विज्ञापन
Home » Industry » IT-TelecomCentre wants to shut BSNL, MTNL to help ‘friends’: Congress

BSNL के समर्थन में उतरी कांग्रेस, केंद्र पर लगाया बड़ा आरोप, कहा- केवल उद्योगपति मित्रों की मदद की जा रही है

कंपनी के 54 हजार कर्मचारियों की जा सकती है नौकरी

1 of

नई दिल्ली। कांग्रेस ने केन्द्र पर सरकारी कंपनियों को बंद करने की साजिश का आरोप लगाया है। दूरसंचार क्षेत्र की सरकारी कंपनी बीएसएनएल (BSNL) और एमटीएनएल का समर्थन करते हुए कांग्रेस ने कहा कि यह पूरा खेल निजी क्षेत्र की दूरसंचार कंपनियों को फायदा पहुंचाने के लिए किया जा रहा है। यही वजह है कि बीएसएनएल और एमटीएनएल को न तो लोन लेने की अनुमति दी जा रही है ना ही उसे वित्तीय मदद ही दी जा रही है।

प्रधानमंत्री सिर्फ उद्योगपति मित्रों को मदद पहुंचाने का काम कर रहे हैं

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि प्रधानमंत्री इसके जरिए अपने उद्योगपति मित्रों को मदद पहुंचाने का काम कर रहे हैं। दूरसंचार के क्षेत्र में वैसे भी बीएसएनएल और एमटीएनएल के बंद होने के बाद सिर्फ निजी क्षेत्र की तीन कंपिनयां ही मैदान में रहेंगी।

यह भी पढ़ें : Loksabha चुनाव के बाद इस सरकारी कंपनी के 54 हजार कर्मचारियों की जा सकती है नौकरी 

 

बीएसएनएल के कर्मचारियों को समय पर वेतन नहीं दिया जा रहा

 

उन्होंने कहा कि स्थिति यह है कि यदि 6 अप्रैल तक ट्राई के पास 11 हजार करोड़ रुपए जमा नहीं कराए तो उसका लाइसेंस निरस्त हो जाएगा। ऐसे में एमटीएनएल के करीब 7.7 लाख ब्राडबैंड उपभोक्ताओं की सेवाएं ठप हो सकती है। बीएसएनएल और एमटीएनएल के कर्मचारियों के भविष्य का मुद्दा उठाते हुए सुरजेवाला ने कहा कि बीएसएनएल के कर्मचारियों को समय पर वेतन नहीं दिया जा रहा। इसके साथ ही उन्होंनेे इन्हें 4G स्पेक्ट्रम न देने की भी मुद्दे को उठाया है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss