Home » Industry » IT-TelecomOnline gaming industry booming in India

धोनी-विराट के साथ खेल सकते हैं क्रिकेट, तो सायना के साथ बैडमिंटन

भारत में ऑनलाइन गेमिंग का कारोबार 6,290 करोड़ रुपए के पार

1 of

नई दिल्ली.

मैदान में खेलेे जाने वाले खेल का मजा घर पर लिया जा रहा है। मैदान पर आपने जिन खिलाड़ियों को खेलते देखा है आप उनके साथ खेल भी सकते हैं। उन्हें अपनी टीम में शामिल कर सकते हैं और उनके साथ बैटिंग-बॉलिंग कर सकते हैं। अपनी इच्छा के मुताबिक विराट कोहली, महेंद्र सिंह धोनी जैसे खिलाड़ियों को टीम में शामिल कर सकते है। वैसे ही, बैडमिंटन के शौकीन सायना नेहवाल जैसी स्टार खिलाडी के साथ खेल सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपको कुछ राशि का भुगतान करना होगा। जी हां, हम बात कर रहे है ऑनलाइन गेमिंग की जिसका कारोबार भारत में तेजी से बढ़ता जा रहा है। अभी यह कारोबार 89 करोड़ डालर के पार चला गया है।

 

देश में 250 ऑनलाइन गेमिंग कंपनियां 

मोबाइल वीडियो विज्ञापन प्लेटफॉर्म पीओकेकेटी के मुताबिक मोबाइल गेमिंग के क्षेत्र में भारत शीर्ष पांच देशों में शामिल है। स्मार्टफोन का इस्तेमाल बढ़ने और तेजी से डिजिटलीकरण होने के चलते देश में ऑनलाइन गेमिंग बाजार काफी तेजी से बढ़ रहा है। वर्ष 2010 में इस क्षेत्र में सिर्फ 25 कंपनियां थीं, जिनकी संख्या अब 250 से भी ज्यादा हो गई है। हर हफ्ते दो नए स्टार्टअप खुल रहे हैं।

 

कई देशों में भारतीय गेमिंग कपंनियाें की धूम

देश की कई कंपनियों के गेम्स को दुनियाभर में खेला जाता है। मुंबई की नजारा टेक्नोलॉजी (Nazara Technologies) कंपनी 61 देशों में कारोबार कर रही है। छोटा भीम रश मुंबई लोकल, स्पीड रेसिंग, विराट स्टार क्रिकेट, मोटू पतलू रन जैसे इस कंपनी के कई गेम्स काफी लोकप्रिय हैं। कंपनी के एक करोड़ मंथली एक्टिव यूजर्स हैं। ड्रीम11 (Dream 11) कंपनी फुटबॉल, क्रिकेट, कबड्‌डी और बास्केटबॉल जैसे स्पोर्ट्स का ऑनलाइन वर्जन उपलब्ध कराती है। Octro, Inc कंपनी के ती पत्ती और रमी गेम्स काफी लोकप्रिय हैं। इनके अलावा Loco, Passion gaming, Play Simple, Red monster games जैसी कई कंपनियां इस क्षेत्र में अपना नाम बना रही हैं।

 

आगे भी पढ़ें-

 

 

शीर्ष पर भारत

 

ग्लोबल आउटसोर्सिंग फर्म थॉलॉन्स के मुताबिक 2017 में डिजिटल देशों में सूची में भारत शीर्ष पर रहा। देश में 22.2 करोड़ से ज्यादा एक्टिव यूजर्स ने मोबाइल गेम खेलने पर रोजाना तकरीबन 42 मिनट बिताए। एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक 2017 में भारतीयों ने मोबाइल और टैबलेट में 12.1 अरब ऐप डाउनलोड किए। पिछले साल लूडो किंग देश का टॉप ऑनलाइन गेम रहा। इसपर रोजाना एक करोड़ से अधिक यूजर्स एक्टिव रहे।

 

 

आगे भी पढ़ें-

 

 

2021 तक 70 अरब रुपए का हो जाएगा ऑनलाइन गेमिंग मार्केट

 

गूगल-केपीएमजी की रिपोर्ट के मुताबिक 2021 तक देश का ऑनलाइन गेमिंग मार्केट 70 अरब रुपए से भी ज्यादा का हाे जाएगा। हालांकि अभी लोग ऑनलाइन गेमिंग में पैसे खर्च नहीं करते हैं इसलिए इन गेमिंग कंपनियों को राजस्व जुटाने के लिए विज्ञापनों का सहारा लेना पड़ता है। ऐसे में उम्मीद है कि 2020 तक डिजिटल विज्ञापन कारोबार 13.42 लाख कराेड़ रुपए का हो जाएगा।

 

 

 

 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट