विज्ञापन
Home » Industry » IT-TelecomThis government company does not have two months to pay salaries to employees

इस सरकारी कंपनी के पास दो महीने से नहीं है कर्मचारियों को सैलरी देने के पैसे,  सरकार  देगी 13 हजार करोड़ का बेलआउट पैकेज 

कभी सरकार के नवरत्नों में शामिल BSNL की हालात खस्ता, मोबाइल सेवाओं पर पड़ सकता है असर 

This government company does not have two months to pay salaries to employees

अपने इतिहास में पहली बार इतने जबरदस्त आर्थिक संकट से जूझ रही भारत सरकार की नवरत्न कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) को 13 हजार करोड़ रुपए का बेलआउट पैकेज मिल सकता है।

नई दिल्ली. अपने इतिहास में पहली बार इतने जबरदस्त आर्थिक संकट से जूझ रही भारत सरकार की नवरत्न कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) को 13 हजार करोड़ रुपए का बेलआउट पैकेज मिल सकता है। सरकार का दूरसंचार विभाग (DOT) इस पर विचार कर रहा है। इससे न केवल बीएसएनएल को अपने कर्मचारियों को वेतन देने में सहुलियत होगी बल्कि ऑपरेटिंग खर्च कम करने व 4G टेक्नालॉजी में निवेश करने के लिए भी पूंजी मिल सकती है। बीएसएनएल में हालात इस कदर खराब हो गए हैं कि इसके कर्मचारियों को दो महीने से वेतन नहीं मिला है। 

स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति से कम की जाएगी लागत 

सरकारी सूत्रों के अनुसार बीएसएनएल को बैलआउट पैकेज देने वाले प्रस्ताव में 6,365 करोड़ रुपये का स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ( Voluntary retirement)पैकेज दिया जाएगा। इससे BSNL का ऑपरेटिंग खर्च कम होगा। जबकि बाकी रकम को 4 जी स्पेक्ट्रम के आवंटन के लिए  6767 करोड़ रुपए की इक्विटी दी जाएगी। 

7 हजार रुपए का हुआ है घाटा 

बीएसएलन को इस वित्त वर्ष में 7 हजार रुपए का घाटा हुआ है। मंत्रालय इस पर भी विचार कर रहा है कि कैसे देश भर में फैली बीएसएनएल की संपत्तियों का उपयोग किया जाए? इसमें 4 हजार करोड़ रुपए ऑपरेटिंग खर्च का भी घाटा शामिल है। वहीं इस बैलआउट पैकेज में बीएसएनएल के साथ एमटीएनएल भी शामिल होगी। डिजीटल कम्यूनिकेशन कमीशन ने इसकी मंजूरी दे दी है। 

BSNL कर्मचारियों पर खर्च करती है 1200 करोड़ रुपए 

BSNL के कर्मचारियों पर कंपनी हर महीने 1200 करोड़ रुपये खर्च करती है. यह कंपनी की कुल आमदनी का 55 फीसदी हिस्सा होता है। वहीं हर साल इस बजट में 8 फीसदी की बढ़ोत्तरी भी होती है। आसान भाषा में समझें तो वेतन पर बीएसएनएल का खर्च लगातार बढ़ता जा रहा है जबकि आमदनी लगातार गिर रही है। बता दें कि देशभर में BSNL के कर्मचारियों की संख्या 1.76 लाख है और एमटीएनएल के कर्मचारियों की संख्या 22,000 के करीब है। एक अनुमान के मुताबिक अगले 5 से 6 साल में एमटीएनएल के 16,000 और बीएसएनएल के 50 प्रतिशत कर्मचारी रिटायर हो जाएंगे। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन