विज्ञापन
Home » Industry » IT-TelecomNamo Tv launched

सरकार को पीएम मोदी के कार्यक्रम से जुड़े नमो टीवी के मालिक का पता नहीं, फिर भी जारी कर दिया प्रसारण

चुनाव आयोग की सख्ती भाजपा को पड़ सकती है महंगी

Namo Tv launched

Namo Tv launched: चुनाव आयोग ने इन्फॉर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग मंत्रालय को पत्र लिख कर चुनाव से कुछ दिन पहले लांच हुए नमो टीवी चैनल को लेककर जवाब मांगा है | चुनाव आयोग ने दूरदर्शन को एक अलग पत्र लिख कर ये भी पूछा है कि दूरदर्शन 31 मार्च को प्रधानमंत्री मोदी के घंटे भर चले कार्यक्रम "मैं भी चौकीदार" को कैसे चला सकता है ?

नई दिल्ली. चुनाव आयोग ने इन्फॉर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग मंत्रालय को पत्र लिख कर चुनाव से कुछ दिन पहले लांच हुए नमो टीवी चैनल को लेककर जवाब मांगा है | चुनाव आयोग ने दूरदर्शन को एक अलग पत्र लिख कर ये भी पूछा है कि दूरदर्शन 31 मार्च को प्रधानमंत्री मोदी के घंटे भर चले कार्यक्रम "मैं भी चौकीदार" को कैसे चला सकता है ? वो भी चुनाव से कुछ समय पहले | जबकि आचार संहिता लागू हो चुकी है | 

 

नमो टीवी के स्वामित्व का पता नहीं 

भाजपा के सोशल मीडिया हैंडल्स से लोगों को पी.एम मोदी की रैलियों और भाषणों के लिए नमो टीवी को देखने और नमो एप के इस्तेमाल के लिए ट्वीट किया जा रहा है | भाजपा से जुड़े लगभग सभी कार्यक्रमों को नामो टीवी पर चलाया जा रहा है जबकि इसका स्वामित्व किसके पास है ये भी साफ़ नहीं है। ऐसे में चुनाव आयोग ने सूचना प्रसारण मंत्रालय से पूछा है कि आखिर नमो टीवी को आचार संहिता लागू होने के बाद कैसे प्रसारित होने दिया गया। 

 

नमो टीवी कोई चैनल नहीं

जानकारों के मुताबिक ये माना जा रहा है सरकार चुनाव आयोग को ये बता सकती है कि नमो टीवी लाइसेंस प्राप्त चैनल नहीं है लेकिन सर्विस प्रोवाइडर के द्वारा ये मात्र एक विज्ञापन दिखाने का प्लेटफॉर्म भर है और वो इसका खर्च अपने सालाना ऑडिट रिपोर्ट में चुनाव आयोग को दिखाएगी।

 

भाजपा को फायदा पहुंचाने के इरादे से दिया गया लाइसेंस 

चुनाव आयोग को की गयी शिकायत में आम आदमी पार्टी पार्टी ने ये इस बात पर खेद जताते हुए हुई शिकायत की है कि कैसे आचार संहिता लागू होने के बाद भी किसी राजनैतिक दल को उसके खुद के टीवी चैनल को लांच करने की आज्ञा दी गयी | आप पार्टी ने ये भी कहा है कि इससे चैनल लाने पार्टी को फायदा पहुंचाया होगा जिससे अन्य दलों को समान अवसर नहीं मिलेगा |

 

कांग्रेस ने नियमों के उल्लंघन का लगाया आरोप 

कांग्रेस ने अपनी शिकायत में ये भी कहा है कि नमो टीवी जो सभी डी.टी.एच. प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है , उसका आई.बी. मंत्रालय के द्वारा लाइसेंस दिए गए प्राइवेट सेटेलाइट टी.वी. चैनलों की लिस्ट में कहीं भी कोई ज़िक्र नहीं है | कांग्रेस पार्टी ने ये भी आरोप लगाया है कि नमो टीवी केबल टीवी प्रसारण के  नियम 7 (3) का उल्लंघन भी कर  रहा है, जो धार्मिक और राजनैतिक प्रचार पर रोक लगाता है | कांग्रेस ने चुनाव आयोग का ध्यान दूरदर्शन के द्वारा चलाए गए। प्रधानमंत्री के 1.24 घण्टे के कार्यक्रम "मैं भी चौकीदार " पर भी खींचा है। जिसका प्रसारण उसके यूट्यूब चैनल पर भी किया गया और साथ ही उसके अन्य सोशल मीडिया हैंडल्स पर उसका प्रचार किया गया था।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन