Advertisement
Home » Industry » IT-TelecomBusiness Opportunity: Become Tringer IVR dealer, earn upto 2 lakh per month

कंपनी दे रही है डीलरशिप लेने का मौका, प्रतिमाह 2 लाख रुपए तक कर सकते हैं कमाई

नहीं देनी होगी कोई गारंटी या सिक्योरिटी डिपॉजिट

Business Opportunity: Become Tringer IVR dealer, earn upto 2 lakh per month

नई दिल्ली.

अगर आप बिजनेस करना चाहते हैं तो आपके लिए अच्छा मौका है। आप पुणे की एक कंपनी की डीलरशिप लेकर महीने में आसानी से दो लाख रुपए तक कमा सकते हैं। Tringer नाम की यह कंपनी IVR (Interactive Voice Response System) बनाती है। यह वही सिस्टम होता है जिसके जरिए किसी कंपनी में फोन करने पर आपको कंप्यूटर जनरेटिड वॉयस के कहे अनुसार अपने विकल्प चुनने पड़ते हैं। पुणे के सॉफ्टवेयर इंजीनियर स्वपनिल भोसले ने इस प्रोडक्ट को डिजायन किया है। अब उनकी कंपनी इस प्रोडक्ट की डीलरशिप दे रही है।

 

60 हजार रु लगाकर कमा सकते हैं 1 लाख तक

डीलरशिप लेने के लिए आपको साठ हजार रुपए लगाने होंगे। इस पैसे के बदले आपको कंपनी के 10 IVR प्रोडक्ट मिलेंगे। हालांकी इन प्रोडक्ट का रिटेल प्राइस 10,250 रुपए है, लेकिन डीलर्स को यह सिर्फ 6000 रुपए में मिलेगा। इन प्रोडक्ट्स को आप छोटे व्यापारियों और छोटी इंटरप्राइजेज को Mrp पर बेचकर हर प्रोडक्ट पर 4000 रुपए तक का मुनाफा पा सकते हैं। अगर आपने सभी दस प्रोडक्ट बेचे तो आप पहले ही महीने में एक लाख रुपए कमा सकते हैं, जिसमें से 40 हजार आपका मुनाफा होगा। वहीं अगर आप हर महीने 20 प्रोडक्ट बेच लेते हैं तो कुल दो लाख रुपए की कमाई होगी, जिसमें 80 हजार आपका मुनाफा होगा।

 

इन्हें मिलेगी डीलरशिप

डीलरशिप के लिए वे लोग आवेदन कर सकते हैं जो पहले से बिजनेस कर रहे हैं। आवेदनकर्ता के पास 200 sq ft का ऑफिस होना चाहिए। कंपनी के सीईओ और फाउंडर स्वपनिल ने बताया कि कंपनी अपने सभी डीलर्स को प्रोडक्ट बेचने में मदद करेगी। एक साल तक मार्केटिंग सपोर्ट से लेकर स्ट्रैटजी बनाने में सहयोग किया जाएगा। इतना ही नहीं अगर डीलर्स शुरुआती साल में सभी प्रोडक्ट्स नहीं बेच पाते हैं तो कंपनी आधे प्रोडक्ट वापस ले लेगी। कंपनी का कॉर्पोरेट कार्यालय जामनगर, गुजरात में है और मैन्युफैक्चरिंग यूनिट पुणे में स्थित है।

 

क्या है IVR Tringer

यह एक छोटी सी मशीन है जो किसी छोटी इंटरप्राइज को भी काफी प्रभावी बना सकती है। स्वपनिल ने बताया कि आमतौर पर ivr सिस्टम लगाने के लिए 40 से 50 हजार रुपए तक खर्च करने पड़ते हैं। इतना महंगा होने के कारण छोटे व्यापारी और इंटरप्राइज इनका इस्तेमाल नहीं कर पाते हैं। ऐसे में स्वपनिल और उनकी टीम (अरुणा भुसारी, प्रवीण भुसारी और पीयूष राठौड़) ने मिलकर यह किफायती और अासानी से इस्तेमाल होने वाला ivr सिस्टम बनाया जिसे सिर्फ दस मिनट में set-up किया जा सकता है।

 

कैसे काम करता है Tringer IVR

इसमें एक सिम कार्ड, मेमोरी कार्ड, एंटीना, अडैप्टर और aux cable लगाना होता है। इसके साथ ही Tringer ऐप को भी डाउनलोड करके उसमें अपना नंबर एंटर करके सेटिंग्स करना पड़ती है। इसके बाद यूजर इस सिस्टम में अपने हिसाब से अलग-अलग विकल्प सेट कर सकता है, जो कॉल करने वाले लोगों को सुनाई देंगे। इसके बाद कंपनी को कॉल करने वाले ग्राहक अपनी सहूलियत के मुताबिक उस विकल्प को चुनने के लिए एक नंबर डायल करेंगे, जिससे उनकी रिक्वेस्ट पूरी होगी। स्वपनिल के मुताबिक ivr सिस्टम की मदद से छोटे व्यापारी भी बड़ी कंपनियों जैसी रेप्युटेशन बना सकेंगे। सबसे अच्छी बात इसमें यह है कि लोग इसमें अपनी खुद की आवाज भी रिकॉर्ड कर सकते हैं, जो कॉल करने वाले लोगों को सुनाई देगी। इससे व्यापारी व्यस्त होने के बाद भी लोगों से जुड़ सकेंगे। इसमें लगे 16 जीबी के मेमोरी कार्ड में इस सिस्टम पर आने वाले कॉल्स की रिकॉर्डिंग सेव हो जाएगी। इसमें तीन साल तक कॉल्स रिकॉर्ड हो सकेंगे। अगर कोई कंपनी या इंटरप्राइज अपने लिए एक Tringer IVR ऑर्डर करना चाहती है या आप डीलरशिप लेना चाहते हैं तो कंपनी की वेबसाइट www.tringer.in और फेसबुक पेज पर विजिट कर सकते हैं। 

 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement
Don't Miss