक्‍सपर्ट विनीत रूपानी के मुताबिक, गूगल संवेदनशील कॉन्टेंट को सीधे न भेजकर इस कॉन्टेंट का लिंक भेजता है। जिसे रिसीवर जीमेल के जरिए ओपन कर सकता है। इस फीचर के साथ ये भी कहा गया है कि इसमें फोन पर ओटीपी भी भेजा जाएगा। इसमें ईमेल भेजने वाले को यह अधिकार है कि वो कभी भी मेल को वापस ले सकता है। 

 

नंबर-2: पुश नोटिफिकेशन होंगे कम

क्‍या है खास:  गूगल का कहना है कि यह जीमेल यूजर्स के लिए 97 फीसदी तक पुश नोटिफिकेशन्स को कम कर देगा। जीमेल सिर्फ वैसे ईमेल की ही नोटिफिकेशन भेजेगा, जो आपको लिए जरूरी हैं। 

 

नंबर-3 : ऑफलाइन यूज
क्‍या है खास: यूजर को 90 दिन तक ऑफलाइन ईमेल की सुविधा मिलेगी। इंटरनेट न होने की स्थिति में भी आपको वैसा ही जीमेल यूजर इंटरफेस मिलेगा, जैसा ऑनलाइन होता है। यानी अगर इंटरनेट चला गया है, तो भी आप जीमेल के यूजर इंटरफेस पर काम कर कर सकते हैं। दरअसल जीमेल आपकी ऑफाइल एक्टिविटी को सिंक कर लेगा और जैसे ही इंटरनेट आएगा, ऑफलाइन मोड पर किए गए सारे काम आपको दिखाई दें। ये उन देशों में काफी कारगर हो सकता है जहां इंटरनेट की कीमतें ज्‍यादा हैं। 

 

नंबर-4:  मेल का जवाब देने की जरूरत नहीं 
क्‍या है खास:  जीमेल यूजर्स को मेल का जवाब टाइप करने की जरूरत नहीं होगी। ‘थैंक्यू’, ‘लेट्स गो’ जैसे जवाब आपको प्री-टाइप्ड जवाबों के परामर्श में मिलेंगे। इससे आपके समय में बचत होगी।

 

नंबर-5:  स्‍नूज के जरिए मेल को बढ़ाएं आगे  

क्‍या है खास: स्नूज का नया फीचर भी जोड़ा गया है यूजर अपने अपने मेल को लिस्‍ट कर सकता है। आप किसी भी अनचाहे मेल को आगे बढ़ा सकते हैं। यानी आप किसी मेल को अभी नहीं देखना चाहते तो उसे डेट और टाइम फिक्स कर जब आपको देखना हो उसे आगे बढ़ा सकते हैं। 

 

 

नंबर-6:  टूल्स के विजुअल अपडेट
क्‍या है खास: नए डिजाइन के जीमेल में दाईं तरफ अब आपको एक साइड पैनल दिखाई देगा। इसमें कैलेंडर, गूगल कीप और गूगल टास्क जैसे टूल्स होंगे। इसे आप यहीं से यूज कर सकते हैं। यहां से मीटिंग ऑर्गनाइज करना, डे प्लान करने जैसी सुविधाएं आसान हो जाएंगी। पहले ये सुविधाएं गूगल के टूल बॉक्‍स में मिलती थीं। 


 

कैसे मिलेंगे नए फीचर्स 
इन फीचर का इस्तेमाल करने के लिए यूजर्स के पास नोटिफिकेशन आएगा। उसमें उन्‍हें ‘ट्राई द न्यू जीमेल’ चुनने का ऑप्‍शन दिया जाएगा। ओके करने के बाद नए डिजाइन वाला जीमेल उनकी आईडी में एक्टिव हो जाएगा। यूजर अगर दोबारा अपने पुराने जीमेल विंडो को वापस पाना चाहता है तो उसे 'गो बैक टू क्लासिक जीमेल' पर स्विच करना होगा। जीमेल का हर महीने 140 करोड़ यूजरबेस  है। वहीं भारत समेत दुनिया भर में करीब 2 अरब से ज्‍यादा लोग एंड्रॉयड फोन यूज करते हैं। ज्‍यादातर एंड्रॉयड  स्‍मार्टफोन जी मेल के जरिए ही ऑपरेट होते हैं। ऐसे में अगर आप एंड्रॉयड फोन का यूज करते हैं तो भी जीमेल के इन नए फीचर्स के बारे में जानना जरूरी हो जाता है।  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट