बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-Telecomयहां मिल रही है मोबाइल से दोगुनी इंटरनेट स्‍पीड, पूरे घर में आएगा काम

यहां मिल रही है मोबाइल से दोगुनी इंटरनेट स्‍पीड, पूरे घर में आएगा काम

मोबाइल में 4जी सर्विस होने के बाद भी स्‍लो इंटरनेट स्‍पीड की शिकायत आम है।

1 of
नई दिल्‍ली. मोबाइल में 4जी सर्विस होने के बाद भी स्‍लो इंटरनेट स्‍पीड की शिकायत आम है। यानी, मोबाइल कंज्‍यूमर की अक्‍सर यह शिकायत रहती है कि नेट स्‍पीड धीमी है। इंटरनेट स्‍पीड समझने का सीधा तरीका है उसकी डाउनलोड स्‍पीड। यदि आप अलग-अलग मोबाइल ऑपरेटर्स के कंज्‍यूमर हैं तो आपके मोबाइल पर इंटरनेट स्‍पीड भी अलग-अलग होगी। यानी, यदि आपके पास जियो, वोडाफोन, एयरटेल और आइडिया आदि कंपनियों का कनेक्‍शन है तो उसकी स्‍पीड अलग-अलग होगी।
 
भारत में मोबाइल की स्‍लो इंटरनेट स्‍पीड की बात ग्‍लोबल इंटरनेट स्‍पीडटेस्‍ट और एनॉलिसिस करने वाली कंपनी ओकला ने भी माना है। नवंबर इंडेक्‍स के अनुसार, एवरेज मोबाइल डाउनलोड इंटरनेट स्‍पीड में भारत की109वें नंबर पर है और एवरेज स्‍पीड 8.80 एमबीपीएस है। जबकि, नार्वे में एवरेज डाउनलोड इंटरनेट स्‍पीड 62.66 एमबीपीएस है। यानी भारत से 7 गुना से भी ज्‍यादा। ओकला के रिपोर्ट के आधार पर देखें तो कंज्‍यूमर की मोबाइल की स्‍लो इंटरनेट स्‍पीड की शिकायत उचित है।
 
 

क्‍या है विकल्‍प?

मोबाइल इंटरनेट डाउनलोड स्‍पीड भले ही धीमी है लेकिन यदि आप फिक्‍स्‍ड ब्राडबैंड सर्विस लेते हैं तो उसकी एवरेज डाउनलोड स्‍पीड आपको मोबाइल से दोगुनी मिल सकती है। ओकला की रिपोर्ट के अनुसार, भारत में फिक्‍स्‍ड ब्राडबैंड डाउनलोड स्‍पीड 18.82 एमबीपीएस है। यानी एवरेज मोबाइल इंटरनेट स्‍पीड से दोगुने से भी जयादा। ओकला के स्‍पीडटेस्‍ट के आंकड़ों के आधार पर देखें तो फास्‍ट इंटरनेट के लिए फिक्‍स्‍ड ब्राडबैंड इंटरनेट सर्विस का एक बेहतर विकल्‍प हो सकता है।
 
फिक्‍स्‍ड ब्राडबैंड सर्विस के साथ खास बात यह है कि इससे फैमिली में कई सदस्‍य जुड़ सकते हैं यानी इसका यूजर अलग-अलग डिवाइस पर कर सकते हैं। लेकिन इसकी एक खामी यह है कि यह आपके साथ हर जगह नहीं जा सकता। यह फिक्‍स्‍ड होता है। जबकि मोबाइल के जरिए आप कहीं भी इंटरनेट सर्विस का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।
 
आगे पढ़ें... 4जी स्‍पीड में जियो का रिकॉड 
 

स्‍पीड में रिलायंस जियो का है रिकॉर्ड

देश में 4जी मोबाइल इंटरनेट सर्विस की बात जाए तो रिलायंस जियो में काफी तेजी से अपनी जगह बनाई है। रिलायंस जियो ने स्‍पीड के मामले में भी दूसरी कंपनियों को पीछे छोड़ दिया। टेलिकॉम रेग्‍युलेटर ट्राई के आंकड़ों के अनुसार, सितंबर में रिलायंस जियो की डाउनलोड स्‍पीड 21.9 मेबाबिट पर सेकंड दर्ज की गई, जो एक रिकॉर्ड है। स्‍पीड के मामले में जियो की नजदीकी कॉम्पिटीटर वोडाफोन रही, जिसकी सितंबर में इंटरनेट स्‍पीड 8.7 एमबीपीएस रही। यानी जियो की स्‍पीड अपने नजदीकी कॉम्पिटीटर से 2.5 गुना ज्‍यादा रही। आइडिया नेवटर्क पर डाउनलोड स्‍पीड इस दौरान 8.6 एमबीपीएस और भारती एयरटेल की 7.5 एमबीपीएस रही।

 

11 महीने में 15 फीसदी बढ़ी स्‍पीड

ओकला की रिपोर्ट के अनुसार, 2017 की शुरुआत में भारत में एवरेज मोबाइल डाउनलोड स्‍पीड 7.65 Mbps थी। नवंबर तक यह स्‍पीड बढ़कर 8.80 Mbps हो गई। इस तरह एक साल में एवरेज मोबाइल डाउनलोड स्‍पीड15 फीसदी बढ़ी है।

 

फिक्‍स्‍ड फोन की स्‍पीड 50 फीसदी बढ़ी

ओकला की रिपोर्ट के अनुसार, एवरेज मोबाइल डाउनलोड स्‍पीड जहां एक साल में काफी धीमी रफ्तार से बढ़ी हैं। वहीं, एवरेज फिक्‍स्‍ड ब्राडबैंड डाउनलोड स्‍पीड एक साल के दौरान 50 फीसदी उछली है। जनवरी की शुरुआत में एवरेज फिक्‍स्‍ड ब्राडबैंड डाउनलोड स्‍पीड 12.12 एमबीपीएस थी, जो नवंबर में बढ़कर 18.82 एमबीपीएस हो गई।

 

आगे पढ़ें... भारत में बढ़ रही है इंटरनेट स्‍पीड

 

 

भारत में तेज हो रही है इंटरनेट स्‍पीड

स्‍पीडटेस्‍ट ग्‍लोबल इंडेक्‍स पर ओकला के को-फाउंडर और जनरल मैनेजर डौग सुटल्‍स कहते हैं, भारत में मोबाइल और फिक्‍स्‍ड ब्राडबैंड इंटरनेट स्‍पीड फास्‍ट हो रही है। यह भारतीय कंज्‍यूमर्स के लिए अच्‍छी खबर है। हालांकि, अभी भी भारत को टॉप स्‍पीड के मामले में दुनिया के शीर्ष देशों की बराबरी करने में लंबा सफर तय करना होगा। बावजूद इसके ओकला भारतीय मार्केट में ग्रोथ की क्षमता को लेकर आशान्वित है। आने वाले समय में मार्केट के तेजी से बढ़ने की उम्‍मीद है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट