Home » Industry » IT-TelecomHCL buy IBM software assets

IBM के सॉफ्टवेयर प्रोडक्ट खरीदेगी HCL, 12780 करोड़ में हुई डील

ये सौदा इंडियन आईटी सेक्टर का सबसे बड़ा अधिग्रहण होगा।

HCL buy IBM software assets

नई दिल्ली। भारतीय सॉफ्यवेयर कंपनी एचसीएल टेक्नोलॉजी अमेरिकी कंपनी आईबीएम (इंटरनेशनल बिजनेस मशीन कॉर्प) की सॉफ्टवेयर एसेट्स खरीदेगी। इस डील के तहत एचसीएल 12,780 करोड़ रुपए (1.8 अरब डॉलर) देगी। ये सौदा किसी भारतीय आईटी कंपनी का सबसे बड़ा अधिग्रहण होगा। ये अधिग्रहण अगले साल मई-जून 2019 तक पूरा होने की उम्मीद है।

 

 

एचसीएल को रेवेन्यू बढ़ाने में मिलेगी मदद

अगर ये एक्विजिशन हो जाता है तो यह किसी भी भारतीय आईटी कंपनी का अब तक का सबसे बड़ा एक्विजिशन होगा। रॉयटर्स की खबर के मुताबिक एचसीएल को इस एक्विजिशन से रिटेल, फाइनेंशियल सर्विस और ट्रांसपोर्टेशन को बेहतर करने में मदद मिलेगी। एचसीएल ने यह डील अपने से बड़ी कंपनी टीसीएस और इंफोसिस लिमिटेड के साथ बढ़ते कंपिटिशन के कारण की है। हालांकि, एक्सपर्ट का मानना है कि इस डील से कंपनी को कोई फायदा नहीं मिलने वाला।

 

 

एक्सपर्ट का मानना नहीं होगा फायदा

एक्सपर्ट का मानना है कि इस डील से एचसीएल को लंबे समय में बहुत अधिक फायदा नहीं मिलने वाला क्योंकि एसेट्स खरीदने से मिलने वाले फायदे की तुलना में दी जाने वाली कीमत बहुत ज्यादा है। एससीएल की आईबीएम के साथ पहले ही पार्टनरशिप चल रही है।

 

 

आईबीएम का फोकस अब कहीं और

अमेरिकी कंपनी आईबीएम पहले ही गिरती सॉफ्टवेयर सेल से परेशान है। इस डील से आईबीएम का अपना पुराना सॉफ्टवेयर प्रोडक्ट बिजनेस और कम हो जाएगा। आईबीएम कंपनी का फोकस अब क्लाउड कंप्यूटिंग पर है। आईबीएम ने बीते कुछ सालों में अपना फोकस प्रोडक्ट, सिक्योर डिवाइस मैनेजमेंट प्रोडक्ट बिग फिक्स, मार्केटिंग ऑटोमेशन सॉफ्टवेयर यूनिका और वर्कस्ट्रीम प्रोडक्ट कनेक्शन पर बढ़ाया है।

 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट