Home » Industry » IT-TelecomChinese phone market in india

भारतीयों ने चीनी मोबाइल ब्रांड पर एक साल में लुटाए 50 हजार करोड़ रुपए

पिछले साल के मुकाबले किया दोगुना खर्च

1 of

नई दिल्ली. देश में इन दिनों दिवाली के मौके पर जहां एक तरफ चीनी लाइट न खरीदने को लेकर सोशल मीडिया पर कैंपेन चलाया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ भारतीयों का चीनी स्मार्टफोन को लेकर क्रेज देखा जा रहा है। चीनी मोबाइल ब्रांड शाओमी, ओप्पो, वीवो, लेनोवो, वन प्लस और हॉनर की जोरदार बिक्री देखने को मिली है। रजिस्ट्रार ऑफ कंपनी (आरओसी) के मुताबिक भारतीयों ने चार चीनी मोबाइल ब्रांड पर वित्त वर्ष 2018 में 50 हजार से ज्यादा रुपए खर्च कर दिए, जो कि पिछले वर्ष के मुकाबले में दोगुना है। बता दें कि वित्त वर्ष 2017 में इन चार कंपनियों का रेवेन्यू 26,262 रुपए था।

 

महंगे मोबाइल मार्केट में One plus का दबदबा

आरओसी की रिपोर्ट के मुताबिक भारत केे आधे से ज्यादा मोबाइल मार्केट पर चीनी मोबाइल ब्रांड का कब्जा है। चीनी चार मुख्य मोबाइल कंपनियों के अलाव लेेनेवो, मोटो, वन प्लस और Infinix ने भारत में काफी अच्छा कारोबार किया है। भारत में  चीनी मोबाइल की बिक्री की एक वजह उनका हाई स्पेसिफिकेशन और कम दाम है। हालांकि 30,000 की कीमत से ज्यादा के स्मार्टफोन मार्केट में भी चीनी कंपनी One Plus का दबदबा है।

 

कमाई के साथ निवेश में आगे चीनी मोबाइल कंपनियां

चीनी कंपनियां भारत से कमाई के साथ ही निवेश में भी आगे हैं। शाओमी ने भारत में 15,000 करोड़ रुपए निवेश करने का ऐलान किया है। जबकि ओप्पो उत्तर प्रदेश में दो नई मैन्युफैक्चरिंग यूनिल लगाने जा रहा है। वहीं वीवो अपने प्लांट में 5000 भारतीयों को नौकरी देगा।

 

आगे पढ़ें

चीनी कंपनियों का वित्त वर्ष 2018 में रेवेन्यू

 

कंपनी वित्त वर्ष 2018 रेवेन्यू (रुपए में) वित्त वर्ष 2017 रेवेन्यू (रुपए में)
शाओमी 22,947 करोड़  8334.4 करोड़
ओप्पो  11, 994.3 करोड़  8,050.8 करोड़ 
वीवो 11,179.3 करोड़  6292.9 करोड़ 
हुवाई 5601.3 करोड़ 3584.2 करोड़ 

 

आगे पढ़ें

सैमसंग और एप्पल का अच्छा कारोबार

चीनी कंपनियों के अलावा कोरियाई कंपनी Samsung और अमेरिकी कंपनी एप्पल ने भारत के मोबाइल मार्केट में अच्छा कारोबार किया है। सैमसंग ने पिछले वित्त वर्ष 2017 में 34,261 करोड़ रुपए के स्मार्टफोन बेेचे थे, जबकि एप्पल ने भारत में वित्त वर्ष 2018 में 13,097 करोड़ रुपए का कारोबार किया।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट