बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-TelecomTech in gadgets: एप डाउनलोडिंग में नहीं करें ये गलती, हो सकता है लाखों का नुकसान

Tech in gadgets: एप डाउनलोडिंग में नहीं करें ये गलती, हो सकता है लाखों का नुकसान

स्‍मार्टफोन में बढ़ते साइबर हमलों को देखते हुए जरूरी हो गया है कि आप एप डाउनलोडिंग में सावधानियां बरतें...

1 of

नई दिल्‍ली। आप अपने स्‍मार्टफोन पर जब भी कोई एप डाउनलोड करते हैं तो कितनी सावधानी बरतते हैं। शायद आप कहें कि सावधानी बरतने की जरूरत क्‍या है? हालांकि टेक एक्‍सपर्ट मानते हैं कि स्‍मार्टफोन को हैक होने और साइबर हमले से बचाने की यह बुनियादी बात है। मौजूदा समय में स्‍मार्टफोन में बढ़ते साइबर हमलों को देखते हुए जरूरी हो गया है कि आप एप डाउनलोडिंग में सावधानियां बरतें। नहीं तो आपको पता चले बिना ही कोई आपका फोन हैक कर लेगा और आप बड़ी फाइनेंशियल मुसीबत में पड़ जाएंगे। 

 

बढ़ता मोबाइल इंटरनेट मतलब खतरा भी बढ़ेगा 
ग्‍लोबल डाटा की ओर जारी 'रीटेल बैंकिंग इन साइट सर्वे' के मुताबिक, भारत में मोबाइल बैंकिंग यूज करने का रेश्‍यो सबसे ज्‍यादा है। देश में ऑनलाइन बैंकिंग करने वाली कुल आबादी में से करीब 60 फीसदी लोग मोबाइल बैंकिंग का इस्‍तेमाल कर रहे हैं। 2016 से 2018 तक का डाटा देखें तो इसमें लगातार ग्रोथ देखी जा रही है। मोबाइल वॉलेट के बढ़ते यूज ने भी देश में मोबाइल बैंकिंग को तेजी के साथ पॉपुलर किया है। साइबर एक्‍सपर्ट पवन दुग्‍गल के मुता‍बिक, बढ़ती मोबाइल बैंकिंग हमारे लिए नई तरह की मुसीबत लेकर आ रही है। इसका सीधा सा मतलब है कि साइबर अटैकर अब आपके मोबाइल को ज्‍यादा निशाना बनाएंगे। एक छोटी सी चूक आपको लाखों का नुकासान पहुंचा सकती है। 

 

एप डाउनलोड करते समय बरतें सावधानी 
बड़ा सवाल है कि आखिर अपने स्‍मार्टफोन को कैसे सुक्षित रखा जाए। दुग्‍गल के मुताबिक, साइबर हमलावरों से इससे बचने का बेसिक तरीका है कि आप ऐप डाउनलोडिंग में सावधानी बरतें। कभी भी थर्ड पार्टी स्‍टोर या SMS के जरिए भेजे गए लिंक से एप डाउनलोड नहीं करें। आप एंड्रॉयड फोन यूज करते हैं तो गूगल प्‍लेस्‍टोर से और आईफोन यूज करते हैं तो एप स्‍टोर से ही एप डाउनलोड करें। एप डाउनलोड करने पहले उसका रिव्‍यू जरूर पढ़ें। गेमिंग से जुड़े एप को डाउनलोड नहीं करें तो ज्‍यादा बेहतर होगा। पोर्न साइट खोलने से बचें। लुभाने वाली फोटो के नोटिफिकेशन पर कभी भी क्लिक नहीं करें। गेमिंग ऐप डाउनलोड भी करें तो उसे अपने स्‍मार्टफोन के भीतर बेवजह एसेस देने से बचें। कोई भी एप, जिसका यूज नहीं करते उसे तुरंत अनइंस्‍टॉल करें।  

 

आपको पता ही नहीं चलेगा और स्‍मार्टफोन हैक 
दुग्‍गल के मुताबिक, हैकर अब आपके फोन को सीधा नहीं निशाना बनाते हैं। अब ऐसे मालवेयर आ गए हैं तो सिस्‍टम के बैंक ग्राउंड में काम करते हैं। आपको इसका पता भी नहीं चल पाता। यह आपके स्‍मार्टफोन में इन्‍स्‍टॉल बैंकिंग ऐप को तलाशता है। इसके बाद यह मालवेयर आपको आपके बैंकिंग ऐप से मिलता जुलता नोटिफिकेशन भेजता है। नोटिफिकेशन खोलते ही यह मालवेयर आपकी बैकिंग डीटेल हैकर तक भेजने लगता है। कई बार आपका OTP तक हैकर के पास भेजने की क्षमता यह मालवेयर रखता है।  

 

कई बैंकिंग एप हो चुके हैं हैकिंग का शिकार 
इसी साल जनवरी में भारत समेत दुनिया भर के 200 से ज्‍यादा मोबाइल बैंकिंग ऐप पर साइबर हमला हुआ था। इस मालवेयर का नाम AndroidडाटbankerडॉटA9480 था। भारत में इस मालवेयर की जद में जो बैंकिंग एप आए थे, उनमें आईसीआईसीआई, एक्सिस, एचडीएफसी बैंक, एसबीआई और यूनियन बैंक शामिल थे। इसने ब्‍लॉक चेन आधारित कई क्रिप्‍टोकरंसी को भी प्रभावित किया था। 

 

खास एंटीवायर रखें साथ 
दुग्‍गल के मुताबिक, इससे बचने का तरीका यही है कि आप अच्‍छा एंटीवायरस अपने मोबाइल में रखें। किसी खास ऐप के साथ मुफ्त में मिलने वाला एंटीवायरस  सिर्फ उस ऐप की सुरक्षा करता है। इसलिए कम्‍प्‍टील एंटीवायरस इस्‍तेमाल करें। किसी भी ऐप के अपडेशन को इग्‍नोर नहीं करें। अपडेशन में एप की सिक्‍यूरिटी से जुड़े फीचर भी शामिल होते हैं।  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट