बिज़नेस न्यूज़ » Industry » IT-TelecomAirtel ने भरा 2.5 करोड़ का जुर्माना, eKYC लाइसेंस रद्द होने के बाद उठाया कदम

Airtel ने भरा 2.5 करोड़ का जुर्माना, eKYC लाइसेंस रद्द होने के बाद उठाया कदम

ई-केवाईसी लाइसेंस रद्द होने के बाद अब भारतीय एयरटेल को जुर्माना भी भरना पड़ा है।

1 of

नई दिल्‍ली. भारती एयरटेल मोबाइल सब्‍सक्राइबर्स की मर्जी के बिना पेमेंट बैंक अकाउंट खोलने के मामले को निबटाने के मूड में आ गई है। भारती एयरटेल ने आधार जारी करने वाली अथॉरिटी UIDAI को 2.5 करोड़ रुपए का अंतरिम जुर्माना भर दिया है। कंपनी को इसको लेकर ई-केवाईसी लाइसेंस रद्द होने की कार्रवाई का सामना करना पड़ा था। UIDAI ने पेमेंट बैंक में अकाउंट खोलने के अलावा एलपीजी सब्सिडी लेने के लिए इन्‍हें आधार से लिंक करवाने के लिए यह एक्‍शन लिया है। बता दें कि 31 लाख एयरटेल सब्‍सक्राइबर्स के अकाउंट में 190 करोड़ की एलपीजी सब्सिडी आ चुकी है।

 

कंपनी लौटाएगी ग्राहकों की सब्सिडी

कंपनी ने सोमवार को नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) को यह आश्‍वासन दिया था कि वह 31 लाख सब्‍सक्राइबर्स के पेमेंट बैंक अकाउंट में आई 190 करोड़ की एलपीजी सब्सिडी को डायरेक्‍ट बेनिफिट ट्रांसफर से लिंक उनके ओरिजनल खातों में अगले 24 घंटों में ट्रांसफर कर देगी। साथ ही एयरटेल ने यह भी कहा था कि वह उनके सब्सिडी लिंक्‍ड अकाउंट को फिर से उनके द्वारा पहले चुने गए अकाउंट में स्विच कर दिया जाएगा। पूरी प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद एयरटेल UIDAI को सूचित करेगी और उसके बाद अथॉरिटी इस मामले में उचित निर्णय लेगी।

 

एयरटेल के ऑडिट का भी दिया आदेश

एयरटेल और एयरटेल पेमेंट बैंक पर आरोप सिद्ध होने के बाद UIDAI ने पिछले हफ्ते कड़ा कदम उठाते हुए eKYC के जरिए एयरटेल द्वारा आधार बेस्‍ड सिम वेरिफिकेशन लाइसेंस को अस्‍थायी तौर पर रद्द कर दिया था। साथ ही पेमेंट बैंक क्‍लाइंट्स e-KYC को भी रोक दिया था। इसके अलावा UIDAI ने प्राइसवाटरहाउसकूपर्स को भारतीय एयरटेल और एयरटेल पेमेंट्स बैंक के का ऑडिट करने का भी आदेश दिया था, ताकि पता किया जा सके कि क्‍या वे आधार एक्‍ट के कानूनों का पालन कर रहे हैं या नहीं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट